मंगलवार, नवम्बर 24, 2020
होम ताज़ा ख़बर ओलंपिक तैयारी को छोड़कर सारे राष्ट्रीय शिविर स्थगित : किरेन रीजीजू

ओलंपिक तैयारी को छोड़कर सारे राष्ट्रीय शिविर स्थगित : किरेन रीजीजू

कोविड 19 महामारी के कारण सभी राष्ट्रीय शिविर आगामी आदेश तक स्थगित कर दिये गए हैं हालांकि तोक्यो ओलंपिक की तैयारी कर रहे खिलाड़ियों के शिविर जारी रहेंगे। खेलमंत्री किरेन रीजीजू ने कहा कि राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र और भारतीय खेल प्राधिकरण के केंद्रों पर अकादमीय प्रशिक्षण भी निलंबित रहेगा। ओलंपिक इस साल जुलाई अगस्त में होने हैं।

रीजीजू ने ट्वीट किया, ‘‘कोविड 19 के चलते साइ ने तय किया है कि सभी राष्ट्रीय शिविर स्थगित रहेंगे। ओलंपिक की तैयारी कर रहे खिलाड़ियों के शिविर जारी रहेंगे।’’ उन्होंने आगे लिखा, ‘‘राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र और एसटीसी भी आगामी आदेश तक बंद रहेंगे।’’

रीजीजू ने कहा कि यह कदम अस्थायी और एहतियाती है और हालात सुधरने पर प्रशिक्षण बहाल कर दिया जायेगा । उन्होंने कहा, ‘‘यह अस्थायी और एहतियातन उठाया गया कदम है । मैं सभी युवा खिलाड़ियों से अपील करता हूं कि दिल छोटा नहीं करें। हम हालात की समीक्षा करके जल्दी ही अकादमीय प्रशिक्षण फिर शुरू करेंगे।’’

बाद में साइ ने कहा कि मंजूरी मिलने और प्रतिबंध वापिस लिये जाने तक कोई टूर्नामेंट, खेल समारोह, सेमिनार या कार्यशाला का आयोजन नहीं किया जायेगा। होस्टल सुविधा हालांकि 20 मार्च तक चालू रहेगी ताकि खिलाड़ियों को असुविधा नहीं हो। साइ ने कहा ,‘

इसमें कहा गया ,‘‘सभी अन्य प्रशिक्षुओं को घर भेजहा जा रहा है । जिनका घर केंद्र से 400 किलोमीटर से कम दूरी पर है, उन्हें थर्ड एसी का ट्रेन टिकट दिया जा रहा है । जिनका घर 400 किलोमीटर की दूरी से अधिक है, उन्हें हवाई टिकट दिया जायेगा।’’ भारत में अभी तक निशानेबाजी विश्व कप और इंडिया ओपन गोल्फ स्थगित किया गया है। वहीं बैडमिंटन का इंडिया ओपन भी रद्द कर दिया गया।

कुछ दिन पहले ही सरकार ने खिलाड़ियों के प्रशिक्षण और प्रतिस्पर्धाओं के संबंध में दो परामर्श जारी किये थे। मंत्रालय ने कहा था कि तोक्यो ओलंपिक क्वालीफायर के लिये विदेश में खेल रहे खिलाड़ी अपना अभ्यास जारी रखेंगे। रीजीजू ने यह भी स्पष्ट किया कि राष्ट्रीय टूर्नामेंटों पर कोई प्रतिबंध नहीं है लेकिन वे बिना दर्शकों के होंगे। भारतीय एथलेटिक्स महासंघ इंडियन ग्रां प्री का आयोजन कर रहा है जो ओलंपिक क्वालीफायर भी है। यह 20 मार्च से शुरू होगा और दर्शकों के बिना खेला जायेगा। बीसीसीआई, भारतीय मुक्केबाजी महासंघ और अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ समेत राष्ट्रीय खेल महासंघों ने घर से काम करने का फैसला लिया है ।