Begin typing your search above and press return to search.

क्रिकेट

इतिहास विशेष: भारत ने रचा था इतिहास, श्रीलंका को हराकर जीता था विश्वकप

इतिहास विशेष: भारत ने रचा था इतिहास, श्रीलंका को हराकर जीता था विश्वकप
X
By

Ankit Pasbola

Updated: 2022-04-14T02:10:18+05:30

आज के ही दिन 9 साल पहले भारतीय टीम ने नया इतिहास रच दिया था। महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में भारतीय टीम ने 28 साल लम्बे अंतराल के बाद विश्व कप जीता था। इसके साथ ही यह भारत का 50 ओवरों का पहला विश्व कप था, क्योकि इससे पहले साल 1983 का विश्वकप जो भारतीय टीम ने जीता था, वह 60 ओवरों का खेला गया था। भारत की जीत के नायक गौतम गंभीर और कप्तान धोनी रहे।

दिन था 2 अप्रैल साल 2011 था। इस दिन एक नया इतिहास रचा जाना था। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में श्रीलंका टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था। पूरे टूर्नामेंट में धारदार गेंदबाजी करने वाले अनुभवी जहीर खान ने श्रीलंका को महज 17 के स्कोर पर पहला झटका दिया, जब बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज थरंगा 2 रन बनाकर सातवें ओवर में आउट हो गए। इसके बाद मध्यक्रम में दिलशान और कप्तान संगाकारा ने अच्छी बल्लेबाजी की। हालाँकि, दोनों बल्लेबाज अपनी शुरुआत को बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर सके। दिलशान 33 रन बनाकर दूसरे विकेट के रूप में जबकि संगाकारा 48 रन बनाकर तीसरे विकेट के रूप में पवेलियन लौट गये। इसके बाद अनुभवी जयवर्धने ने समरवीरा के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 57 रन जोड़े। समरवीरा के विकेट के बाद श्रीलंका के विकेट नियमित अंतराल में गिरे, हालाँकि दूसरे छोर से जयवर्धने का संघर्ष जारी रहा। अनुभवी जयवर्धने ने शतक पूरा किया और तेजी से रन बटोरकर टीम को निर्धारित 50 ओवरों के बाद 274 के स्कोर तक पहुंचाया।

लक्ष्य के जवाब में सचिन तेंदुलकर और वीरेंदर सहवाग की सलामी जोड़ी कुछ कमाल नहीं कर सकी। सहवाग बिना खाता खोले जबकि सचिन 18 रन बनाकर आउट हो गए। अगले बल्लेबाज गौतम गंभीर ने जमकर बल्लेबाजी की और युवा विराट कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए रन जोड़े। कोहली (35) के आउट होने के बाद कप्तान धोनी बल्लेबाजी के लिए आये। भरोसेमंद धोनी और गंभीर ने मुश्किल परिस्थितियों से टीम को निकाला और चौथे विकेट के लिए 109 रनों की उपयोगी साझेदारी की। अच्छी बल्लेबाजी कर रहे गौतम गंभीर शतक बनाने से चूक गये और 97 रन बनाकर 223 के स्कोर पर बोल्ड हो गये। अंत का बचा हुआ काम धोनी और युवराज ने पूरा किया और भारत विश्व विजेता बना।

संक्षिप्त स्कोरकार्ड:

श्रीलंका: 274/6 (महेला जयवर्धने 103* रन)

भारत: 277/4 (गौतम गंभीर 97, धोनी 91* रन)

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it