शुक्रवार, सितम्बर 25, 2020
होम ताज़ा ख़बर टोक्यो ओलम्पिक में खर्च कटौती से कई अंतराष्ट्रीय संघ नाराज़

टोक्यो ओलम्पिक में खर्च कटौती से कई अंतराष्ट्रीय संघ नाराज़

टोक्यो 2020 ओलम्पिक खेलों के शुरू होने में लगभग 14 माह शेष रह गए, लेकिन आयोजन समिति के एक फैसले ने कई अंतराष्ट्रीय खेल संघों को नाराज़ कर दिया है।

 The Washington Post में छपी एक खबर के अनुसार, अंतराष्ट्रीय ओलम्पिक कमिटी (IOC) के दबाव में आकर आयोजन समिति ने खेलों में होने वाले खर्चो में कटौती करने का फैसला लिया है। बीते समय में कई बार IOC को ओलम्पिक खेलों में होने वाले खर्चो को लेकर आलोचना सहना पड़ी है। व्यय होने वाले बजट में मुख्यतः मेजबान देश के लोगो द्वारा चुकाए हुए कर (टैक्स) का बढ़ा भाग होता है।

 अंतराष्ट्रीय खेल संघों की नाराज़गी की मुख्य वजह आवास, परिवहन और खेलों के लिए काम आने वाले वेन्यू के उन्नयन के लिए व्यय होने वाले बजट में हो सकती कटौती से है।

 ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कॉस्ट शहर में हुयी Association of Summer Olympic International Federations (ASOIF) की मीटिंग में संघों ने अपने कई सारे प्रश्न टोक्यो 2020 के स्पोर्ट्स डायरेक्टर कोजी मुरुफोशी के समक्ष रखे। कोजी हैमर थ्रो में जापान का प्रतिनिधित्व करते हुए विश्व और ओलम्पिक चैंपियन रह चुके है।

 Firstpost में प्रकाशित हुयी एक खबर के अनुसार कोजी ने बताया कि “सेलिंग, जुडो, टेनिस सहित आठ अन्य खेलों के अंतराष्ट्रीय संघों और ASOIF ने आगामी ओलम्पिक खेलों को लेकर कई प्रश्न रखे है, उन्होंने आवास, परिवहन, भोजन और खेलों के लिए काम आने वाले वेन्यू के उन्नयन एवं रखरखाव को लेकर सवाल पूछे है, इसके साथ ही उन्होंने खेलों के प्रसारण और ब्रांडिंग से सम्बन्ध में भी सवाल पूछे है।” कोजी ने माना है कि “टोक्यो 2020 जितना संभव हो उतना बजट कम कर रहा है। हमें यह पता लगाना होगा कि बजट का अनुकूलन करने के लिए अच्छा उपाय क्या है। और अंतर्राष्ट्रीय संघों के साथ विचार-विमर्श खोलने का यह एक अच्छा मौका है।”

 वर्ल्ड सेलिंग (World Sailing) के हेड एंडी हंट ने The Associated Press को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि “इस पर कोई शक नहीं है कि टोक्यो अब तक के सबसे सफल खेलों का आयोजन करेगा। लेकिन परिणामो को जाने बिना ही आयोजन समिति में उच्च स्तर पर बचत पर निर्णय लिए जा रहे हैं।”

 इसके साथ ही खेल संघों ने ब्रांडिंग और ‘खेलों के लुक’ पर होने वाले बजट में कटौती को लेकर चिंता व्यक्त की। अंतराष्ट्रीय जुडो महासंघ (International Judo Federation) की ऑफिशियल लेर्रिसा किस ने कहा कि “हम नहीं चाहते है कि जिस तरह की सस्ती दिखने वाली ब्रांडिंग हमे रिओ ओलम्पिक में मिली वह दोबारा मिले।”

 टोक्यो 2020 के प्रवक्ता मासा तकाया का कहना है कि “ऑपरेशन लागत बढ़ चुकी है और कही न कही इसका मुख्य कारण मौजूदा स्थानों का दोबारा उपयोग करने का निर्णय भी है, पहले नए स्टेडियम और अन्य स्थानों के निर्माण का निर्णय लिया गया था जिनमें से अधिकांशतः सरकारी खर्च पर बनाई गई होती। क्योंकि टोक्यो 2020 मौजूदा सुविधाओं के अधिकतम उपयोग को बढ़ावा दे रहा है, स्वाभाविक रूप से टोक्यो 2020 ओवरले और अस्थायी सुविधाओं की लागत को बढ़ा रहा है।”

 उन्होंने ने यह भी कहा कि ऑपरेशन लागत बजट में वृद्धि नहीं की जाएगी और सुझाव दिया गया कि कुछ कटौती अनिवार्य हैं।

 एंडी हंट ने कहा कि “संघों को कोई विशेष तामझाम नहीं चाहिए। हमे नहीं लगता कि हमने कुछ ज़्यादा पूछा है, यदि पर्याप्त चिकित्साऔर सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित नहीं किया जाता है और यदि कुछ गलत होता है तो आप बिल्कुल निश्चित हो सकते हैं जहां जिम्मेदारी किस पर आती है।”