शुक्रवार, फ़रवरी 26, 2021
होम ताज़ा ख़बर इंटर कॉन्टिनेंटल कप: उत्तरी कोरिया से हारकर भारतीय टीम फाइनल से लगभग...

इंटर कॉन्टिनेंटल कप: उत्तरी कोरिया से हारकर भारतीय टीम फाइनल से लगभग बाहर

हीरो इंटर कॉन्टिनेंटल कप 2019 के दूसरे मैच में भारत को उत्तरी कोरिया से 5-2 से हार मिली है और इसी हार के साथ भारत का फाइनल में पहुंचना लगभग नामुमकिन है। कोच इगोर स्टीमक ने ताजीकिस्तान के खिलाफ खेले नौ खिलाड़ियों, गुरप्रीत सिंह संधू, नरेंदर गेहलोत, आदिल खान, राहुल भेके, मंदार देसाई, अनिरुद्ध थापा, सहल अब्दुल, उदांता सिंह और लालिजुआला चांगते को बेंच पर बैठाये रखा और इनकी जगह अमरिंदर सिंह, प्रीतम कोटाल, सन्देश झिंगन, सुभाशीष बोस, जेरी लॉरिन्ज़ुएला, ब्रैंडन फर्नांडेज, रौलीन बोर्गेस, मनवीर सिंह और जोबी जस्टिन को प्लेइंग XI में शामिल किया गया।

अपना-अपना पहला मुक़ाबला हार चुकी दोनों ही टीमों को जीत की तलाश थी। मैच के शुरुआती मिनट में जोबी और मनवीर ने एक अच्छा हमला किया लेकिन, मनवीर का सुनील छेत्री को दिया पास बिच में ही कोरियाई डिफेंस ने रोक लिया। चौथे मिनट में अमरजीत के कोरियाई खिलाडी को गिराने की वजह से कोरिया को एक फ्री हिट मिली लेकिन भारत के लिए कोई खतरा नहीं बना। कोरिया ने भारत पर अपने हमले लगातार बनाये रखे और सातवे मिनट में अमरजीत ने फिर से कोरियाई खिलाडी के खिलाफ फ़ाउल किया और कोरिया को दोबारा फ्री हिट मिली, इस बार जोंग एल ग्वान ने बिना कोई गलती के गोल करके आठवे मिनट में कोरिया का खाता खोला। ग्याहरवे मिनट में भारत के पास बराबरी का एक अच्छा मौका था लेकिन ब्रैंडन के पास पर छेत्री का हैडर गोल पोस्ट से दूर गया। भारत की डिफेंस में लगातार कमी दिखाई दी और 16वे मिनट में री उन चोल ने सन्देश झिंगन को छकाते हुए आगे खड़े सिम ह्यों जिन को पास किया और सिम ह्यों ने बिना गलती के स्कोर लाइन को 2-0 से कोरिया के पक्ष में कर दिया, 24वे मिनट में कोरिया के पास गोल करने का अच्छा मौका था लेकिन गोलकीपर अमरिंदर सिंह ने अपनी सूझभूझ से बॉल को बाहर कर दिया। 29वे मिनट में पाक संग ने बॉक्स के अंदर खड़े जोंग के लिए शानदार पास दिया और जोंग ने जेरी लॉरिन्ज़ुएला को मात देते हुए अपना दूसरा गोल किया। 37वे मिनट में सन्देश झिंगन को चोट की वजह से मैदान छोड़ना पड़ा और उनकी जगह आदिल को लाया गया। इसके बाद भी कोरिया के हमले लगातार बढ़ते रहे लेकिन वो पहले हाफ में कोई और गोल करने से चूक गए।

दूसरे हाफ के शुरू होते ही कोच इगोर ने उदांता और लालिजुआला को मनिवर और ब्रैंडन की जगह मैदान में उतारा लेकिन फिर भी भारत का संघर्ष जारी ही रहा, 49वे मिनट में रौलीन, उदांता और लालिजुआला ने एक अच्छा हमला किया लेकिन उदांता के क्रॉस पर रौलीन असमंजस स्थिति में दिखे और गोल की तरफ शॉट नहीं लगा पाए, जिसके बाद उन्होंने छेत्री को पास दिया लेकिन तब तक छेत्री के पास कोई मौका नहीं बचा था। 50वे मिनट में लालिजुआला ने छेत्री के साथ जुगलबंदी करते हुए भारत के लिए मैच में पहला गोल दागा। 54वे मिनट में जोबी जस्टिन की जगह अनिरुद्ध थापा को टीम में लाया गया। री उन चोल ने सोंग और जोंग के साथ एक शानदार  हमला करते हुए कोरिया की भारत पर 4-1 की बढ़त बना दी। 69वे मिनट में राहुल और सहल को सुभाशीष और रौलीन की जगह लाया गया, सहल ने अपनी उपस्थिति का एहसास करवाते हुए उदांता को एक लॉन्ग पास दिया, उदांता ने सुनील छेत्री को क्रॉस दिया और सुनील छेत्री ने 71वे मिनट में अपने करियर का 71वा अंतर्राष्ट्रीय गोल किया। भारतीय टीम पहले हाफ की तुलना में संतुलित दिखाई दी लेकिन जीत उनके हाथो से पूर्णतः बाहर थी, इंजरी टाइम में री ह्योंग जिन ने सीधे गोल पोस्ट की तरफ शॉट लगाया जिसे पहले तो अमरिंदर ने रोक लिया लेकिन रिबाउंड को रोकने वो असमर्थ रहे। मैच को कोरिया ने 5-2 से अपने नाम करके टूर्नामेंट में अपनी पहली जीत दर्ज़ की।

भारत का लचर डिफेंस कोच इगोर की सबसे बड़ी परेशानी बना हुआ है, भारत का फाइनल के लिए क्वालीफाई करना लगभग असंभव है। मैच के बाद कोच इगोर ने कहा कि “दूसरे हाफ में टीम ने साहस और आत्मविश्वास का प्रदर्शन दिखाया। दूसरे हाफ के बाद हम सर उठा कर मैदान से बाहर आये। जब हम दूसरे हाफ में खेलने गए तो हमारे पास साहस और आत्मविश्वास था। पहले हाफ में हमने बिना साहस और आत्मविश्वास के खेले। मैंने खिलाड़ियों को भारत के लिए खेलने का मौका दिया और उन्हें अपने फुटबॉल के खेल का आनंद लेने के लिए कहा। लेकिन मैंने यह भी कहा कि अगर आप हिम्मत नहीं दिखाते हैं, और लड़ते हैं तो आप जीत नहीं सकते। दूसरे हाफ में हमने जिम्मेदारी लेनी शुरू कर दी, और मौके बनाए। हम उनके लक्ष्य के सामने खतरनाक थे। लेकिन एक जैसा खेल को रखना मुश्किल था,और इसकी वजह से हम लगातार ऊपर और नीचे होते रहे। लेकिन मुझे उनके खेलने के तरीके पर गर्व है।”

भारतीय टीम अब अपना अंतिम ग्रुप मैच सीरिया के खिलाफ 16 जुलाई को खेलेगा।