मंगलवार, सितम्बर 29, 2020
होम ताज़ा ख़बर स्पोर्ट्सवुमन ऑफ द ईयर के लिए मैरीकॉम, पीवी सिंधु समेत पांच खिलाड़ी...

स्पोर्ट्सवुमन ऑफ द ईयर के लिए मैरीकॉम, पीवी सिंधु समेत पांच खिलाड़ी नामित

भारतीय दिग्गज मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम, स्प्रिंटर दुति चंद, पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी मानसी जोशी, बैडमिंटन दिग्गज पीवी सिंधु और पहलवान विनेश फोगाट को बीबीसी ने ‘स्पोर्ट्सवुमन ऑफ द ईयर’ के लिए नामित किया है। इन खिलाड़ियों में से विजेता को ऑनलाइन वोटिंग के आधार पर चुना जायेगा। इसके लिए वोटिंग 18 फरवरी तक की जायेगी, जिसका फैसला 8 मार्च को किया जायेगा। इस श्रेणी में कोई भी महिला क्रिकेट खिलाड़ी को जगह नहीं मिली है।

मानसी जोशी ने पिछले साल पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था। इस सूचि में चुने जाने के बाद मानसी जोशी ने कहा कि, “मुझे यह जानकर बहुत खुशी हो रही है कि मैं पैरा-एथलीट श्रेणी में नहीं बल्कि खेल की सामान्य श्रेणी में सक्षम, सामान्य वर्ग में नामांकित हूं।”

महिलाओं की 100 मीटर में राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक स्प्रिंटर दुति चंद ने इसको लेकर कहा, “कई और लोग मुझ पर बीबीसी द्वारा बनाये गये वीडियो के माध्यम से मुझे और मेरे खेल को पहचानेंगे। मैं वास्तव में खुश हूं कि भारत में पहली बार बीबीसी स्पोर्ट्स अवार्ड के लिए नामांकित हुई।”

Mary Kom (Image: Northeast Now)

छह बार के विश्व चैंपियन मैरीकॉम ने कहा है कि यह पुरस्कार किसी योग्य व्यक्ति को ही मिलना चाहिए। उन्होंने कहा, “यह मायने नहीं रखता कि मैं यह पुरस्कार जीतू या नहीं, मुझे दुःख नहीं होगा। लेकिन मैं यह कह सकती हूँ कि यह किसी योग्य खिलाड़ी को ही मिलेगा।”

अगर पहलवान विनेश फोगाट की बात की जाय तो उन्होंने पिछले साल नूर सुल्तान में खेली गई विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था। उनके इस प्रदर्शन के कारण उन्हें ओलंपिक का टिकट भी हासिल हुआ था। विनेश फोगाट ने कहा, “पिछले कुछ सालों में भारतीय महिला खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया है, अगर मेरा नाम भी उनमे शामिल होगा तो यह मेरे लिए संतोष की बात होगी।”

P V Sindhu winning the silver medal at the 2016 Rio Olympics (Image: Reuters)
पीवी सिंधु

विश्व चैंपियन पीवी सिंधु ने इस संबंध में कहा, “अगर हमारा नाम इसमें शामिल है, तो यह हमारे लिए काफी मायने रखता है। यह प्रत्येक एथलीट और अन्य लोगों के लिए भी एक प्रोत्साहन है। क्योंकि आप जानते हैं कि इस सूचि में होना आसान नहीं है।”