Begin typing your search above and press return to search.

स्क्वाश

ब्रिटिश जूनियर ओपन के फाइनल में हारी अनाहत सिंह, रजत पदक से किया संतोष

ब्रिटिश जूनियर ओपन के फाइनल में हारी अनाहत सिंह, रजत पदक से किया संतोष
X
By

Ankit Pasbola

Updated: 2022-04-11T22:44:29+05:30

युवा स्क्वाश खिलाड़ी अनाहत सिंह को ब्रिटिश जूनियर ओपन के खिताबी मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। उन्हें महिलाओं के अंडर-13 वर्ग के फाइनल मुकाबले में मिस्र की अमीना ऑरफी ने तीन गेम तक चले मुकाबले में 11-0, 11-1, 11-4 से हरा दिया। इसके साथ ही उन्हें इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

फाइनल मुकाबले में शीर्ष वरीय अमीना ने शुरुआत से ही अपना दबदबा बनाके रखा और पहला गेम 11-0 से जीत लिया। अन्य दो गेम में भी अमीना ने भारतीय अनाहत पर अपना वर्चस्व बरकरार रखा और ब्रिटिश जूनियर ओपन का खिताब अपने नाम किया। इस मुकाबले में भारतीय खिलाड़ी मिस्र की प्रतिद्वन्द्वी को चुनौती देनें में असफल रही और आसानी से हार गई।

इससे पहले रविवार को सेमीफाइनल मैच में भारतीय खिलाड़ी ने मिस्र की जुन्ना गलाल को हराकर खिताबी मुकाबले का टिकट हासिल किया था। 11 वर्षीय अनाहत ने सेमीफाइनल में जुन्ना गलाल को पांच गेम तक चले मुकाबले में 7-11, 11-7, 13-11, 5-11, 17-15 से पराजित किया था। यह मुकाबला काफी रोमांचक रहा था।

पिछले साल अनाहत ने अंडर-11 वर्ग में ब्रिटिश जूनियर ओपन का खिताब जीता था। वह इस खिताब को जीतने वाली छटवीं भारतीय खिलाड़ी बनी थी। उनसे पहले सौरव घोषाल (2004 में अंडर-19), महेश मंगोंकार (2009 में अंडर-15), वेलवन सेंथिलकुमार (2017 में अंडर -19), जोशना चिनप्पा (2003 में अंडर-17 और 2005 में अंडर-19) और दीपिका पल्लीकल (2008 में अंडर-17) यह खिताब जीत चुके हैं।

Next Story
Share it