Begin typing your search above and press return to search.

भारोत्तोलन

पूर्व विश्व चैम्पियन मीराबाई चानू ओलंपिक क्वालिफिकेशन रैंकिंग में आठवें स्थान पर

पूर्व विश्व चैम्पियन मीराबाई चानू ओलंपिक क्वालिफिकेशन रैंकिंग में आठवें स्थान पर
X
By

Ankit Pasbola

Updated: 2022-04-18T01:47:39+05:30

भारतीय दिग्गज वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने ओलंपिक क्वालिफिकेशन की ताजा रैंकिंग में अपना आठवां स्थान बरकरार रखा है। गुरुवार को अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ (आईडब्लूएफ) ने रैंकिंग जारी की, जिसमें चानू 2966.6406 रैंकिंग अंको के साथ आठवें स्थान पर रही। पूर्व विश्व चैंपियन मीराबाई ने कई प्रतियोगिताओं में हिस्सा नहीं लिया जिसका प्रभाव उनकी इस रैंकिंग में पड़ा है।

राष्ट्रीय कोच विजय शर्मा ने पीटीआई से कहा, "रैंकिंग अंक एक भारोत्तोलक के टूर्नामेंट की संख्या के आधार पर मिलते हैं और मीराबाई कुछ स्पर्धाओं से हट चुकी हैं जिसमें वह पीठ की चोट के कारण 2018 में विश्व चैम्पियनशिप में नहीं खेल पाई थीं।"

राष्ट्रीय कोच ने यह स्पष्ट करते हुए कहा कि मीराबाई की यह आठवीं रैंकिंग कोई समस्या नहीं है। विजय शर्मा ने आगे कहा, "लेकिन अभी आठवें स्थान पर रहना कोई समस्या नहीं है क्योंकि अंतिम रैंकिंग अप्रैल में बनायी जायेगी और सर्वश्रेष्ठ नतीजे शामिल किये जायेंगे।"

हाल ही में मीराबाई चानू ने छठे कतर इंटरनेशनल कप में महिला के 49 किग्रा. भारवर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर भारत का खाता खोला था। 25 वर्षीय चानू ने ओलिंपिक क्वालीफाइंग सिल्वर लेवल इवेंट में कुल 194 किग्रा वजन उठाकर ये उपलब्धि हासिल की थी। उन्होंने स्नैच में 83 और क्लीन एंड जर्क में 111 किग्रा वजन उठाया।

यह भी पढ़ें :कतर इंटरनेशनल कप:वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने जीता गोल्ड, जेरेमी ने जीता सिल्वर

पुरूषों के 67 किग्रा वर्ग में युवा ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता जेरेमी लालरिनुगा 2,310.9653 अंक से 32वें स्थान पर हैं। जेरेमी ने हाल ही में कतर इंटरनेशनल में शानदार प्रदर्शन करते हुए रजत पदक हासिल किया था। उन्होंने स्नैच में 140 और क्लीन एंड जर्क में 166 किग्रा समेत कुल 306 किग्रा वजन उठाया था।

टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालीफाई करने के लिए किसी वेटलिफ्टर के लिए नवंबर 2018 से अप्रैल 2020 तक के बीच छह महीने की तीन अवधियों में प्रत्येक में कम से कम एक और कुल छह इवेंट में हिस्सा लेना अनिवार्य है। इसके अलावा प्रतिभागी को कम से कम एक गोल्ड और एक सिल्वर स्तर की स्पर्धा में हिस्सा लेना होगा।

Next Story
Share it