रविवार, जनवरी 17, 2021
होम ताज़ा ख़बर कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत को खेलते देखना चाहते हैं ब्रिटिश खेल...

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत को खेलते देखना चाहते हैं ब्रिटिश खेल मंत्री

इंग्लैंड में होने वाले 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स से निशानेबाज़ी को बाहर करने के बाद भारत ने निराशा जताई है और इसका बहिष्कार करने का मन बना रहा है। ग़ौरतलब है कि इंग्लैंज के बर्मिंघम में होने वाले 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स में शिरकत करेगा या नहीं इसको लेकर भारतीय ओलंपिक संघ (IOA) जल्द ही इस पर फ़ैसला लेने वाला है।

भारत के बहिष्कार के आसार को देखते हुए इंग्लैंड के खेल मंत्री नाइजेल एडम्स ने चिंता जताई और उन्होंने इसके लिए कॉमनवेल्थ गेम्स फ़ेडरेशन (CGF) को कोई रास्ता निकालने का सुझाव दिया है।

‘’हम चाहते हैं कि भारत हर हाल में खेले, न खेलने का कोई सवाल ही नहीं है। मैं अच्छी तरह जानता हूं कि कॉमनवेल्थ गेम्स में शूटिंग को लेकर किस तरह लोगों की दिवानगी है। मैंने इसी को देखते हुए कॉमनवेल्थ गेम्स फ़ेडरेशन को चिट्ठी लिखकर कहा है कि इसका कोई हल निकालिए और अगर किसी भी तरह शूटिंग को शामिल कर सकते हैं तो ज़रूर करिए।‘’ – नाइजेल एडम्स, खेल मंत्री, इंग्लैंड

इससे पहले भारतीय ओलंपिक संघ ने ये साफ़ कर दिया है कि अगले महीने इस बात पर फ़ैसला कर लिया जाएगा कि भारत को बहिष्कार करना चाहिए या नहीं। 1970 से लेकर अब तक ये पहली बार है जब शूटिंग को कॉमनवेल्थ गेम्स से बाहर रखा जा सकता है।

भारत के इस रवैये और नाराज़गी को देखकर कॉमनवेल्थ गेम्स फ़ेडरेशन ने भी कुछ हल निकालने का संकेत दिया है। CFG के चीफ़ एक्ज़िक्यूटिव डेविड ग्रेवेमबर्ग ने कहा है कि वह भारतीय ओलंपिक संघ से बात करेंगे।

“कॉमनवेल्थ का भारत बेहद अहम सदस्य है, हम चाहते हैं कि भारत इन खेलों में ज़रूर हिस्सा ले। बर्मिंघम में भी भारतीय मूल के बहुत ज़्यादा लोग रहते हैं जो भारतीय एथलीट्स को देखना पसंद करते हैं।‘’ – डेविड ग्रेवेमबर्ग, चीफ़ एक्ज़िक्यूटिव, CFG

अब इंतज़ार इस बात का है कि भारत किस तरह ब्रिटिश खेल मंत्री और कॉमनवेल्थ गेम्स फ़ेडरेशन की बातों को देखता है, और क्या शूटिंग एक बार फिर कॉमनवेल्थ का हिस्सा बनी रहेगी ?