शनिवार, सितम्बर 26, 2020
होम ताज़ा ख़बर ज्योति और राकेश कुमार की जोड़ी को फ़ज़ा आर्चरी वर्ल्ड रैंकिंग टूर्नामेंट...

ज्योति और राकेश कुमार की जोड़ी को फ़ज़ा आर्चरी वर्ल्ड रैंकिंग टूर्नामेंट में कांस्य पदक

भारत के ज्योति और राकेश कुमार की जोड़ी ने 5वे फ़ज़ा आर्चरी वर्ल्ड रैंकिंग टूर्नामेंट में कंपाउंड ओपन मिक्स्ड टीम स्पर्धा का कांस्य पदक हासिल किया, उन्होंने ब्राज़ील के गोगल और कार्नेरिओ सिल्वा की जोड़ी को कांस्य पदक के लिए खेले गए मैच में 148-145 से हराकर पदक भारत के नाम किया। पूरी प्रतियोगिता में भारत का यह एकमात्र पदक है।

ज्योति और राकेश ने रैंकिंग राउंड में तीसरे स्थान पर रहने के बाद क्वार्टर फाइनल में छठी वरीयता प्राप्त मलेशिया के नूर सा अदाह अब्दुल वहाब और मोरोगन कोमोरन को 125-123 के स्कोर से हराया था, इसके बाद सेमीफइनल में उनकी जोड़ी को दूसरी वरीयता प्राप्त ग्रेट ब्रिटैन के फोएबे पाइन और नाथन मैकक्वीन की जोड़ी से शूटआउट में शिकस्त मिली, सारे राउंड हो जाने तक दोनों जोड़िया 139-139 के स्कोर के साथ बराबरी पर थी, शूटआउट में जहा ब्रिटैन की जोड़ी ने 15 का स्कोर किया वही भारतीय जोड़ी सिर्फ 8 ही स्कोर कर पायी।

कांस्य पदक मैच में ज्योति और राकेश शुरुआत से ही ब्राज़ीली जोड़ी पे भारी रहे, भारतीय जोड़ी ने पांच 10s लगाए जिसमे दो परफेक्ट भी शामिल है, वही ब्राज़ीली जोड़ी ने भी दो परफेक्ट के साथ चार 10s लगाए। ब्राज़ीली तीरंदाजों के तीन 8s के मुक़ाबले ज्योति और राकेश ने सिर्फ एक 8s स्कोर किया जो कि उनकी जीत में सबसे बड़ा सहायक बना।

रिकर्व ओपन की मिक्स्ड टीम स्पर्धा में सातवीं वरीयता प्राप्त पूजा और विवेक चिकारा की जोड़ी को क्वार्टर फाइनल में दूसरी वरीयता प्राप्त जापान के चिका शिगेसदा और टोमोहीरो ऊयेयामा ने 6-2 से हराया।

व्यक्तिगत स्पर्धा में भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन मिला जुला दिखा। पुरुषों के कंपाउंड ओपन रैंकिंग राउंड में राकेश कुमार, श्याम सुन्दर स्वामी ने 681 और 675 के स्कोर के साथ 9वा और 12वा स्थान हासिल किया था, बाद में हुए कॉम्पिटिशन राउंड में राकेश कुमार को चेक रिपब्लिक के आठवीं वरीयता प्राप्त लेओस बार्टोस ने प्री क्वार्टर फाइनल में 141-136 से हराया। श्याम सुन्दर ने अपने शानदार प्रदर्शन की बदौलत 1/16  एलिमिनेशन में कनाडा के केविन इवांस को 136-134 से और प्री क्वार्टर फाइनल में पांचवी वरीयता प्राप्त इटली के गिआमपाओलो को 141-140 से हराया, लेकिन क्वार्टर फाइनल में उन्हें छठी वरीयता प्राप्त ऑस्ट्रेलिया के पीटर मर्चेंट से 136-140 से शिकस्त मिली।

महिलाओ की कंपाउंड ओपन स्पर्धा में ज्योति को क्वार्टर फाइनल में तीसरी वरीयता प्राप्त ग्रेट ब्रिटैन की जोडी ग्रिनहैम ने 139-129 से हराया, एक और अन्य भारतीय तीरंदाज मिताली श्रीकांत गायकवाड़ को प्री क्वार्टर फाइनल में दक्षिण कोरिया की सातवीं वरीयता प्राप्त जिन यंग जिआंग ने 131-129 के स्कोर से हराया। इससे पूर्व रैंकिंग राउंड में ज्योति ने 665 के स्कोर के साथ छठा और मिताली ने 656 के स्कोर के साथ 10वा स्थान हासिल किया था।

महिलाओ की ही रिकर्व ओपन स्पर्धा में एक मात्र भारतीय तीरंदाज पूजा को प्री क्वार्टर फाइनल में इटली की पांचवी वरीयता प्राप्त वेरोनिका फ़्लोरेनो ने 6-0 से हराया, रैंकिंग राउंड में पूजा ने 451 के स्कोर के साथ 12वा स्थान हासिल किया था।

पुरुषों के रिकर्व ओपन रैंकिंग राउंड में विवेक चिकारा तथा पैरा एशियाई खेलो के स्वर्ण पदक विजेता हरविंदर सिंह ने 644 और 642 के स्कोर के साथ शीर्ष दो स्थान हासिल किये, वही राजेश ने 588 स्कोर के साथ 11वा स्थान हासिल किया। पदक के प्रबल दावेदार माने जा रहे विवेक और हरविंदर को कॉम्पिटिशन राउंड में निराशा हाथ लगी, हरविंदर को प्री क्वार्टर फाइनल में मलेशिया के 15वी वरीयता प्राप्त हसीन सनावी ने 6-2 से हराया। विवेक ने अपना प्री क्वार्टर फाइनल राउंड 16वी वरीयता प्राप्त चेक रिपब्लिक के मार्टिन शालोप्स्की के विरुद्ध 6-0 से आसानी से जीत लिया, लेकिन क्वार्टर फाइनल में आठवीं वरीयता प्राप्त जापान के टोमोहीरो ऊयेयामाने उन्हें 7-3 से हराया। राजेश ने 1/16  एलिमिनेशन में इराक के अब्दुल्लाह सिराज को 6-2 से हराया, लेकिन प्री क्वार्टर फाइनल में छठी वरीयता प्राप्त दक्षिण कोरिया के पार्क जून बोम ने उन्हें 6-0 से हरा दिया।

पुरुषों की W1 ओपन स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में आदिल अंसारी को पांचवी वरीयता प्राप्त ब्राज़ील के यूजेनिओ सैन्टाना फ्रेंको ने 126-124 से हराया, रैंकिंग राउंड में आदिल ने 609 के स्कोर के साथ चौथा स्थान हासिल किया था।

W1 स्पर्धा में  तीरंदाज दोनों रिकर्व और कंपाउंड धनुष में से कोई सा भी धनुष उपयोग कर सकते है, इस स्पर्धा के खिलाड़ियों के मुख्यत पैरो में कमजोरी होती है और वे  व्हीलचेयर का उपयोग करके प्रतियोगिता में हिस्सा लेते है।

फ़ज़ा आर्चरी वर्ल्ड रैंकिंग टूर्नामेंट, इस वर्ष की पैरा आर्चरी कैलेंडर की पहली प्रमुख प्रतियोगिता है जो की खिलाड़ियों को जून में नीदरलैंड में होने वाली विश्व चैंपियनशिप की तैयारी करने में बहुत मदद करेगी।