गुरूवार, नवम्बर 26, 2020
होम ताज़ा ख़बर ISSF वर्ल्ड कप : दिव्यांश पंवार ने जीता सिल्वर, मिली ओलंपिक बर्थ

ISSF वर्ल्ड कप : दिव्यांश पंवार ने जीता सिल्वर, मिली ओलंपिक बर्थ

यंग इंडियन शूटर दिव्यांश पंवार ने चीन के शहर बीजिंग में चल रहे ISSF वर्ल्ड कप की 10 मीटर मेंस एयर राइफल इवेंट में सिल्वर मेडल जीत लिया। इस मेडल के साथ ही दिव्यांश को ओलंपिक बर्थ भी मिल गई। गर्व करने वाली बात यह है कि दिव्यांश इस इवेंट में गोल्ड या सिल्वर मेडल जीतने वाले सिर्फ तीसरे इंडियन शूटर हैं।

दिव्यांश से पहले सिर्फ गगन नारंग (गोल्ड) और संजीव राजपूत (सिल्वर) ही वर्ल्ड कप के इस इवेंट में भारत के लिए गोल्ड या सिल्वर मेडल जीत पाए थे। सिर्फ 16 साल के दिव्यांश ने इस सिल्वर मेडल के साथ टोक्यो 2020 ओलंपिक्स के लिए क्वॉलिफाई भी कर लिया। टोक्यो 2020 ओलंपिक्स के लिए अब तक भारत के चार शूटर्स क्वॉलिफाई कर चुके हैं। दिव्यांश से पहले विमिंस 10 मीटर एयर राइफल में अंजुम मौदगिल और अपूर्वी चंदेला और 10 मीटर एयर पिस्टल में सौरभ चौधरी ने ओलंपिक्स के लिए क्वॉलिफाई किया था।

दिव्यांश ने फाइनल में गोल्ड मेडल जीतने वाले चाइनीज शूटर झिचेंग हुइ के 249.4 पॉइंट्स के ठीक पीछे 249 पॉइंट्स स्कोर किए थे। रूस के ग्रिगोरी शामाकोव ने 227.5 पॉइंट्स के साथ ब्रॉन्ज मेडल जीता। इस फाइनल से दो शूटर्स को ओलंपिक्स कोटा मिलना था। रिपोर्ट्स के मुताबिक चाइनीज शूटर के अयोग्य होने के चलते दूसरा कोटा शामाकोव को मिला।

इस गोल्ड से पहले दिव्यांश ने अंजुम मौदगिल के साथ 10 मीटर एयर राइफल मिक्स्ड टीम इवेंट का गोल्ड मेडल भी जीता था। दो गोल्ड और एक सिल्वर मेडल के साथ अब भारत ISSF वर्ल्ड कप की पदक तालिका में दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। भारत का दूसरा गोल्ड मेडल मनु भाकर और सौरभ चौधरी की जोड़ी ने 10 मीटर एयर पिस्टल मिक्स्ड टीम इवेंट में जीता था।

राजस्थान के रहने वाले दिव्यांश सिर्फ दूसरी बार वर्ल्ड कप में उतरे थे। इससे पहले उन्होंने इस साल फरवरी में दिल्ली में हुए ISSF वर्ल्ड कप में भाग लिया था। दिव्यांश बिना ओलंपिक कोटे वाले इस इवेंट के फाइनल्स में नहीं पहुंच पाए थे।