शुक्रवार, नवम्बर 27, 2020
होम ताज़ा ख़बर FIH सीरीज फाइनल: फाइनल में जगह बनाने के साथ-साथ भारतीय महिला हॉकी...

FIH सीरीज फाइनल: फाइनल में जगह बनाने के साथ-साथ भारतीय महिला हॉकी टीम ओलंपिक क्वालीफायर में

हिरोशिमा में हो रही FIH सीरीज फाइनल प्रतियोगिता के सेमी फाइनल में  ने विश्व की 16वे रैंकिंग वाली चिली को 4-2 से हराते हुए फाइनल में प्रवेश कर लिया है, इसी के साथ-साथ भारतीय टीम ने ओलिंपिक क्वालीफ़ायर के लिए भी क्वालीफाई कर लिया है।

मैच के शुरुआती पांच मिनटों में चिली ने भारत की डिफेंस लाइन को उलझाए रखा। दसवे मिनट में चिली ने एक अच्छा मौका बनाया लेकिन गोलकीपर सविता ने इसे आसानी से ब्लॉक कर लिया। ग्याहरवे मिनट में भारत को पहला पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन चिली के गोलकीपर इसे आसानी से रोक दिया। तेहरवे मिनट में चिली को अपना पहला पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन ड्रैग फ्लिक गोल पोस्ट से दूर निकल गया। पहला क्वार्टर गोल रहित रहा। 56% पोसेशन के साथ चिली ने पुरे क्वार्टर को अपने पक्ष में रखा।

दूसरे क्वार्टर की कहानी भी भारत के लिए अच्छी नहीं रही और 18वे मिनट में ही कैरोलिना ग्रेसिया ने फील्ड गोल करते हुए चिली को बढ़त दे दी, कुछ सेकण्ड्स बाद ही कैरोलिना को ग्रीन कार्ड मिला। 21वे मिनट में ही भारत को पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन गुरजीत की फ्लिक रशर के पैर में लगी और भारत को फिर से पेनल्टी कार्नर मिला और गुरजीत ने बिना कोई गलती किये 22वे मिनट में भारत को बराबरी पर ला दिया। 27वे मिनट में कप्तान रानी रामपाल को ग्रीन कार्ड दिखाया गया लेकिन चिली इस अवसर को भुना नहीं पायी। हाफ टाइम तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर रही।

लालरेमसियामी

तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में पुशबैक के साथ ही नवनीत कौर ने 25 यार्ड सर्किल से बॉल को लेकर सर्किल में दाखिल होते हुए शॉट लगाया जो की चिली की डिफेंडर की स्टिक को छूते हुए नेट में लगा।31वे मिनट में हुए इस गोल ने भारत को 2-1 की बढ़त दिला दी। 37वे मिनट में भारत को पेनल्टी कार्नर मिला और गुरजीत कौर ने आगे बढ़कर टॉप राइट कार्नर में फ्लिक लगते हुए स्कोर लाइन 3-1  कर दी। 40वे मिनट में लालरेमसियामी को ग्रीन कार्ड दिखाया गया। तीसरे क्वार्टर ख़त्म होने में दो मिनट शेष रहते डेनिस क्रिमेरमन के क्रॉस पर मनुएला उररोज़ ने गोल करते हुए चिली को मैच में वापस ला दिया। तीसरे क्वार्टर में चिली को तीन पेनल्टी कार्नर मिले लेकिन भारत ने उन्हें तीनो मौको पर गोल पोस्ट से दूर रखे रखा।

चौथे क्वार्टर में भारत ने चिली को उलझाए रखा और उन्हें बराबरी का कोई भी मौका नहीं दिया, पुरे ही क्वार्टर में चिली एक भी सर्किल एंट्री नहीं कर पायी। वही भारत ने अपनी जीत को मज़बूत करने के लिए हमले ज़ारी रखे। 57वे मिनट में लिलिमा मिंज के पास पर कप्तान रानी रामपाल ने गोल करते हुए भारत की जीत मज़बूत कर दी। फुल टाइम हूटर बजने के साथ ही भारत ने मैच 4-2 से अपने नाम किया और प्रतियोगिता के फाइनल में प्रवेश किया। भारत का फाइनल में मुक़ाबला जापान के साथ होगा जिन्होंने अन्य सेमी फाइनल में रूस को शूट ऑफ में 3-1 से हराया, फुल टाइम तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थी।

फाइनल में जगह बनाने के साथ ही भारत ने अक्टूबर-नवंबर में होने वाले ओलम्पिक क्वालीफायर के लिए क्वालीफाई कर लिया था। पुरुष टीमों की तरह ही महिला टीमों के लिए भी अंतराष्ट्रीय हॉकी महासंघ सारे द्वीपीय क्वालीफायर के पूर्ण हो जाने के बाद टोक्यो 2020 ओलम्पिक खेलो के लिए बचे शेष स्थानों के लिए टीमों के लिए ड्रा की घोषणा करेगा।