बुधवार, सितम्बर 30, 2020
होम कबड्डी प्रो कबड्डी मैच 99: सागर के बहाव में पुनेरी ने 'सुर'जीत के...

प्रो कबड्डी मैच 99: सागर के बहाव में पुनेरी ने ‘सुर’जीत के साथ मिलकर ‘पवन’ को रोकते हुए बेंगलुरु को हराया, रोहित रंग में लौटकर भी रहे बेरंग

शुक्रवार को पुणे के श्री शिव छत्रपति स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स, महालुंगे, बालेवाड़ी में खेले गए 99वें मैच में पुनेरी पलटन ने बेंगलुरु बुल्स को 42-38 से मात दे दी। इस तरह से पुनेरी ने अपने होमलेग के आख़िरी मैच में जीत के साथ विदाई ली। पुनेरी ने अपने घर में खेले 4 मैचों में 2 जीते और 2 हारे, इस जीत के हीरो रहे पंकज मोहिते (17 रेड प्वाइंट्स), जिन्होंने कमाल का प्रदर्शन करते हुए अपना सुपर-10 पूरा किया। साथ ही साथ डिफ़ेंस में कप्तान सुरजीत सिंह (6 टैकल प्वाइंट्स) और सागर कृष्ण (7 टैकल प्वाइंट्स) ने भी हाई फ़ाइव पूरा किया। बेंगलुरु के लिए अच्छी बात ये रही कि कप्तान रोहित कुमार रंग में वापस आए और सीज़न का तीसरा सुपर-10 (14 रेड प्वाइंट्स) हासिल किया। पवन सहरावत ने बी इस मैच में सुपर-10 के साथ 12 रेड प्वाइंट्स लिए।

पहले हाफ़ में ही पुनेरी पलटन ने ये साफ़ कर दिया था कि अपने घर से वह जीत के साथ विदाई लेने के लिए बेक़रार हैं। पुनेरी ने पहले हाफ़ में बेंगलुरु बुल्स को भारी दबाव में बनाए रखा था, और इसका श्रेय जाता है पंकज मोहिते को, जो पहले हाफ़ में सुपर-10 के क़रीब पहुंच चुके थे और 9 रेड प्वाइंट्स हासिल किया था। पंकज अगर सुपर-10 पहले हाफ़ में नहीं कर पाए थे तो पुनेरी के कप्तान सुरजीत सिंह ने अपना हाई फ़ाइव पूरा कर लिया था, सुरजीत का इस सीज़न में 5वां और करियर का 25वां हाई फ़ाइव था। साथ ही साथ सुरजीत ने इस सीज़न में 50 टैकल प्वाइंट्स भी पूरे कर लिए थे, यानी ये कहना ग़लत नहीं होगा कि पहला हाफ़ सुरजीत के नाम था। जिन्होंने पवन सहरावत को सिर्फ़ दो अंक दिए थे और क़रीब 9 मिनटों कर सहरावत पहले हाफ़ में बाहर बैठे। हालांकि रोहित कुमार रंग में थे और 7 रेड प्वाइंट्स के साथ बेंगलुरु को मैच में बनाए रखा था। हाफ़ टाइम तक 20-15 से बढ़त मेज़बान पुनेरी पलटन के पास थी।

परदीप ‘रिकॉर्ड’ नरवाल के ‘दोहरे शतक’ ने पटना पायरेट्स को हार से बचाया

दूसरे हाफ़ की शुरुआत भी पुनेरी ने बेहतरीन अंदाज़ में की और तुरंत ही पंकज ने अपना  सुपर-10 पूरा कर चुके थे, पंकज का ये सीज़न में दूसरा सुपर-10 था। बेंगलुरु बुल्स को ऑलआउट करते हुए अब पुनेरी ने मैच में और भी पकड़ बनाने की तरफ़ ले गए थे। हालांकि ऑलआउट होने के बाद ऑल इन होने वाली बेंगलुरु बुल्स ने वापसी कर चुकी थी, पवन दूसरे हाफ़ में पहले से बेहतर रंग में दिख रहे थे। और रोहित ने अपना सुपर-10 पूरा कर लिया था, इस सीज़न का रोहित का ये सिर्फ़ तीसरा सुपर-10 था और प्रो कबड्डी इतिहास का ये 26वां सुपर-10 था। लेकिन पुनेरी के डिफ़ेंडर सागर कृष्ण ने पहले पवन और फिर रोहित का टैकल करते हुए मैच में रोमांच बनाए रखा था। आख़िरी 6 मिनट का खेल बाक़ी था और सागर ने भी अपना हाई फ़ाइव पूरा करते हुए पुनेरी को 9 अंकों से मैच में आगे रखा था। सागर, पंकज और सुरजीत ने आख़िरी लम्हों तक इस प्रदर्शन को बरक़रार रखा और जैसे ही व्हिसल बजी मेज़बान टीम ने मैच जीतते हुए होमलेग से विदाई ली।

भारत के इस ‘बाहुबली’ ने वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में रचा इतिहास और लगाई पदकों की तिकड़ी

वीवो प्रो कबड्डी इतिहास में पुनेरी पलटन की बेंगलुरु बुल्स पर ये 12 मैचों में 7वीं जीत है, जबकि इस सीज़न में बुल्स पर लगातार दूसरी जीत है। इस जीत के बाद अंक तालिका में 18 मैचों में 42 अंकों के साथ पुनेरी एक बार फिर 8वें नंबर पर आ गए हैं, हालांकि बेंगलुरु हारने के बावजूद चौथे पायदान पर क़ायम हैं।

वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में डेब्यू और पदक हासिल कर रच डाला इतिहास

शनिवार यानी 19 सितंबर से जयपुर लेग की शुरुआत होगी जहां जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में पहले दिन दो मुक़ाबले खेले जाएंगे। पहला मैच मेज़बान जयपुर पिंक पैंथर्स और गुजरात फ़ॉर्च्यूनजाएंट्स के बीच होगा जो इस सीज़न का 100वां मुक़ाबला भी होगा। तो दूसरे मैच में तमिल थलाइवाज़ की टक्कर यूपी योद्धा से होगी।