Begin typing your search above and press return to search.

कुश्ती

5 साल बाद कुश्ती में साक्षी मलिक ने लहराया अपना परचम, यूडब्ल्यूडब्ल्यू रैंकिंग सीरीज में जीता स्वर्ण पदक

साक्षी के अलावा इस सीरीज़ में भारत की मानसी (57 किग्रा) और दिव्या काकरान (68 किग्रा) ने भी पहला स्थान हासिल किया

Sakshi Malik, Divya Kakran and Mansi Ahlawat
X

 साक्षी मालिक, दिव्या काकरान और मानसी 

By

Amit Rajput

Updated: 2022-06-04T15:44:05+05:30

भारत की ओलंपिक विजेता खिलाड़ी साक्षी मलिक पिछले कुछ सालों से लगातार संघर्ष कर रही थी। वे पिछले सालों से देश के लिए कोई पदक नहीं जीत पायी थी। लेकिन शुक्रवार को साक्षी मलिक ने अपने पदकों के सूखे को खत्म किया और यूडब्ल्यूडब्ल्यू रैंकिंग सीरीज में देश के लिए 62 वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। साक्षी के अलावा इस सीरीज़ में भारत की मानसी (57 किग्रा) और दिव्या काकरान (68 किग्रा) ने भी पहला स्थान हासिल किया। पूजा ने 76 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक हासिल किया।

साक्षी ने इस स्पर्धा में कजाकिस्तान की इरिना कुजनेत्सोवा के खिलाफ तकनीकी श्रेष्ठता से जीत के साथ शुरुआत की और उसके बाद उज्बेकिस्तान की रुशाना अब्दिरासुलोवा पर 9-3 की बड़ी जीत दर्ज की। इसके बाद मंगोलिया की तसेरेनचिमेड सुखी ने सेमीफाइनल मैच से अपना नाम वापस ले लिया। जिसके कारण साक्षी बिना मैच खेले फाइनल में पहुंच गई। जहां साक्षी ने फाइनल में कुजनेत्सोवा को 7-4 से शिकस्त देते हुए दिन में दूसरी बार घरेलू पहलवान को हराया और स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता।

वही मानसी अहलवात ने 57 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किया है। मानसी ने कजाकिस्तान की एम्मा टिसिना को 3-0 से हराकर एकतरफा मुकाबला अपने नाम किया। वही दिव्या काकरन ने 68 किग्रा वर्ग की कैटेगरी में फाइनल में मंगोलिया की बोलोरतुंगालाग जोरिट के खिलाफ 10-14 से हार गई, बावजूद इसके उन्हें स्वर्ण पदक दिया गया। क्योंकि यह प्रतियोगिता चार पहलवानों की थी जिसमें दिव्या के ओवर ऑल बेहतर प्रदर्शन के कारण उन्हें विजेता बनाया गया।

Next Story
Share it