शनिवार, सितम्बर 26, 2020
होम कबड्डी प्रो कबड्डी मैच 74: सांस रोक देने वाले मुक़ाबले में बेंगलुरु ने...

प्रो कबड्डी मैच 74: सांस रोक देने वाले मुक़ाबले में बेंगलुरु ने पटना को दी मात, पवन और परदीप दोनों ही चमके

बुधवार को बेंगलुरु के श्री कंतीरवा स्टेडियम में खेले गए वीवो प्रो कबड्डी सीज़न-7 के 74वें मुक़ाबले में बेंगलुरु बुल्स ने पटना पायरेट्स को 40-39 से हराकर दूसरे पायदान पर पहुंच गए हैं। इस जीत के हीरो एक बार फिर पवन सहरावत रहे जिन्होंने सुपर-10 करते हुए 17 रेड प्वाइंट्स हासिल किए, पवन के अलावा रोहित कुमार को भी 7 अंक मिले जबकि महेन्दर ने हाई फ़ाइव करते हुए 5 टैकल प्वाइंट्स लिए। पटना की ओर से परदीप नरवाल ने भी सुपर-10 किया और 14 रेड प्वाइंट्स हासिल किए, उनके अलावा हादी ओशतोरोक ने भी हाई फ़ाइव किया।

पहले हाफ़ बेहद रोमांचक रहा जहां पहले कुछ मिनट ऐसा लग रहा था मुक़ाबला पवन सहरावत बनाम परदीप नरवाल चल रहा हो। अपनी अपनी टीमों के ये दोनों ही स्टार रेडर कमाल के फ़ॉर्म में थे। हालांकि पटना का डिफ़ेंस भी अच्छा चल रहा था और पटना ने मैच में बढ़त बना ली थी, लेकिन पवन ने पहले ही हाफ़ में सुपर-10 करते हुए बेंगलुरु को मैच में वापसी कराई। पहले हाफ़ के आख़िरी लम्हों में पटना की तरफ़ से बेहतरीन सुपर टैकल देखने को मिले जिसने हाफ़ टाइम तक बढ़त पटना के नाम 22-16 से कर दी थी। इस हाफ़ में पवन सहरावत ने 12 अंक लिए तो परदीप नरवाल भी 9 रेड प्वाइंट्स कर चुके थे।

दूसरे हाफ में भी पटना की शुरुआत अच्छी रही थी जब हादी ओशतोरोक ने अपना हाई फ़ाइव करते हुए पायरेट्स की बढ़त बरक़रार रखी थी। हालांकि मेज़बान टीम की ओर से सौरभ नंदल और महेन्दर सिंह की जोड़ी फिर रंग में थी और बेंगलुरु को मैच में वापस ला चुकी थी। 33वें मिनट तक स्कोर 29-24 से पटना के पक्ष में था लेकिन परदीप कोर्ट से बाहर थे और दूसरे हाफ़ में अब तक उन्होंने कोई अंक नहीं लिया था। बेंगलुरु के पवन सहरवात को भी 33वें मिनट तक दूसरे हाफ़ में कोई प्वाइंट नहीं मिला था। मुक़ाबला अब डिफ़ेंडरों का होता जा रहा था। बेंगलुरु के कप्तान रोहित कुमार भी अपने पुराने रंग में लौटते दिख रहे थे और उन्होंने अपनी रेड में लगातार प्वाइंट्स लाते हुए पटना को ऑल आउट के क़रीब ला दिया था। अमित कुमार ने पटना के लिए शानदार रेड करते हुए सौरभ नंदल और महेन्दर सिंह को आउट कर दिया था और अब परदीप नरवाल कोर्ट पर लौट आए थे। आख़िरी 5 मिनट का खेल बचा था और पटना के पास 5 अंकों की अहम बढ़त हासिल थी। अकेले खिलाड़ी के तौर पर खड़े परदीप ने बेंगलुरु को कई बार ऑल आउट के लिए तरसाया और प्वाइंट लाते जा रहे थे। इस दौरान परदीप ने अपना सुपर-10 भी पूरा कर लिया था। 37वें मिनट में आख़िरकार परदीप आउट हुए और पटना को ऑलआउट करते हुए बेंगलुरु अब 4 अंकों से पीछे थे, बढ़त अभी भी 37-33 से पटना के ही पास थी। 38वें मिनट में परदीप एक बार फिर टैकल हुए जो महेन्दर ने किया और ये महेन्दर का हाई फ़ाइव भी था। मैच में अब ढाई मिनट का खेल बचा था और बेंगलुरु सिर्फ़ 2 अंक से पीछे थे, यानी एक बेहतरीन अंजाम की तरफ़ मैच पहुंच रहा था। अब आख़िरी एक मिनट का खेल बचा था और पवन ने रेडिंग में दो शिकार करते हुए स्कोर 38-38 से बराबर कर दिया था इसके बाद मोनू अगली रेड में टैकल हुए और अब बढ़त बेंगलुरु के पास आ गई थी जबकि 38 सेकंड्स बाक़ी थे। पवन ने अपनी रेड में एक और प्वाइंट लाते हुए बेंगलुरु को 40-38 से बढ़त दिलाई और यही मैच का निर्णायक पल बन गया क्योंकि व्हिसल बजते ही बेंगलुरु ने मुक़ाबला एक अंक से जीत लिया।

वीवो प्रो कबड्डी इतिहास में बेंगलुरु बुल्स पर ये 17 मैचों में 5वीं जीत थी, इस जीत के बाद बेंगलुरु के 14 मैचों में 43 अंक हो गए हैं और वह दूसरे पायदान पर आ गए हैं। जबकि एक प्वाइंट लेने के बाद भी पटना 12 मैचों में 20 अंक के साथ आख़िरी पायदान पर ही है।

वीवो प्रो कबड्डी में गुरुवार यानी 5 सितंबर को श्री कंतीरवा स्टेडियम में एक ही मैच खेला जाएगा जहां पुनेरी पलटन के सामने यू मुम्बा की चुनौती होगी।