शनिवार, सितम्बर 19, 2020
होम ताज़ा ख़बर लोगो की जान पहले आती है फिर ओलंपिक- पीवी सिंधु

लोगो की जान पहले आती है फिर ओलंपिक- पीवी सिंधु

कोरोनावायरस के कारण कई खेल प्रतियोगिताएं या तो रद्द कर दी गई हैं या फिर स्थगित कर दी गई हैं। इस फेहरिस्त में टोक्यो ओलंपिक भी शामिल हो गया जिसे एक साल के लिए टाल दिया गया है। इस बीच भारतीय स्टार शटलर पीवी सिंधु ने इस फैसले का स्वागत किया है। सिंधु ने कहा है कि लोगों की जान सबसे महत्वपूर्ण है।

टोक्यो गेम्स 24 जुलाई से शुरू होने वाले थे, लेकिन अब अगली गर्मियों में इसका आयोजन किया जायेगा। हालांकि, इसके आयोजन की तारीख का ऐलान अभी तक नहीं हुआ है। रियो ओलंपिक की रजत पदक विजेता सिंधु ने कहा कि ओलंपिक को एक साल आगे बढ़ाने का फैसला सही था क्योंकि कोई और विकल्प नहीं था। कोविड-19 के प्रकोप के कारण अब तक 27,000 से अधिक लोगों की जान चली गई है और दुनिया भर में 5 लाख से अधिक लोग इसके संक्रमण से जूझ रहे हैं।

पीवी सिंधु ने इंडियन एक्सप्रेस के हवाले से कहा, “इसलिए मुझे नहीं लगता कि यह (ओलंपिक) स्थगित करने का एक बुरा फैसला था क्योंकि हमारे पास कोई और विकल्प नहीं है। लोग मर रहे हैं, जीवन पहले आता है। यह अच्छा है कि वे सभी टूर्नामेंट रद्द कर रहे हैं। यहां तक कि ओलंपिक भी। हर हफ्ते, हर दिन, संख्या बढ़ रही है। लोग मुझे बता रहे हैं, यह आपका सपना था लेकिन अब ओलंपिक स्थगित हो चुका है। लेकिन जीवन पहले आता है, फिर ओलंपिक।”

सिंधु वर्तमान में बर्मिंघम से लौटने के बाद खुद को अलग किये हुए है, जहां ऑल इंग्लैंड ओपन 2020 आयोजित किया गया था। इसको लेकर सिंधु ने कहा, “अब 12 दिन हो गए हैं, मैंने अपना कमरा नहीं छोड़ा है।”

यह भी पढ़ें : जब पीवी सिंधू ने कोविड 19 के बावजूद आल इंग्लैंड खेलने का फैसला किया

यह भी पढ़ें: साइना नेहवला का खेल प्रशासकों पर बड़ा आरोप, कहा खिलाड़ियों की सुरक्षा से किया गया समझौता