Begin typing your search above and press return to search.

टेनिस

गुड़गांव सैफायर्स ने पैरामाउंट प्रोएक टाइगर्स को हराकर जीता प्रो टेनिस लीग के चौथे सीजन का खिताब

गुड़गांव सैफायर्स ने मेरठ स्टैग बाबोलाट योद्धास और पैरामाउंट प्रोएक टाइगर्स को फाइनल लेग में हराकर प्रो टेनिस लीग का चौथा सीजन अपने नाम किया

Gurgaon Sapphires
X

गुड़गांव सैफायर्स

By

Bikash Chand Katoch

Updated: 2022-12-05T17:14:00+05:30

नई दिल्ली के आरके खन्ना स्टेडियम में रविवार को गुड़गांव सैफायर्स ने प्रो टेनिस लीग (पीटीएल) के चौथे संस्करण का चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया। गुड़गांव सैफायर्स इस जीत के साथ यह प्रतिष्ठित ट्रॉफी जीतने वाले मेरठ स्टैग बाबोलट योद्धास, प्रोवेरी सुपर स्मैशर्स और टीम रेडिएंट के साथ विजेताओं की फेहरिस्त में शामिल हो गई।

गुड़गांव सैफायर्स ने फाइनल में पैरामाउंट प्रोएक टाइगर्स को 93-72 के अंतर से हराया। निर्णायक पुरुष युगल मुकाबले से पहले उसे चैंपियन बनने के लिए केवल छह अंकों की आवश्यकता थी। इससे पहले, इस टीम ने सेमीफाइनल में मेरठ स्टैग बाबोलट योद्धास को 93-82 से हराया था। इस बीच, पैरामाउंट प्रोएक टाइगर्स ने डीएमजी दिल्ली क्रूसेडर्स को 92-93 के न्यूनतम अंतर से हराकर फाइनल में खेलने का हक हासिल किया था।

गुड़गांव सैफायर्स, जिसने सिर्फ दो अंकों के अंतर से प्रतियोगिता के दूसरे चरण में जगह बनाई थी, हर शॉट का महत्व जानता था। और खिताबी मुकाबले में भी ऐसा ही हुआ था।

ट्यूनीशिया के मालेक जाजीरी ने बेहतरीन टेनिस का मुजायरा पेश करते हुए पुरुष एकल मैच में करण सिंह को 19-11 से हराया। इसके बाद फैसल कमर और नितिन के सिन्हा की जोड़ी ने विष्णु वर्धन और शिवांग भटनागर के सामने बेहतरीन खेल दिखाते हुए 7-13 से मैच अपने नाम किया।

इसका मतलब था कि सैफायर्स को ट्रॉफी पर कब्जा जमाने के लिए अपने अंतिम मैच से सिर्फ छह अंकों की जरूरत थी। यह एक पुरुष युगल मैच था। मालेक जाजिरी और वीएम रंजीत की टीम ने बड़ी आसानी से विष्णु वर्धन और करण सिंह की चुनौती को खत्म करते हुए अपनी टीम को चैंपियन बना दिया।

उनसे पहले हालांकि सैफायर्स की महिला खिलाड़ी महिका खन्ना (नेक्स्ट जेन), शर्मादा बालू (महिला एकल) और शर्मदा बालू और माहिका खन्ना (महिला युगल जोड़ी) ने क्रमशः 8-7, 13-7 और 9-6 के अंतर की जीत के साथ अपनी टीम के प्रभुत्व को कायम रखा।

मैच के बाद जाजीरी ने कहा, "पीटीएल जीतने की बेहद खुशी है। हमारी टीम ने अपना काम बखूबी किया। टीम में सभी ने अपनी भूमिका के साथ न्याय किया। इस टूर्नामेंट के आयोजन के लिए आदि (आदित्य खन्ना) और आशीष (खन्ना) ने शानदार काम किया और मैं भारत आकर खुश हूं। शर्मादा (बालू) ने आज बहुत अच्छा खेल दिखाया। खेले तो सभी अच्छा और यही कारण है कि हम जीत सके।"

पैरामाउंट प्रोएक टाइगर्स के सह-मालिक मानव मोदी ने गुड़गांव सैफायर्स में महिला खिलाड़ियों के महत्व को उजागर किया, जिन्होंने अपने प्रयासों से फाइनल का मार्ग प्रशस्त किया था। बेदी ने कहा, "यह अविश्वसनीय था। इस टीम के लिए पहला साल और तथ्य यह है कि हम इस साल फाइनल तक पहुंच गए। यह एक अविश्वसनीय उपलब्धि है। सेमीफाइनल एक नेलबाइटर था और वह अविश्वसनीय था। फाइनल में, हम सैफायर्स से हार गए क्योंकि यह टीम बहुत अच्छा खेली। उनकी महिला टीम बहुत मजबूत थी और इसने उनके लिए खेल का पूरा समीकरण बदल दिया।"

बेदी ने लीग के महत्व के बारे में कहा, "अगर आप फॉर्मेट देखें तो अगली पीढ़ी के खिलाड़ियों को शीर्ष स्तर पर खेलने का मौका मिल रहा है और यह उनके लिए अपनी प्रतिभा दिखाने का शानदार मौका है।"

प्रो टेनिस लीग के बारे में:

प्रो टेनिस लीग भारत की सबसे लोकप्रिय स्पोर्ट्स लीग्स में से एक है। 2018 में स्थापित, भारत की सबसे बड़ी टेनिस लीग हर साल भारत की राजधानी नई दिल्ली में सर्दियों में आयोजित होती है। देश के कुछ शीर्ष खिलाड़ियों को इसके लिए शामिल करने के अलावा, पीटीएल जूनियर और भावी खिलाड़ियों को खेलने और अपनी प्रतिभा दिखाने और अनुभवी खिलाड़ियों से सीखने का अवसर भी प्रदान करता है।

Next Story
Share it