शुक्रवार, फ़रवरी 26, 2021
होम एथलेटिक्स एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप : गोमती मरीमुथु और तजिंदर सिंह तूर ने जीते स्वर्ण पदक

एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप : गोमती मरीमुथु और तजिंदर सिंह तूर ने जीते स्वर्ण पदक

बढाकर दहाई के आंकड़े को छू लिया है। 
 
दूसरे दिन देश का सबसे पहला पदक महिलाओं की 400 मीटर हर्डल्स रेस में आया, सरिताबेन गायकवाड़ ने 
57.22 सेकण्ड्स में रेस पूरी करके कांस्य पदक जीता, वही उनकी साथी धावक अर्पिता मंजुनाथ 58.15 सेकण्ड्स 
के साथ छठे स्थान पे रही, स्वर्ण और रजत पदक विएतनाम और बहरीन की खिलाड़ियों ने हासिल किये। 
 
इसके थोड़ी देर बाद ही जबीर एम पी ने पुरुषो की 400 मीटर हर्डल्स फाइनल में 49.13 सेकण्ड्स में रेस पूरी 
करके दिन का दूसरा कांस्य पदक भारत के नाम किया। जबीर का यह अब तक का अपना सर्वश्रेष्ठ टाइमिंग था।  
 
इसी बीच पुरुषो की ट्रिपल जम्प फाइनल में युथ ओलिंपिक गेम्स के कांस्य पदक विजेता प्रवीण चितरावेल को अपनी 
पहली जम्प के बाद ही रिटायर्ड होना पड़ा, उनकी पहली जम्प Not Marked थी और इस तरह से उन्होंने 
प्रतियोगिता में 12वा स्थान मिला। कुछ खबरों के हिसाब से माना जा रहा है कि प्रवीण अपनी पहली जम्प के दौरान 
चोटिल हो गए थे। 
 
भारत को सबसे बड़ी निराशा पुरुषो की 400 मीटर फाइनल में मिली, जहा दोनों भारतीय खिलाडी पदक जितने में 
असमर्थ रहे। अरोकिया राजीव अपने पर्सनल बेस्ट टाइमिंग 45.37 सेकण्ड्स के साथ चौथे स्थान पर रहे, वही 
मुहम्मद अनस याहिया 46.10 सेकण्ड्स के साथ आखिरी (आठवे) स्थान पे रहे। 
 
पुरुषो की जेवलिन थ्रो फाइनल में शिवपाल सिंह ने नीरज चोपड़ा की कमी को ज़्यादा खलने नहीं दिया, अपने दूसरे 
ही प्रयास में शिवपाल ने पर्सनल बेस्ट 86.23 मीटर पर भाला फेंका जो की पदक हासिल करने के लिए काफी था, 
शिवपाल ने देश को दिन का सबसे पहला रजत पदक दिलाया। चीनी ताइपै के चेंग चाओ-त्सुन ने 86.72 मीटर के 
साथ स्वर्ण पदक जीता।
 
दिन की सबसे बढ़ी सफलता देश को महिलाओं के 800 मीटर फाइनल में मिली जब गोमती मरीमुथु ने अपने 
पर्सनल बेस्ट टाइमिंग 2.02.70 सेकंड के साथ देश को चैंपियनशिप में पहला स्वर्ण पदक दिलाया। आखिरी लैप 
तक 30 वर्षीय गोमती छठे स्थान पर चल रही थी, आखिरी लैप में उन्होंने अपनी गति को बढ़ाया और 200 मीटर 
शेष रहने तक उन्होंने वही तीसरे स्थान पर थी, लीड कर रही चीन की वांग चुनयू और कज़ाकस्तान की मार्गरिटा 
मुकाशेवा आखिरी के क्षणों में ढीली पड़ती दिखाई दी और फील्ड के बाहरी भाग में दौड़ते हुए गोमती ने इस बात का 
पूरा फायदा उठाते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया। गोमती ने इससे पूर्व 2013 और 2015 में सातवा और 
चौथा स्थान हासिल किया था। रेस के बाद गोमती ने कहा कि “जब तक मैंने फिनिश लाइन क्रॉस नहीं की तब तक 
मुझे यकीन ही नहीं हुआ कि मैंने चैंपियनशिप जीत ली है, आखिरी के 150 मीटर में बहुत ही कठिन कम्पटीशन 
था।” इसी के साथ गोमती ने आगामी विश्व चैंपियनशिप के लिए भी क्वालीफाई कर लिया है।  
 
पुरुषों कि 800 मीटर फाइनल में मोहम्मद अफसल 1.54.68 सेकण्ड्स के साथ सातवे स्थान पर रहे, पदक के 
प्रबल दावेदार जिनसन जॉनसन को 600 मीटर के बाद चोट की वजह से रेस से बाहर होना पड़ा, उन्हें  किस तरह 
की चोट लगी है और चोट कितनी गंभीर है इस बात की अभी तक कोई आधिकारिक सुचना नहीं मिली है, लेकिन 
कयास लगाए जा रहे है कि उन्हें हैमस्ट्रिंग इंजरी हुयी है।

चित्र : एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप

  इसी बीच तजिंदर सिंह तूर ने पुरुषों की शॉट पुट में अपने पहले ही प्रयास में 20.22 मीटर का सीजन बेस्ट थ्रो करके लीड बना ली और पदक के लिए अपनी दावेदारी मज़बूत कर ली, बाद में वो इससे बेहतर थ्रो नहीं कर सके, लेकिन स्वर्ण पदक अपने नाम ज़रूर कर लिया। चैंपियनशिप में यह भारत का दूसरा स्वर्ण पदक है। तजिंदर ने भी आगामी विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई कर लिया है।

 देश को दूसरी सबसे बड़ी निराशा महिलाओ की 100 मीटर फाइनल में लगी जब दुती चंद 11.44 सेकण्ड्स के साथ पाचवे स्थान पे रही, इससे पूर्व सेमीफइनल में दुती ने नए राष्टीर्य रिकॉर्ड के साथ 11.26 सेकण्ड्स का टाइम निकलते हुए फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था। दो दिन में दो बार राष्ट्रीय रिकॉर्ड ध्वस्त करने के बाद खेल प्रेमियों को दुती से बहुत उम्मीदे थी, लेकिन फाइनल में वो अपना प्रदर्शन दोहरा नहीं पायी और उन्हें बिना पदक के संतोष करना पड़ेगा।

 महिलाओ कि हेप्टाथलान स्पर्धा में एशियाई खेलो कि स्वर्ण पदक विजेता स्वप्ना बर्मन 4 इवेंट्स पुरे हो जाने के बाद 3521 पॉइंट्स के साथ तीसरे स्थान पे है, वही उनकी साथी खिलाडी पूर्णिमा हेम्ब्रम 3308 पॉइंट्स के साथ पाचवे स्थान पर है।

 भारत पदक तालिका में 2 स्वर्ण, 3 रजत एवं 5 कांस्य पदको के साथ तीसरे स्थान पर है, चीन ने 4 स्वर्ण, 6 रजत और 5 कांस्य पदक के साथ शीर्ष स्थान पर है, बहरीन 4 स्वर्ण और 5 रजत पदको के साथ दूसरे स्थान पर है।