शुक्रवार, जनवरी 22, 2021
होम कुश्ती सुशील कुमार का अनुरोध अस्वीकार, नहीं होगा ट्रायल स्थगित

सुशील कुमार का अनुरोध अस्वीकार, नहीं होगा ट्रायल स्थगित

भारतीय दिग्गज पहलवान सुशील कुमार का शुक्रवार को होने वाले ट्रायल को टालने का अनुरोध अस्वीकार कर लिया गया है। इससे पहले उन्होंने गुरुवार को भारतीय कुश्ती महासंघ से चोट का हवाला देते हुए ट्रायल को स्थगित करने का आग्रह किया था। इसके बावजूद सुशील के टोक्यो ओलंपिक में खेलने के सपने में पूर्ण विराम नहीं लगा है, उन्हें मार्च में एक और ट्रायल का मौका मिल सकता है। गौरतलब है कि पुरुष पहलवानों के ट्रायल शुक्रवार को दिल्ली में खेले जायेंगे।

ट्रॉयल्स का विजेता को रोम में 15 से 18 जनवरी के बीच होने वाले पहले रैंकिंग सीरीज टूर्नामेंट, नई दिल्ली में 18 से 23 फरवरी के बीच होने वाली एशियाई चैंपियनशिप और चीन के झियान में 27 से 29 मार्च के बीच होने वाले एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर के लिए भारतीय टीम में जगह मिलेगी।

यह भी पढ़ें: चोटिल सुशील कुमार ओलंपिक क्वालीफायर ट्रायल्स में नहीं ले पाएंगे हिस्सा, टालने की मांग की

डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि सभी वर्गों के ट्रायल शुक्रवार (पुरुष फ्रीस्टाइल में पांच और ग्रीको रोमन में छह) में आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने कहा, “निश्चित तौर पर ट्रॉयल्स टाले नहीं जाएंगे। हमारे पास 74 किग्रामें लड़ने वाले पहलवान हैं। सुशील अगर चोटिल हो गया तो हम क्या कर सकते हैं।” डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष से पूछा गया कि क्या सुशील को एशियाई क्वालीफायर्स में मौका दिया जाएगा। उन्होंने कहा, “हम रैंकिंग सीरीज में 74 किग्रा के विजेता का प्रदर्शन देखेंगे। इसके बाद ही हम अगले कदम पर फैसला करेंगे।”

हालांकि सुशील के ओलंपिक खेलने के सपने में अभी पूर्ण विराम नहीं लगा है। डब्ल्यूएफआई के सहायक सचिव विनोद तोमर ने इस संबंध में कहा, “अगर डब्ल्यूएफआई को लगता है कि मार्च में एशियन क्वालिफायर (टोक्यो खेलों के लिये) के लिये दमदार उम्मीदवार नहीं है तो सुशील को ट्रायल्स में शामिल होने के लिये कहा जा सकता है।

डब्ल्यूएफआई के अनुसार, चार ओलंपिक कोटा विजेताओं में से केवल बजरंग पुनिया (65 किग्रा) को उनके लगातार अच्छे प्रदर्शन के कारण ट्रायल में प्रतिस्पर्धा से छूट दी गई है। इनके अलावा बाकी रवि दहिया (57 किग्रा), दीपक पुनिया (86 किग्रा) और विनेश फोगट (53 किग्रा) ओलंपिक कोटा अर्जित करने और विश्व चैम्पियनशिप पदक जीतने के बावजूद ट्रायल में भाग लेंगे।