बुधवार, सितम्बर 23, 2020
होम टेबल टेनिस भारतीय महिला और पुरुष टेबल टेनिस टीम को मिली हार, ओलंपिक की...

भारतीय महिला और पुरुष टेबल टेनिस टीम को मिली हार, ओलंपिक की राह हुई मुश्किल

पुर्तगाल में खेले जा रहे वर्ल्ड टीम क्वालिफिकेशन में भारतीय पुरुष और महिला टेबल टेनिस टीम क्रमशः स्लोवानिया और रोमानिया से प्री क्वार्टर फाइनल में हार गये। शुक्रवार को भारतीय महिला टीम इतिहास बनाने से चूक गई, जब उन्हें रोमानिया के हाथों रोमांचक टाई में 3-2 से हार झेलनी पड़ी। अगर भारतीय टीम रोमानिया पर जीत हासिल कर लेती तो वह ओलंपिक का टिकट हासिल कर लेती और पहली बार ऐसा करने में सफल हो पाती। हालांकि, अभी भी महिला टीम के ओलंपिक में जगह बनाने के सपने में पूर्ण विराम नहीं लगा है।

भले ही महिला टीम को कड़े मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा हो, लेकिन टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया। इस टाई का पहला मैच आयहिका मुखर्जी व सुर्थिथा की जोड़ी को पहले मैच में 2-3 से हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद महिला सिंगल्स में मनिका बत्रा ने वापसी की। मनिका ने वर्ल्ड नंबर 19 बर्नाडेट जोक्स को 1-3 से मात दी। इसके बाद डबल्स मुकाबले में हारने वाली आयहिका को एक और हार मिली जब सिंगल्स मुकाबले में उन्हें सामारा एलिजाबेटा ने 1-3 से मात दी और फिर से रोमानिया 2-1 से आगे हो गई।

भारतीय टीम ने फिर वापसी की और इस बार सुर्थिथा ने वर्ल्ड नंबर 19 को हराकर 2-2 से मुकाबला बराबरी पर लाकर खड़ा दिया। निर्णायक मुकाबले में भारत की मनिका बत्रा का सामना मॉनटेइरियो से था। दबाव में मनिका को हार का सामना करना पड़ा और भारतीय महिला टीम ओलंपिक का टिकट हासिल से चूक गई। अब महिला टीम के ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने की राह मुश्किल हो गई है।

यह भी पढ़ें: भारतीय महिला और पुरुष टेबल टेनिस टीम ओलंपिक टिकट हासिल करने से एक जीत दूर

साथियान

दूसरी तरफ भारतीय पुरुष टेबल टेनिस टीम ने निराशाजनक प्रदर्शन किया। ग्यारहवीं वरीयता प्राप्त स्लोवानिया ने पांचवी वरीय भारतीय टीम को 3-1 से हरा दिया। पहले मैच में भारतीय टीम ने जीत से शुरुआत की लेकिन अगले दो एकल मुकाबलों में हरमीत देसाई और जी साथियान ने अपने-अपने मैच हार लिए और स्लोवेनिया ने 2-1 से बढ़त हासिल कर ली। टीम अगर क्वार्टर फाइनल में जीतती तो उसे ओलंपिक का टिकट मिल जाता लेकिन अब उसे क्वालिफाई करने के लिए प्लेट डिविजन में जीत दर्ज करनी होगी। प्लेट डिविजन में अंतिम 16 में हारने वाली सभी टीमें होंगी।