मंगलवार, सितम्बर 29, 2020
होम क्रिकेट गौतम गंभीर के बाद अब सौरव गांगुली भी मदद के लिए आगे,...

गौतम गंभीर के बाद अब सौरव गांगुली भी मदद के लिए आगे, करेंगे 50 लाख रुपयों के चावल दान

पूर्व भारतीय कप्तान और वर्तमान बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली अब कोविड19 के खिलाफ छिड़ी इस लड़ाई में आगे आये हैं। वह लॉकडाउन से प्रभावित लोगों को 50 लाख रुपयों के चावल दान करेंगे। गौरतलब है कि कोविड-19 के प्रभाव को रोकने के लिए देश भर में 21 दिन का लॉकडाउन किया हुआ है।

बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के बयान में घोषणा की गयी है कि गांगुली उन जरूरतमंद लोगों को चावल मुहैया कराएंगे जिन्हें सुरक्षा कारणों से सरकारी स्कूलों में रखा गया है। कंपनी के बयान के अनुसार, ‘‘उम्मीद है कि गांगुली की इस पहल से राज्य के नागरिकों को हमारे राज्य के लोगों की सेवा करने के लिये इसी तरह के कदम उठाने की प्रेरणा मिलेगी।’’ 

इससे पहले पूर्व भारतीय क्रिकेटर और वर्तमान सांसद गौतम गंभीर ने भी कोविड-19 के खिलाफ जंग के लिए 50 लाख रुपयों की सहायता देने की पेशकश की थी। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने इस संदर्भ में ट्वीट करके एक सन्देश भी दिया है। उन्होंने लिखा है कि “बिना हथियार जंग नहीं जीती जाती। कोरोना के इलाज और उपकरणों में कोई कमी ना हो इसलिए मैं चाहता हूं कि अस्पताल को मेरे सांसद फंड से 50 लाख रुपए दिए जाएं। घर के अंदर रहें, सावधानी और सफाई रखें और सरकार का साथ दें।“

यह भी पढ़ें: गौतम गंभीर का सराहनीय कदम, कोरोनावायरस के खिलाफ जंग के लिए 50 लाख रुपए दान किये

दूसरी तरफ भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने भी कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई के लिए शानदार पहल की थी। उन्होंने अपने छह माह का वेतन इसके लिए दान दे दिया। बजरंग ने इस बारे में पीटीआई को बताया था कि,‘‘ओलंपिक से पहले हमें कोरोना वायरस से लड़ना होगा। यदि स्थिति में सुधार नहीं होता है और यह 2-3 महीने तक जारी रहता है तो ओलंपिक को स्थगित करना पूरी तरह से सही रहेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोरोना वायरस का कहर जारी रहता है तो बहुत सारे देश अपने खिलाड़ियों को नहीं भेजेंगे। पहले से ही कनाडा और आस्ट्रेलिया ने कहा है कि वे अपने खिलाड़ियों को नहीं भेजेंगे। ऐसे आयोजन का क्या फायदा। यह सिर्फ भारत की समस्या नहीं है, यह एक वैश्विक मुद्दा है, जिससे पहले निपटने की जरूरत है।’’

यह भी पढ़ें: पहलवान बजरंग पूनिया कोरोना से लड़ने के लिए छह महीने का वेतन करेंगे दान