बुधवार, सितम्बर 30, 2020
होम ताज़ा ख़बर कामनवेल्थ गेम्स का कोई स्टैंडर्ड नहीं है, यह सिर्फ़ समय की बर्बादी...

कामनवेल्थ गेम्स का कोई स्टैंडर्ड नहीं है, यह सिर्फ़ समय की बर्बादी है: नरेन्दर बत्रा

शूटिंग के कामनवेल्थ गेम्स में शामिल न होने के कारण (भारतीय ओलंपिक संघ) IOC के अध्यक्ष नरेन्दर बत्रा काफी भड़के हुए नज़र आ रहे हैं। शूटिंग में भारत का प्रदर्शन सरहानीय रहा है और ऐसे में इस खेल का CWG में शामिल न होना, देश के लिए नुकसानदायक हो सकता है। पर मामला सिर्फ इतना ही नहीं है, बत्रा ने CWG गेम्स को समय की बर्रबादी करार दिया है और कहा कि यह सिर्फ फ़िज़ूल खर्च है|

उन्होंने CWG के स्तर पर भी प्रश्नचिन्ह लगाया है| उन्होंने कहा, ” जहाँ हम इन खेलों में 60 मेडल जीतते है वहीं ओलंपिक्स में मुशील से दो, CWG में कम्पटीशन का लेवल आखिर है क्या?”

नरेन्दर बत्रा, अध्यक्ष, भारतीय ओलंपिक संघ

उनके हिसाब से अब कामनवेल्थ की जगह दूसरे अंतराष्ट्रीय खेल जैसे वर्ल्ड कप और वर्ल्ड चैंपियनशिप में फोकस करना चाहिए| शूटिंग को आर्थिक कारणों से शामिल न करने का बहाना दिया जा रहा है| बत्रा का कहना है कि अगर आर्थिक दिक़्क़तें हैं तो पूरे खेल से दाखिला वापिस ले लेना चाहिए| वैसे भी यह खेल न रैंकिंग में मदद करते हैं और न ही ओलंपिक्स में कोटा दिलाने के लिए काम आते हैं|

बत्रा ने इससे पहले जुलाई में भी भारत को बर्मिंघम में होने वाले 2022 कामनवेल्थ से बैकऑउट करने की बात कही थी|