Begin typing your search above and press return to search.

कुश्ती

Commonwealth Games 2022: कांस्य पदक जीतने पर भी पूजा गहलोत ने माँगी देश से माफी

प्रधानमंत्री ने कहा यह माफी माँगने का नहीं, जश्न मनाने का वक्त

Commonwealth Games 2022: कांस्य पदक जीतने पर भी पूजा गहलोत ने माँगी देश से माफी
X
By

Sakshi Gupta

Updated: 2022-08-07T16:20:04+05:30

50 किलोग्राम फ्री स्टाइल कुश्ती में पूजा गहलोत ने कांस्य पदक जीता। पूजा का राष्ट्रमंडल खेलों में यह पहला पदक था। लेकिन पदक जीतने के बावजूद जब पूजा मीडिया से रूबरू हुईं, तो उन्होंने समस्त देशवासियों से माफी माँगी और यह माफी उन्होंने इसलिए माँगी, क्योंकि वह देश के लिए स्वर्ण पदक नहीं जीत पाईं।

उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, "मैं सेमीफाइनल कुश्ती हार गई थी। बहुत गुस्सा आया और मैं देशवासियों से माफी माँगती हूँ। मेरी विश (इच्छा) थी कि मैं राष्ट्रगान बजवाऊँ, लेकिन हार गयी‌।" मीडिया रिपोर्टर से बात करते समय पूजा की आँखों से आँसू उनकी निराशा साफ-साफ दिखा रहे थे।

पूजा गहलोत के देशवासियों से माफी माँगने पर देश के प्रधानमंत्री ने समस्त देशवासियों की तरफ से उन्हें संदेश दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर ट्वीट करके पूजा की तारीफ की और कहा, "आपको माफी माँगने की जरूरत नहीं, बल्कि यह तो जश्न मनाने का वक्त है। आपका खेल प्रशंसनीय है। आपकी जिंदगी का सफर हमें प्रेरणा देता है। आपकी सफलता हमें खुश करती है। अभी आगे और भी मुकाम हासिल करने हैं।"

आपको बता दें की पूजा सेमीफाइनल मुकाबले में हार गई थी। लेकिन, उन्होंने अपने मन से हार नहीं मानी और कांस्य पदक के लिए खेले जाने वाले मैच में स्कॉटलैंड की क्रिस्टिले लेमोफैक को 12-2 से हराया।

जब मीडिया पर्सन ने पूजा गहलोत से सवाल किया कि वह यहाँ से क्या लेकर जा रही हैं और क्या सीखा उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों से, तो इसके जवाब में पूजा ने कहा, "अभी तो कांस्य पदक ही है। मैं कुश्ती में जो गलती हुई उस पर काम करूँगी। बस यही है कि लास्ट में मैं हार गई। मैं इस पर काम करूँगी।"

पूजा ने अपने पहले राष्ट्रमंडल खेलों में ही पदक हासिल किया है। यह ही देश के लिए गर्व की बात है। आगे आने वाले मैचों में समस्त देशवासी उनकी जीत के लिए कामना करते हैं।

Next Story
Share it