Begin typing your search above and press return to search.

भारोत्तोलन

पेरिस ओलंपिक के लिए जेरेमी लालरिनुंगा बढ़ाएंगे अपना वजन, 73 किग्रा भारवर्ग में अचिंता को देंगे चुनौती

पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए क्वालीफिकेशन स्थान पक्का करने के लिए दोनों के बीच कड़ी टक्कर होगी। नियम के अनुसार एक वजन वर्ग में प्रत्येक देश से एक ही भारोत्तोलक को अनुमति दी जा सकती है।

पेरिस ओलंपिक के लिए जेरेमी लालरिनुंगा बढ़ाएंगे अपना वजन, 73 किग्रा भारवर्ग में अचिंता को देंगे चुनौती
X
By

Pratyaksha Asthana

Updated: 2022-08-24T18:15:05+05:30

बर्मिंघम में हुए 22वें राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण जीतकर देश का मान बढ़ाने वाले जेरेमी लालरिनुंगा को पेरिस ओलंपिक में जीतने के लिए वजन बढ़ाने की जरूरत हैं। राष्ट्रमंडल खेलों में जेरेमी ने 67 किग्रा भारवर्ग में शानदार प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण जीता था। लेकिन 2024 में होने वाले पेरिस ओलंपिक में 67 किग्रा भारवर्ग को हटा दिया हैं। जिस कारण जेरेमी को 73 किग्रा भारवर्ग में चुनौती पेश करनी होगी। जिसके लिए उन्हें अपना वजन भी बहाना पड़ेगा।

खास बात है कि जेरेमी ओलंपिक के लिए 73 भार वर्ग में राष्ट्रमंडल खेलों के एक और स्वर्ण पदक विजेता और उनके दोस्त अचिंता शेउली के सामने होंगे।

हाल ही में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में शेउली ने 73 किग्रा वजन वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व किया था और सोना अपने नाम किया था।

अब पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए क्वालीफिकेशन स्थान पक्का करने के लिए दोनों के बीच कड़ी टक्कर होगी। नियम के अनुसार एक वजन वर्ग में प्रत्येक देश से एक ही भारोत्तोलक को अनुमति दी जा सकती है।

बता दें जेरेमी इस समय साढ़े तीन हफ्ते के लिए अमेरिका के सेंट लुई में 'स्ट्रेंथ एवं कंडिशनिंग ट्रेनिंग' शिविर में हैं। उन्होंने कहा, "मैं अपना वजन 73 किग्रा तक बढ़ाऊंगा।" जेरेमी ने कहा कि मेरा सामान्य वजन 65 किग्रा है, इसलिए अपने शरीर का वजन बढ़ाना मुश्किल होगा।

यह पहली बार नहीं है जब जेरेमी को अपना वजन बढ़ाना पड़ेगा, इससे पहले ब्यूनर्स आयर्स में 62 किग्रा वर्ग में 2018 युवा ओलंपिक स्वर्ण पदक जीता था। इसके बाद वह आईडब्ल्यूएफ द्वारा तब लाए गए नए ओलंपिक वजन वर्ग में हिस्सा लेने के लिए 67 किग्रा में खेलने लगे। हालांकि उन्हें पिछले दो वर्षों में वजन बढ़ाने में काफी मुश्किल हुई है।

इस बार पर मुख्य कोच विजय शर्मा ने कहा कि दोनों भारोत्तोलक एक दूसरे को बेहतर करने के लिए प्रेरित करेंगे। शर्मा ने कहा कि यह अच्छा है कि जेरेमी और अचिंता एक ही वजन वर्ग में होंगे। दोनों भारोत्तोलकों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होगी, वरना वे चीजों को हल्के में ले सकते थे।

अपने वजन बढ़ाने को लेकर जेरेमी ने कहा, "मेरा वजन बढ़ नहीं रहा है। मैं 2019 से वजन बढ़ाने की कोशिश कर रहा हूं कि इसे 70 किग्रा तक पहुंचा लूं। मेरी खुराक और 'सप्लीमेंट' बदल जायेंगे। ट्रेनिंग भी थोड़ी अलग होगी।" उन्होंने कहा कि एशियाई खेल और विश्व चैम्पियनशिप में 67 किग्रा वर्ग शामिल है लेकिन उनका लक्ष्य पेरिस ओलंपिक है।

Next Story
Share it