Begin typing your search above and press return to search.

कुश्ती

2019 वर्ल्ड रेसलिंग चैम्पियनशिप: दूसरे दिन रवि ने उम्मीद जगाई थी लेकिन दूसरे दौर में उनकी हार के साथ सभी भारतीय चुनौतियां समाप्त

2019 वर्ल्ड रेसलिंग चैम्पियनशिप: दूसरे दिन रवि ने उम्मीद जगाई थी लेकिन दूसरे दौर में उनकी हार के साथ सभी भारतीय चुनौतियां समाप्त
X
By

P. Divya Rao

Published: 15 Sep 2019 9:35 AM GMT

नूर -सुल्तान वर्ल्ड रेसलिंग चैम्पियनशि में रविवार को करीब 12 बजे शुरू हुए ग्रेको रोमन मैच में 67 किग्रा वर्ग में मनीष ने पहले राउंड से ही एक कड़ी टक्कर देना शुरू कर दिया था। 1 -0 से लीड कर उन्होंने ने एक अच्छी शुरुआत की थी। पर यह शुरुआत ज़्यादा देर तक नहीं चली और कुछ ही पलों में, मनीष के खराब मूव के कारण, बुल्गारिया के डिमित्रोव ने 10 - 1 से जीत कर मनीष को मात दी। इस तरीके से दूसरे दिन भी भारत की शुरुआत हार से हुई| मनीष के रेपेचेज राउंड में जाने की उम्मीद भी तब ख़त्म हो गई जब क्वार्टर फ़ाइनल में डिमित्रोव को डेनमार्क के रेसलर ने शिकस्त दे दी।

https://twitter.com/TheBridge_Hindi/status/1173123613974650880?s=20
https://twitter.com/TheBridge_Hindi/status/1173125848951476225?s=20

इसके बाद भारत के सुनील का मैच था जो 87 kg में अमेरिका के जो रॉव के साथ मुक़ाबला करने उतरे थे| पर यहां भी भारत का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा, और अमेरिका के रेसलर ने 6-0 की बढ़त ले ली। इतने में ही साफ हो गया कि सुनील, रॉ को टककर नहीं दे पाएंगे। सुनील की रेपेचेज राउंड की भी उम्मीद तब ख़त्म हो गई जब उन्हें हराने के बाद अमेरिका के पहलवान जो रॉव क्वार्टर फ़ाइनल में हार गए।

भारत के लिए ख़ुशी का पल तब आया जब 97 क्रिगा वर्ग में रवि ने उम्मीदों को ज़िंदा रखा, उन्होंने चाइनीस ताइपे के पहलवान चेंन चेंग को
5-0 से हराकर दूसरे दौर में एंट्री ले ली थी।

https://twitter.com/TheBridge_Hindi/status/1173140946608746496?s=20

पहले दिन भी ग्रेको रोमन टूर्नामेंट में भारत के चारों रेसलर्स ने निराश किया था और दूसरे दिन की भी शुरुआत अच्छी नहीं रही थी लेकिन रवि ने उम्मीदें जगा दी थीं। लेकिन अंतिम-16 में रवि को क्ज़ेच रिपब्लिक के पहलवान अरतुर ओमारेव ने 7-0 से हरा दिया। अब रवि की उम्मीदें भी ओमारोव पर टिक गईं थी, अगर ओमारोव फ़ाइनल में पहुंचते हैं तो रवि को रेपेचेज राउंड में एक मौक़ा मिल सकता था, लेकिन क्वार्टर फ़ाइनल में पहुंचकर अरतुर ओमारेव को सर्बिया के रेसलर ने हरा दिया। और इसी के साथ भारत की ग्रेको रोमन में दूसरे दिन सभी चुनौतियां भी समाप्त हो गईं, पहले दो दिन भारतीय पहलवानों के लिए निराशाजनक रहे।

https://twitter.com/TheBridge_Hindi/status/1173156472068272130?s=20

वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में भारत के लिए कैसा रहा था पहला दिन ?

ग्रेको रोमन के बाद भारतीय चुनौती 17 सितंबर से विमेंस रेसलिंग में शुरू होगी जबकि मेंस फ़्रीस्टाइल के मुक़ाबलों की शुरुआत 20 सितंबर से होगी। विमेंस रेसलिंग में जहां सभी की उम्मीदें विनेश फ़ोगाट और साक्षी मलिक से हैं तो मेंस फ़्रीस्टाइल में बजंरग पुनिया के साथ साथ वापसी कर रहे सुशील कुमार पर भी निगाहें होंगी।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it