गुरूवार, नवम्बर 26, 2020
होम ताज़ा ख़बर AIBA वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप: अमित पंघल और मनीष ने पक्के किए दो-दो...

AIBA वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप: अमित पंघल और मनीष ने पक्के किए दो-दो पदक, कविंदर-सनजीत चूके

भारतीय खेल प्रेमियों के लिए बुधवार का दिन बेहद ख़ास है, क्योंकि रूस के एकाटेरिनबर्ग में चल रहे AIBA वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के 10वें दिन भारत के एक नहीं बल्कि चार चार मुक्केबाज़ों का क्वार्टर फ़ाइनल मुक़ाबला है, जिसकी हर अपडेट आपको इस रिपोर्ट में मिलती रहेगी, भारत के हरेक मुक़ाबले के बाद ये रिपोर्ट अपडेट होती रहेगी।

जानिए भारत के ये चारों मुक्केबाज़ों ने क्वार्टर फ़ाइनल में कैसे बनाई थी जगह ?

भारत का पहला मुक़ाबला 52 किग्रा में अमित पंघल का था, जहां पंघल के सामने फ़िलिपिंस कार्लो पालम से था। जहां पंघल ने पालम को 4-1 से हराते हुए भारत को इस चैंपियनशिप में पहले पदक पर कब्ज़ा दिला दिया है। अगर सेमीफ़ाइनल में अमित की हार भी होती है तो उन्हें कांस्य पदक मिल जाएगा, जबकि जीत उन्हें रजत और स्वर्ण के क़रीब ले जाएगी।

पंघल ने ये मुक़ाबला 4-1 से अपने नाम किया, फ़ाइनल स्कोर था 29-28, 29-28, 29-28, 29-28 और 28-29। सेमीफ़ाइनल में अब पंघल की टक्कर कज़ाख़स्तान साकेन बीबोसिनौम के ख़िलाफ़ होगी, ये मुक़ाबला शुक्रवार को खेला जाएगा। जीत के बाद अमित काफ़ी उत्साहित दिखे।

अब कोर्ट पर आ चुके थे मनीष कौषिक जिनके सामने चुनौती थी ब्राज़िल के मुक्केबाज़ डी ओलिएवेरा के साथ। 57 किग्रा वर्ग के इस मुक़ाबले में मनीष ने ब्राज़िल के इस बॉक्सर को हराते हुए 15 मिनट के अंतराल में भारत का दूसरा पदक पक्का कर दिया। मनीष ने ये मुक़ाबला 5-0 से अपने नाम किया। सेमीफ़ाइनल में अब मनीष का सामना क्यूबा के मुक्केबाज़ एंडी क्रूज़ गोमेज़ के ख़िलाफ़ होगा।

भारत के दो पदक पक्के होने के बाद अब पदकों की हैट्रिक लगाने की ज़िम्मेदारी थी 91 किग्रा वर्ग में सनजीत पर, जिनका सामना एक्वाडोर के मुक्केबाज़ जे कैस्टिलो टॉरेस से था। पहले राउंड में काटें का मुक़ाबला हुआ और दबाव साफ़ तौर पर युवा सनजीत पर दिख रहा था, हालांकि दूसरे राउंड में वापसी करते हुए सनजीत ने उम्मीद जगा दी थी। लेकिन एक्वाडोर के मुक्केबाज़ ने तीसरा और आख़िरी राउंड जीतते हुए मुक़ाबला 4-1 से जीत लिया।

इसके बाद भारत की आज की आख़िरी और चुनौती कविंदर सिंह बिष्ठ की थी लेकिन कविंदर बिष्ठ इस चुनौती को पार नहीं कर पाए और क्वार्टर फ़ाइनल में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

इस तरह से भारत ने वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप से दो पदक पक्के कर लिए हैं और अब देखना ये है कि शुक्रवार को ये दो पदकों का रंग बदलता है या नहीं ?