गुरूवार, अक्टूबर 1, 2020
होम ताज़ा ख़बर सरप्रीत सिंह बुंडिशलीगा में खेलने वाले भारतीय मूल के पहले फुटबॉलर बने

सरप्रीत सिंह बुंडिशलीगा में खेलने वाले भारतीय मूल के पहले फुटबॉलर बने

युवा मिडफील्डर सरप्रीत सिंह ने फुटबॉल की प्रतिष्ठित जर्मन लीग बुंडिशलीगा में शनिवार को अपना पर्दापण किया। उन्होंने इस लीग में बायर्न म्यूनिख की ओर से अपना पहला आधिकारिक मैच खेला। इसके साथ ही वह इस लीग को खेलने वाले भारतीय मूल के पहले फुटबॉलर बन गये हैं। इस मैच में उनकी टीम बायर्न म्यूनिख ने विपक्षी टीम वेर्डर ब्रेमेन को 6-1 से करारी शिकस्त दी। म्यूनिख की ओर से कोटिन्हो ने गोलों की हैट्रिक लगाई।

पिछले साल सरप्रीत इंटरकोंटिनेंटल कप में न्यूजीलैंड की ओर से भारत के खिलाफ खेले थे। इससे पहले वह ऑस्ट्रेलिया की ए-लीग के क्लब वेलिंगटन फिनिक्स की ओर से खेलते थे। सरप्रीत कौटिन्हो की जगह मैच के आखिरी समय में परिवर्तन के तौर मैदान पर उतरे। हालांकि, उन्होंने पूरा मैच न खेला हो लेकिन इसके साथ ही उनका आधिकारिक तौर पर पदार्पण हो गया। इससे पहले उन्हें आठ मैचों में बायर्न म्यूनिख के बेंच पर बैठना पड़ा था। उन्होंने अपनी कीवी क्लब फिनिक्स के लिए अब तक 39 मैच खेले हैं।

यह भी पढ़ें:ISL 2019: मुंबई ने बेंगलुरु को रोमांचक मैच में 3-2 से हराया

सरप्रीत न्यूजीलैंड की ओर से बुंडिशलीगा में खेलने वाले दूसरे खिलाड़ी हैं। उनसे पहले स्ट्राइकर विनटन रफर इस लीग में खेलने वाले न्यूजीलैंड के पहले खिलाड़ी बने थे। म्यूनिख हमेशा से 20 वर्षीय सरप्रीत को टीम में शामिल करना चाहता था। इस साल वेलिंगटन की ओर से खेलते हुए उनके प्रदर्शन के बाद उन्हें मौका मिल गया। सरप्रीत के वेलिंगटन के साथी खिलाड़ी डेविड विलियम्स और रॉय कृष्णा इस साल इंडियन सुपर लीग में एटीके के लिए खेल रहे हैं।