सोमवार, सितम्बर 21, 2020
होम ताज़ा ख़बर पैरा शूटिंग वर्ल्ड कप : मनीष-निशा की जोड़ी का सोने पर निशाना

पैरा शूटिंग वर्ल्ड कप : मनीष-निशा की जोड़ी का सोने पर निशाना

ओजिक पैरा शूटिंग वर्ल्ड कप में भारत को एक और बढ़ी सफलता मिली है, मनीष नरवाल और निशा कँवर की जोड़ी ने 10 मीटर एयर पिस्टल मिश्रित टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया, भारत के ही सिंघराज और पूजा अग्रवाल ने भी इसी स्पर्धा में कांस्य पदक जीता।

क्वालिफिकेशन राउंड में 759-19x के स्कोर के साथ शीर्ष पर रहे मनीष-निशा को फाइनल में 742-14x अंको के साथ चौथे स्थान पर रही यूक्रेन के ओलेक्सी डेनीस्युक और इरयाना लिआखु से कड़ी टक्कर मिली। शुरुआती दो सीरीज पूरी हो जाने तक उक्रेनी जोड़ी 193.8 अंको के साथ शीर्ष पर बनी हुयी थी, वही भारतीय जोड़ी 190.9 के साथ दूसरे स्थान पर चल रही थी,  लेकिन तीसरी सीरीज में उक्रैन के 93.2 के खराब शॉट्स की वजह से भारतीय जोड़ी को बढ़त मिली और इसके बाद भारतीय जोड़ी ने अपनी बढ़त को मज़बूत करते गए और 462.0 अंको के स्कोर के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया, उक्रेनी जोड़ी को 457.2 अंको के साथ रजत पदक मिला। सिंघराज और पूजा को 390.9 अंको के साथ कांस्य पदक मिला। क्वालिफिकेशन में सिंघराज-पूजा 742-15x के साथ तीसरे स्थान पर रहे। क्वालिफिकेशन राउंड में ही दूसरे स्थान पर रहे टर्की के सेवट कारागोल और अयसेगुल पेहलीवानलार को फाइनल में पाचवे स्थान से संतोष करना पड़ा, फाइनल से पहले ही सेवट की पिस्टल में खराबी आने की वजह से उन्हें फाइनल में पिस्टल में स्क्रू ड्राइवर लगाकर खेलना पड़ रहा था जिसका असर उनके प्रदर्शन पर भी रहा।

इसके पूर्व अवनि लेखरा और स्वरुप महावीर उन्हालकर की जोड़ी ने 10 मीटर एयर राइफल मिश्रित टीम स्पर्धा में चौथा स्थान हासिल किया, क्वालफिकेशन राउंड में भारतीय जोड़ी 808.8 अंको के स्कोर के साथ चौथे स्थान पर रही थी, फाइनल में पहली सीरीज के बाद भारतीय जोड़ी दूसरे स्थान पर चल रही थी लेकिन दूसरी सीरीज में 98.8 स्कोर के साथ चौथे स्थान पर चली गयी, तीसरी सीरीज में भारतीय जोड़ी ने 104.5 अंक स्कोर करते हुए वापसी की कोशिश लेकिन अगली ही दो सीरीज में 41.3 और 40.8 के स्कोर की वजह टीम वापस चौथे स्थान पर आकर प्रतियोगिता से बाहर हो गयी। स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक क्रमशः स्लोवाकिया, यूक्रेन और थाईलैंड  की टीमों को मिला।

इसी के साथ भारत ने इस प्रतियोगिता का अंत पांच स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य पदको के साथ किया। भारतीय निशानेबाज़ों का यह प्रदर्शन उन्हें अक्टूबर में होने वाली विश्व चैंपियनशिप में मददगार साबित होगा, भारतीय निशानेबाज़ों के पास टोक्यो 2020 पैरालम्पिक के क्वालीफाई करने का यह अच्छा मौका होगा, अभी तक चार निशानेबाज़ों, मनीष नरवाल और दीपेंदर सिंह (दोनों पुरुषो की P1 10 मीटर एयर पिस्टल SH1), सिंघराज (मिश्रित P4 50m पिस्टल SH1) और अवनि लेखरा (मिश्रित R6 50 मीटर राइफल प्रोन SH1) ने पैरालम्पिक खेलो के लिए क्वालीफाई कर लिया है।