Begin typing your search above and press return to search.

निशानेबाजी

निशानेबाज़ी : म्यूनिख विश्व कप में मिश्रित टीम स्पर्धा के दोनों स्वर्ण भारत के नाम

निशानेबाज़ी : म्यूनिख विश्व कप में मिश्रित टीम स्पर्धा के दोनों स्वर्ण भारत के नाम
X
By

Anshul Chavhan

Updated: 2022-04-25T01:05:17+05:30

म्यूनिख विश्व कप के आखिरी दिन भारत ने मिश्रित टीम स्पर्धा के दोनों स्वर्ण पदक अपने नाम करते हुए प्रतियोगिता स्वर्णिम अंत किया।

10 मीटर एयर राइफल मिश्रित टीम के क्वालिफिकेशन राउंड में अंजुम मौदगिल-दिव्यांश सिंह पवार की जोड़ी 629.1 के स्कोर के साथ चौथे और अपूर्वी चंदेला-दीपक कुमार की जोड़ी 629 के स्कोर के साथ पाचवे स्थान पर रही थी, शीर्ष आठ टीमों के बीच हुए दूसरे क्वालिफिकेशन राउंड में अंजुम-दिव्यांश की जोड़ी 631.9 के साथ शीर्ष पर रही वही अपूर्वी-दीपक 630 स्कोर के साथ दूसरे स्थान पर रही। अंतराष्ट्रीय शूटिंग महासंघ (ISSF) के नए नियमो के अनुसार, स्वर्ण पदक मुक़ाबला शीर्ष 2 स्थानों पर रही भारतीय टीमों के बीच हुआ।

फाइनल में एक समय दोनों ही टीम 2-2 के स्कोर के साथ बराबरी पर थी लेकिन अंजुम और दिव्यांश ने लगातार 14 पॉइंट्स जोड़ते हुए 16-2 से स्वर्ण पदक अपने नाम किया और अपूर्वी-दीपक की जोड़ी को रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

अंजुम-दिव्यांश का यह इस सीजन का दूसरा स्वर्ण पदक है, बीजिंग विश्व कप में भी भारतीय जोड़ी विजेता बनी थी।

10 मीटर एयर पिस्टल मिश्रित टीम में इस सीजन की अपनी स्वर्णिम हैटट्रिक को पूरी करने के इरादे से उतरे मनु भाकर और सौरभ चौधरी ने क्वालिफिकेशन राउंड से ही अपनी स्थिति को मज़बूत बनाये रखा, 586 के स्कोर के साथ उनकी जोड़ी ने क्वालिफिकेशन में शीर्ष स्थान हासिल किया, हीना सिधु और शहज़ार रिज़वी की जोड़ी 574 के स्कोर के साथ ग्याहरवे स्थान पर रही और दूसरे राउंड के लिए क्वालीफाई करने में असमर्थ रही। शीर्ष आठ टीमों के बिच हुए दूसरे क्वालिफिकेशन राउंड में मनु-सौरभ ने अपने स्कोर को बेहतर करते हुए 591 के स्कोर के साथ फिर से शीर्ष स्थान हासिल किया और स्वर्ण पदक के लिए होने वाले मैच में अपनी जगह बनायीं जहा उनका मुक़ाबला यूक्रेन की अनुभवी ओलेना कोस्तेविच और ओलेग ओमेलचुक से था। फाइनल में अच्छी शुरुआत करने के बाद उक्रेनी जोड़ी मैच को 6-6 की बराबरी पर ले आयी, लेकिन इसके बाद भारतीय जोड़ी ने लगातार 6 अंक जोड़ते हुए स्कोर 12-6 कर दिया, इसके बाद नियमित अंक बटोरते हुए मनु-सौरभ ने 17-9 से मैच अपने नाम करते हुए पांचवा स्वर्ण भारत के खाते में जोड़ा, इसके साथ ही मनु-सौरभ ने इस सीजन के हुए तीनो विश्व कप में अपना अजेय क्रम ज़ारी रखा।

भारत ने म्यूनिख विश्व कप का अंत 5 स्वर्ण और 1 रजत के साथ शीर्ष पर रहते हुए किया, इसके साथ ही भारत ने टोक्यो 2020 ओलिंपिक खेलो के लिए 2 महत्वपूर्ण कोटा स्थान भी हासिल किये। भारत इस साल के तीनो राइफल/पिस्टल विश्व कप में शीर्ष स्थान पर रहा है।

Next Story
Share it