शुक्रवार, सितम्बर 25, 2020
होम ताज़ा ख़बर फ़्रेंच ओपन के फ़ाइनल में पहुंचने वाली सात्विक-चिराग की जोड़ी को मिला...

फ़्रेंच ओपन के फ़ाइनल में पहुंचने वाली सात्विक-चिराग की जोड़ी को मिला बड़ा इनाम, टॉप-10 में पहुंची भारतीय जोड़ी

हाल ही में ख़त्म हुई फ़्रेंच ओपन 2019 बैडमिंटन चैंपियनशिप के फ़ाइनल में पहुंचने वाली भारतीय पुरुष जोड़ी सात्विक साईराज रंकारेड्डी और चिराग शेट्टी अब एक बार फिर टॉप-10 में पहुंच गए हैं।

जानिए नवंबर में भारत को कहां और किन किन खेलों में लेना है हिस्सा

फ़्रेंच ओपन में धमाकेदार प्रदर्शन करने वाले सात्विक और चिराग की जोड़ी को इनाम के तौर पर दो स्थानों का फ़ायदा हुआ है। सात्विक साईराज और चिराग शेट्टी BWF द्वारा जारी की गई नई रैंकिंग में अब 11वें से 9वें स्थान पर आ गए हैं। ये सिर्फ़ दूसरी बार है कि भारत की ये जोड़ी टॉप-10 में शुमार हुई है।

जानिए कैसे फ़्रेंच ओपन में बड़ा इतिहास बनाने से चूक गए थे सात्विक-चिराग

पेरिस में खेले गए फ़्रेंच ओपन में सात्विक-चिराग ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए फ़ाइनल में जगह बनाई थी। 1983 के बाद ये पहला मौक़ा था जब मेंस डबल्स में किसी भारतीय जोड़ी ने फ़्रेंच ओपन के फ़ाइनल में स्थान बनाया हो। इस टूर्नामेंट के दौरान सात्विक-चिराग ने अपने से ऊपर रैंकिंग के कई खिलाड़ियों को मात दी थी। सात्विक-चिराग ने वर्ल्ड नंबर-2 इंडोनेशियाई जोड़ी मोहम्मद अहसन और हेंड्रा सेतिआवन को मात दी थी।

जब इस दिग्गज कोच ने राहुल गांधी को घर से भगा दिया था, और जसपाल राणा को भी कहा व्यापारी

हालांकि फ़ाइनल मुक़ाबले में वर्ल्ड नंबर-1 मार्कस फ़र्नाल्डी और केविन सुकामुलजो से सात्विक-चिराग को सीधे गेम में हार का सामना करना पड़ा था। सिर्फ़ 35 मिनट चले इस ख़िताबी भिड़ंत में भारतीय जोड़ी को 18-21 और 16-21 से शिकस्त मिली थी, लेकिन रजत पदक जीतते हुए भी सात्विक-चिराग ने सभी का दिल जीत लिया था।

इससे पहले इसी साल अगस्त में सात्विक साईराज रंकारेड्डी और चिराग शेट्टी की ये भारतीय जोड़ी थाईलैंड ओपन जीतते हुए इतिहास रच गई थी। ये टूर्नामेंट BWF सुपर 500 टूर्नामेंट था, जिसे जीतने वाली सात्विक-चिराग की ये जोड़ी पहली भारतीय जोड़ी बनी थी। तब उन्होंने उस वक़्त के मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन चाइना के ली जुन हुई और लियू यू चेन को हराकर सभी को हैरान कर दिया था। सात्विक और चिराग की इस जोड़ी से अब ज़्यादा उम्मीदें बढ़ गईं हैं, देखना है कि ये भारतीय जोड़ी किस तरह से उम्मीदों के दबाव का सामना करती है।