Begin typing your search above and press return to search.

टेनिस

लिएंडर पेस डेविस कप टीम में बरकरार, दिविज शरण रिजर्व खिलाड़ी होंगे

लिएंडर पेस डेविस कप टीम में बरकरार, दिविज शरण रिजर्व खिलाड़ी होंगे
X
By

Press Trust of India

Updated: 2022-04-30T01:15:07+05:30

अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) की चयन समिति ने क्रोएशिया के खिलाफ आगामी डेविस कप मुकाबले के लिए मंगलवार को घोषित पांच सदस्यीय टीम में अनुभवी लिएंडर पेस को बरकरार रखा है। इसके अलावा दिविज शरण टीम के रिजर्व खिलाड़ी होंगे। एआईटीए ने मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) को भारतीय टीम की अंतिम सूची भेज दी। क्वालीफायर्स ग्रुप के ये मुकाबले छह और सात मार्च को खेले जाएंगे।

भारतीय टीम अभी 24 देशों के क्वालीफायर्स ग्रुप में है जहां क्रोएशिया शीर्ष वरीयता प्राप्त टीम है। क्वालीफायर्स ग्रुप की 12 विजेता टीमें इस साल के आखिर में होने वाले डेविस कप फाइनल्स के लिए क्वालीफाई करेंगी जबकि हारने वाली टीमों को विश्व ग्रुप एक में रखा जाएगा। एआईटीए के एक सूत्र ने बताया, ''हमने अपनी अंतिम टीम की सूची आईटीएफ को भेज दी है। टीम का रिजर्व खिलाड़ी तय करने के लिए कप्तान रोहित राजपाल ने सभी खिलाड़ियों से बात की है। उन्होंने शरण से भी बात कर उन्हें बताया कि वह टीम के छठे खिलाड़ी होंगे।''

सुमित नागल, प्रजनेश गुणेश्वरन और रामकुमार रामनाथन टीम में एकल खिलाड़ी हैं जबकि पेस और रोहन बोपन्ना युगल खिलाड़ी की भूमिका निभाएंगे। बोपन्ना चोट का हवाला देते हुए पाकिस्तान के खिलाफ पिछले मुकाबले से हट गये थे जबकि शरण उस समय अपने शादी के रिसेप्शन में व्यस्त थे। कजाकिस्तान के नूर सुल्तान में आयोजित इस मुकाबले में पेस और जीवन नेदुनचेझियान ने भारत का प्रतिनिधित्व किया था।

कप्तान राजपाल ने पीटीआई से कहा, '' हमने अपने विकल्प खुले रखे हैं। कोच जीशान और मैं सभी संयोजन को आजमाएंगे। शरण भी इसमें शामिल हैं।'' राजपाल ने कहा, '' पेस ने इस सत्र में अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने टाटा ओपन महाराष्ट्र में शरण को हराया था। वह बेंगलुरु ओपन चैलेंजर के फाइनल में भी पहुंचे। वह अच्छी लय में हैं। इसके साथ ही 2020 उनका आखिरी सत्र है। देश की 30 साल तक सेवा करने के कारण वह सर्वोच्च सम्मान के हकदार हैं। टीम की भी सोच ऐसी ही है।'' यह सिर्फ दूसरी बार होगा जब भारतीय टीम डेविस कप में क्रोएशिया का सामना करेगी। पिछली बार दोनों टीमों का सामना 1995 में दिल्ली में हुआ था जब भारतीय टीम ने 3-2 से जीत दर्ज की थी। पेस ने उस मुकाबले में एकल और महेश भूपति के साथ युगल में जीत दर्ज की थी।

क्रोएशिया की टीम में एटीपी रैंकिंग में शीर्ष 50 में शामिल दो खिलाड़ी हैं। बोर्ना कोरिच 26वें जबकि अनुभवी मारिन सिलिच 36वें पायदान पर हैं। यह देखना दिलचस्प होगा की सिलिच को भारत के खिलाफ मुकाबले के लिए टीम में जगह मिलती है या नहीं। वह नवंबर 2019 में हुए फाइनल्स में नहीं खेले थे जहां टीम को स्पेन और रूस के खिलाफ ग्रुप मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था।

Next Story
Share it