गुरूवार, नवम्बर 26, 2020
होम ताज़ा ख़बर भारत जीत की लय ना खोती तो आज हमारा स्तर अलग होता-...

भारत जीत की लय ना खोती तो आज हमारा स्तर अलग होता- विशेष भृगवंशी

भारतीय पुरूष और महिला बास्केटबॅाल टीम हाल ही में नेपाल में आयोजित साउथ एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक के साथ वापस लौटी है। इस प्रतियोगिता में भारत को किसी भी टीम के खिलाफ जीत के लिए मशक्कत नहीं करनी पड़ी इस उपलक्ष में द ब्रिज ने भारतीय पुरूष बास्केटबॅाल टीम के कप्तान विशेष भृगवंशी से खास बातचीत की और जानना चाहा मौजूदा टीम के प्रदर्शन से लेकर एशियन प्रतियोगिता में भारत के लचर प्रदर्शन के बारे में। आइए जानते हैं भारतीय टीम के कप्तान ने क्या कुछ कहा   

1) साउथ एशियन गेम्स में भारतीय टीम के प्रदर्शन के बारे में क्या कहना चाहेंगे?

विशेष भृगवंशी: भारतीय टीम ने काफी अच्छा खेला, ये प्रतियोगिता हमारे लिए बहुत जरूरी थी। क्योंकि कुछ महीनों  के अंदर हमें एशियन क्वालीफाइर्स खेलना है। ऐसे में इस प्रतियोगिता से हमारी तैयारियां कैसी है इसके बारे में हमें अच्छा पता चला। साथ ही साउथ एशियन गेम्स में काफी युवा खिलाड़ियों को खेलने का मौका मिला जो हमारे टीम के लिए काफी फायदेमंद रहा। बाकी इस टूर्नामेंट को जीतने में हमें कुछ ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ी।

2) आपके चोटिल होने के वजह से भारतीय टीम खराब दौर से गुजरी इस बारे में आप क्या कहना चाहेंगे?

विशेष भृगवंशी: मुझे चोट लगी साथ ही राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान अमृतपाल को भी चोट लगी इसके बाद कई खिलाड़ी टीम से बाहर हुए एक बुरा दौर था। 2015,2016, 2017 तक टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन उसके बाद टीम को काफी बार बड़े प्रतियोगिता में हार का सामना करना पड़ा। कोई बात नहीं हम फिर से तैयार हैं जो लय हमने खोयी थी। उसे हम पाने की पूरी कोशिश करेंगे।

3) साउथ एशियन गेम्स में हमारा प्रदर्शन अच्छा रहा लेकिन हम एशियन और अन्य बड़े बास्केटबॅाल प्रतियोगिता जीतने के बारे में कब सोचेंगे?

विशेष भृगवंशी: एशियन बास्केबॅाल प्रतियोगिता के बारे में बात करें तो हर टीम के पास 1 या 2 ऐसे खिलाड़ी होते हैं जिनके दो देशों की नागरिकता होती है। भारत को छोड़कर लगभग हर एशियन टीम के पास ऐसे खिलाड़ी हैं। दूसरी बात ये है कि 2014 के बाद एक ऐसा दौर आया था जब भारतीय टीम चीन जैसे टॅाप टीम को मात दी रही थी। 2015 में 12 साल में ऐसा पहली बार हुआ था जब भारतीय टीम एशियन बास्केटबॅाल प्रतियोगिता के क्वार्टरफाइनल तक पहुंची थी। 2016 और 2017 तक ऐसा प्रदर्शन जारी रहा लेकिन उसके बाद हमने जीतने वाली लय खो दी थी। अगर वही चीज अभी बरकरार होती हो आज हम अलग लेवल पर होते।

4) पेशेवर लीग के आने से आपको लगता है भारतीय टीम के अंतराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन में सुधार देखने को मिलेगा?

विशेष भृगवंशी: पेशेवर लीग के आने से खिलाड़ियों को बेहतर सुविधा मिलेगी औऱ जब विदेशी खिलाड़ी यहां पर आकर खेलेंगे तो उनके खेल से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलेगा । साथ ही हम जब उनके खिलाफ अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिता में खेलेंगे तो हमे उनके बारे में बेहतर होगा जिसका परिणाम टीम के प्रदर्शन में भी देखने को मिलेगा।

5) सतनाम सिंह डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं इस बारे में आप क्य़ा कहना चाहेंगे?

विशेष भृगवंशी: मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं हैं ।