मंगलवार, सितम्बर 29, 2020
होम एथलेटिक्स ओलंपिक पदक जीतने के लिए दुत्ती चंद की योजना तैयार

ओलंपिक पदक जीतने के लिए दुत्ती चंद की योजना तैयार

वर्ष 2018 में जकार्ता में हुए एशियन खेलों में 100 और 200 मीटर में पदक जीतकर देश का नाम रोशन करने वाली दुत्ती चंद से ओलंपिक में हिंदुस्तान को काफी उम्मीदें है। दुत्ती चंद भी इस बात को अच्छी तरह से समझती है कि 2020 टोक्यो ओलंपिक उनकी जिंदगी का सबसे अहम पड़ाव होगा जहां उन्हें अपना सबसे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की जरूरत है। हैदराबाद में पुलेला गोपींचद के अकादमी में ट्रेनिंग कर भारत के लिए विश्व स्तर पर तमाम पदक जीतने वाली दुत्ती चंद का पहला पड़ाव 2020 ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का है। इसके लिए दुत्ती अपने तकनीक में काफी सुधार कर भी रही है। साथ ही वह कई तरह के तरीके भी खोज रही है, जिससे वह अपने रफ्तार में और ज्यादा तेजी ला सकें।

 मार्च में पटियाला में फेडरेशन कप का आयोजन होना है। इसके बाद एशियन चैंपियनशिप में दुत्ती चंद को हिस्सा लेना है, जिसके लिए उन्हें अपनी तैयारियों को पुख्ता करना है। फ्लोरिडा के आईएमजी अकादमी से जुड़ने वाली दुत्ती इन दोनों टूर्नामेंट के बाद अमेरिका जाकर अपनी तकनीक में सुधार कर सकती है। कुछ समय पहले हैदराबाद के पुलेला गोपीचंद अकादमी में फ्लोरिडा अकादमी के कोच लॉरेन ने आकर दुत्ती चंद से बातचीत की थी। इस अकादमी में दुत्ती अपने कोच नागापुरी रमेश के साथ अभ्यास करती है।

 एक अंग्रेजी वेबसाइट से बात करते हुए दुत्ती ने कहा कि ‘अपने रेस के आखिरी 20 मीटर में मेरे रफ्तार में कुछ परेशानी आती है। जिससे मुझे फिनिश करने में दिक्कत होती है। कुछ चीजें ऐसी होती है, जिससे मुझे कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है और इससे मेरे रेस को शुरूआत और खत्म करने में समस्या आती है। कोच ने मुझे छोटे स्प्रिंट और लगभग एक कि.मी तक चलने की हिदायत दी है। इन सब की वजह से मै अपनी तकनीक और क्षमता में बढोत्तरी कर सकती हूं’।

जाहिर है दुत्ती चंद भारतीय खेल प्राधिकरण द्वारा निर्धारित टार्गेट ओलंपिक पोडियम की सूची में शामिल नहीं है। यह वो सूची है जिसमें खेल प्राधिकरण द्वारा उन खिलाड़ियों को शामिल किया गया है जिनसे भारत को 2020 टोक्यो ओलंपिक में जगह मिल सकती है। साफ है दुत्ती चंद के लिए यह वर्ष काफी अहम है, जहां वो पदक जीतकर अपने आत्मविश्वास में इजाफा कर सकती हैं। वहीं दुत्ती ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने के साथ अपनी तकनीक में भी सुधार करना चाहेगी।