रविवार, सितम्बर 27, 2020
होम अन्य वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप: अविनाष साब्ले पहले किए गए बाहर, फिर भारत की...

वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप: अविनाष साब्ले पहले किए गए बाहर, फिर भारत की अपील के बाद बनाई फ़ाइनल में जगह

क़तर की राजधानी दोहा में चल रही वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में मंगलवार की रात उस वक़्त अजीबोग़रीब तस्वीर देखने को मिली, जब 3000 मीटर स्टीपल चेज़ में भारत के धावक अविनाष साब्ले दो बार गिरे और उन्हें डिसक्वालिफ़ाई कर दिया गया। लेकिन ग़लती उनकी नहीं थी बल्कि उनके आगे दौड़ रहे यूथोपिया के धावक के गिरने की वजह से वह भी लड़खड़ा गए थे।

ये भी ज़रूर पढ़ें: जब अनु ने राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा और फिर बन गईं दुनिया की 8वीं सर्वश्रेष्ठ

इसी बात को लेकर भारत ने ऐतराज़ जताया और अपील कि जिसके बाद उन्हें फ़ाइनल के लिए क्वालिफ़ाई करा दिया गया। वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 3000 स्टीपल चेज़ इवेंट के फ़ाइनल्स में पहुंचने वाले अविनाष साब्ले पहले भारतीय बन गए हैं।

नवीन एक्स्प्रेस के 5 रिकॉर्ड जहां तक किसी और का पहुंच पाना नामुमकिन के क़रीब है

दरअसल, अविनाष जब अपने इवेंट में दौड़ रहे थे तो उनके ठीक आगे यूथोपिया के धावक गिर गए और वह अविनाष के रास्ते में आ गए। जिससे साब्ले लड़खड़ाते हुए फ़ॉल कर बैठे लेकिन इसमें उनकी कोई ग़लती नहीं थी और उन्होंने अपनी दौड़ जारी रखी, जिसमें उन्होंने इतिहाच रच डाला और अपने ही बनाए राष्ट्रीय रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया। अविनाष ने 8:25.23 सेकंड्स में ये इवेंट पूरा किया और 46 धावकों में 20वें स्थान पर रहे। लेकिन इसके बावजूद उन्हें पहले ये कहते हुए फ़ाइनल से डिसक्वालिफ़ाई कर दिया गया था कि उन्होंने फ़ॉल किया और लड़खड़ गए। लेकिन साब्ले और भारतीय दल ने ये दलील दी और अपील करी कि इसमें उनका कोई क़सूर नहीं था। जिसके बाद इस अपील को सही मानते हुए साब्ले को फ़ाइनल में जगह मिल गई है।

साब्ले अब 4 अक्टूबर को फ़ाइनल इवेंट के लिए दौड़ लगाएंगे जहां उनसे पदक के साथ साथ टोक्यो के टिकेट की भी उम्मीद रहेगी। आपको ये भी बताते चलें कि इससे पहले 3000 मीटर स्टीपल चेज़ का राष्ट्रीय रिकॉर्ड 8:28.94 था जो अविनाष के ही नाम था।