मंगलवार, सितम्बर 29, 2020
होम ताज़ा ख़बर मानसिक रूप से मजबूती ही ओलंपिक का दबाव सहने में मदद करेगी-मनु...

मानसिक रूप से मजबूती ही ओलंपिक का दबाव सहने में मदद करेगी-मनु भाकर

बुधवार को भारतीय स्टार निशानेबाज मनु भाकर के कहा कि मानसिक रूप से मजबूती ही ओलंपिक का दबाव सहने में मदद करेगी। इसके अलावा मनु ने बताया कि उन्हें 10 मी और 25 मीटर पिस्टल दोनों प्रतियोगिताओं में शूटिंग करना पसंद हैं। पिछले महीने मनु ने पुतियन में विश्व कप फाइनल में महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में जूनियर विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक हासिल किया था। वह अपनी इस लय को आगे भी बरकरार रखना चाहती हैं।

17 वर्षीय मनु भाकर ने पीटीआई को दिये एक इंटरव्यू में कहा, “यह सब टीम के चयन पर निर्भर करता है। मैं अभी उस पर कुछ नहीं कह सकती लेकिन अगर आप मुझसे मेरी पसंद के बारे में पूछ रहे हैं, तो निश्चित रूप से मैं 10 मीटर और 25 मीटर दोनों में शूटिंग करना चाहूंगी, क्योंकि मैं दोनों स्पर्धाओं को समान महत्व देती हूं। भले ही 25 मीटर में मैंने प्रतियोगिता नहीं जीती हो लेकिन मेरा प्रदर्शन बिल्कुल भी बुरा नहीं है।”

युवा निशानेबाज मनु ने मानसिक रूप से फिट होने के बारे में आगे कहा, “मैं तैयारी में लगी हूं। हालांकि ओलंपिक मेरे दिमाग में है। मैं इसके बारे में बहुत अधिक नहीं सोच रही हूं। वह मदद नहीं करेगा। मुझे मानसिक रूप से अधिक स्थिर होने की आवश्यकता है, हम सभी खेल के मानसिक पहलू पर काम कर रहे हैं। हमें ऐसी घटनाओं के दबाव को संभालने के लिए मानसिक रूप से फिट होने की जरूरत है।”

मनु ने इस साल को प्रदर्शन के लिहाज से अच्छा बताया। उन्होंने कहा, “यह मेरे सबसे अच्छे वर्षों में से एक था और मैं आने वाले महीनों में भी इसी तरह का प्रदर्शन जारी रखना चाहूंगी। मैं यह नहीं कहूंगी कि 2018 की तुलना में यह एक बेहतर साल है लेकिन मुझे यकीन है कि मेरा अच्छा साल था। मैंने बहुत कुछ हासिल किया, इस साल मेरे स्कोर बेहतर थे।”