Begin typing your search above and press return to search.

टेबल टेनिस

मनिका बत्रा: देश को विश्व में सम्मान दिलाने वाली टेबल टेनिस खिलाड़ी

मनिका बत्रा ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए एशियन कप टेबल टेनिस में कांस्य पदक अपने नाम किया हैं

मनिका बत्रा: देश को विश्व में सम्मान दिलाने वाली टेबल टेनिस खिलाड़ी
X
By

Pratyaksha Asthana

Updated: 2022-11-20T13:55:36+05:30

टेबल टेनिस के खेल में अपना ऊंचा नाम कर चुकी भारत की स्टार टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा ने एक और कारनामा कर दिखाया हैं। मनिका बत्रा ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए एशियन कप टेबल टेनिस में कांस्य पदक अपने नाम किया हैं, खास बात है कि मनिका ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं।

थाईलैंड में आयोजित इस स्पर्धा के सेमीफाइनल मुकाबले में मनिका को हार का सामना करना है, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और कांस्य पदक के मुकाबले में जापान की हीना हयाता को हराकर पदक हासिल करते हुए भारत की पहली महिला खिलाड़ी बन गई।

मनिका से पहले भारत की तरफ से एशियन कप टेबल टेनिस प्रतियोगिता के पुरुष वर्ग में चेतन बबूर ने पदक दिलाया था। बबूर वर्ष 1997 में पुरुष एकल के फाइनल तक पहुंचे थे, जहां उन्होंने रजत पदक जीता था। जिसके बाद साल 2000 में चेतन ने एक बार फिर कांस्य पदक जीतकर भारत की झोली में एक और पदक डाल दिया।

पंद्रह जून 1995 को दिल्ली में जन्मी मनिका बत्रा तीन भाई-बहनों में सबसे छोटी हैं। बड़ी बहन आंचल और भाई साहिल टेबल टेनिस खेला करते थे और उन्हीं को खेलता देखकर नन्ही मनिका ने भी चार साल की उम्र से ही टेबल टेनिस खेलना शुरू कर दिया। उनके खेल में भविष्य की एक प्रतिभावान खिलाड़ी की झलक देखकर उन्हें बहुत कम उम्र में ही टेबल टेनिस का बाकायदा प्रशिक्षण दिलाने का फैसला किया गया।

बेहद खूबसूरत मनिका को किशोरावस्था में ही मॉडलिंग के कई प्रस्ताव मिले, लेकिन उन्होंने हमेशा टेबल टेनिस को महत्व दिया और यहां तक कि उन्हें खेल पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित करने के लिए अपनी पढ़ाई भी बीच में ही छोड़ देनी पड़ी।

गौरतलब है कि देश की खूबसूरत और प्रतिभाशाली खिलाड़ी को 2020 में देश के सबसे बड़े खेल सम्मान मेजर ध्यान चंद खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया। ओलंपिक खेलों में देश का प्रतिनिधित्व कर चुकी 27 साल की मनिका विश्व में 44वें नंबर की खिलाड़ी हैं। ऐसे में बहुत मुमकिन है कि वह आने वाले दिनों में अन्य विश्व प्रतियोगिताओं में देश को स्वर्णिम सफलता दिलाएं।

Next Story
Share it