Begin typing your search above and press return to search.

टेनिस

डेविस कप: क्वालीफायर में शीर्ष वरीय क्रोएशिया से 0-2 से पिछड़ा भारत

डेविस कप: क्वालीफायर में शीर्ष वरीय क्रोएशिया से 0-2 से पिछड़ा भारत
X
By

Press Trust of India

Updated: 2022-04-22T01:05:30+05:30

भारत डेविस कप टेनिस क्वालीफायर में शीर्ष वरीय क्रोएशिया से 0-2 से पिछड़ गया है। प्रजनेश गुणेश्वरन को शुक्रवार को बोर्ना गोजो से हार का सामना करना पड़ा और रामकुमार रामनाथन भी दुनिया के 37वें नंबर के खिलाड़ी मारिन सिलिच से हार गए। रामकुमार ने निडर होकर खेला और उनका मुकाबला करने के लिए सिलिच को भी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना पड़ा। रामकुमार भले हार गए लेकिन उन्होंने प्रतिद्वंद्वी को कड़ी टक्कर देकर यह साबित कर दिया कि कप्तान रोहित राजपाल का उनमें भरोसा गलत नहीं था। डेविस कप फाइनल्स में जगह बनाने के लिए शनिवार को भारत को बाकी के सभी तीन मैच जीतने होंगे।

प्रजनेश को अनफोर्स्ड गलतियों का खामियाजा भुगतना पड़ा जिससे वह विपक्षी टीम की कमजोर कड़ी समझे जा रहे गोजो से एक घंटे 57 मिनट में 6-3 4-6 2-6 से हार गये। क्रोएशिया के 277वीं रैंकिंग पर काबिज इस युवा ने इससे पहले डेविस कप में एक भी एकल मुकाबला नहीं जीता था और भारत को उम्मीद थी ऐसा जारी रहेगा लेकिन उसकी गोजो को निशाना बनाने की रणनीति विफल रही। गोजो ने मुकाबले के दौरान दबाव का सामना बेहतर तरीके से किया और भारतीय खिलाड़ी के बैकहैंड का जवाब शानदार तरीके से दिया। प्रजनेश को मैच के पहले गेम में ब्रेक करने का मौका मिला था लेकिन गोजो ने ऐस लगाकर इसे बचा लिया। गोजो ने लगातार इस भारतीय के बैकहैंड को हिट किया। प्रजनेश को पांचवें गेम में ब्रेक करने के दो मौके और मिले लेकिन वे इनमें से किसी को भी अंक नहीं बदल सके। लेकिन सातवें गेम में प्रजनेश को सफलता मिली जब क्रोएशियाई खिलाड़ी ने लंबा फारहैंड शाट लगाया।

इसके बाद भारतीय खिलाड़ी ने शानदार डिफेंस दिखाया जिससे लंबी रैलियां चली और यह उनके पक्ष में रही। गोजो को अनफोर्स्ड गलती का नुकसान हुआ जिससे प्रजनेश ने पहला सेट 39 मिनट में अपने नाम कर लिया। दूसरे सेट में प्रजनेश ने आक्रामक खेलना शुरू किया और इस प्रक्रिया में उन्हें पहले ही गेम में छह ब्रेक प्वाइंट का सामना करना पड़ा जो 11 मिनट तक चला। बायें हाथ के इस खिलाड़ी ने पांच को बचा लिया लेकिन गोजो ने अंत में बैकहैंड वॉली विनर जमाया। प्रजनेश को मौके मिले लेकिन वे इन्हें गंवा बैठे। गोजो ने अपनी गलतियों पर लगाम लगायी जिसका उन्हें फायदा मिला। जल्द ही गोजो ने 5-3 से बढ़त बना ली और आसानी से अपनी सर्विस पर वॉली विनर से सेट अपने नाम कर लिया। प्रजनेश इसके बाद वापसी नहीं कर सके और गोजो ने तीसरा सेट भी अपने नाम कर लिया। जीत के बाद कूदते हुए कोर्ट से बाहर निकले।

Next Story
Share it