Begin typing your search above and press return to search.

टेबल टेनिस

Asian Cup: मनिका बत्रा ने रचा इतिहास, कांस्य पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनीं

उन्होंने कांस्य पदक मैच में जापान की हिना हयाता को 4-2 से हराया

Manika Batra Table Tennis
X

मनिका बत्रा

By

Bikash Chand Katoch

Updated: 2022-11-19T19:21:06+05:30

एशिया कप टेबल टेनिस में देश की नंबर एक महिला टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा ने इतिहास रचते हुए कांस्य पदक अपने नाम कर लिया है। उन्होंने कांस्य पदक मैच में जापान की हिना हयाता को 11-6, 6-11, 11-7, 12-10, 4-11, 11-2 (4-2) से हराया। हिना हयाता की विश्व रैंकिंग छह है। इस दिग्गज को खिलाड़ी को हराकर मनिका ने देश का नाम रोशन किया।

मनिका एक करोड़ 63 लाख रुपये की इनामी राशि वाले इस टूर्नामेंट के अंतिम चार में पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला थीं। उन्हें सेमीफाइनल मैच में चौथी वरीय जापान की मीमा इतो ने हराया था। गैर वरीयता प्राप्त मनिका इस महाद्वीपीय टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में दुनिया की पांचवें नंबर की खिलाड़ी से हारी थीं। मीमा इतो ने उन्हें 8-11, 11-7, 7-11, 6-11, 11-8, 7-11 (2-4) से हराया था।

भारतीय पैडलर ने चीन की वर्ल्ड नंबर 7 चेन जिंगटोंग के खिलाफ शानदार जीत दर्ज कर टूर्नामेंट की शुरुआत की। इसके बाद उन्होंने शुक्रवार को दुनिया की 23वें नंबर की चेन जू यू को बड़े मुकाबले में 4-3 से हराया।

39 साल के टूर्नामेंट के इतिहास में वह पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला और चेतन बबूर के बाद दूसरी भारतीय बनीं। पूर्व पुरुष एकल खिलाड़ी चेतन बबूर एशियाई कप में पदक जीतने वाले एकमात्र भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी हैं। उन्होंने 1997 में रजत और 2000 में कांस्य पदक जीता था। मनिका का भी नाम इस सूची में शामिल हो गया।

टूर्नामेंट में एशिया के शीर्ष 16-16 खिलाडी विश्व रैंकिंग और क्वालिफिकेशन के आधार पर खेलते हैं।

इस जीत के बाद मनिका बत्रा ने कहा कि मैं एशियाई कप में कांस्य पदक जीतकर खुश हूं। यह मेरे लिए एक बड़ी जीत है, शीर्ष खिलाड़ियों को हराना और उनके खिलाफ खेलना और मुकाबला करना बहुत शानदार था। मैं आगे कड़ी मेहनत जारी रखूंगी और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगी।

Next Story
Share it