मंगलवार, नवम्बर 24, 2020
होम टेनिस लिएंडर पेस के करियर की तीन सबसे बड़ी जीत

लिएंडर पेस के करियर की तीन सबसे बड़ी जीत

भारत के दिग्गज टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस ने संन्यास की घोषणा की है। उन्होंने साफ़ तौर पर कहा है कि साल 2020 में वह अपने प्रोफेशनल करियर को अलविदा कह देंगे। उन्होंने क्रिसमस के बधाई सन्देश में यह सब बातें कही हैं। पेस ने 1996 के एटलांटा ओलंपिक में पुरुष एकल में कांस्य पदक जीता था। वह सात बार ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले और एकमात्र भारतीय हैं।

भारतीय टेनिस के तीन दशक से चेहरे रहे लिएंडर ने अपने पेशेवर की शुरुआत 1991 में की। अब अगले साल 2020 में पेस अपने पेशेवर करियर के लगभग तीस साल पूरे कर लेंगे। पेस ने क्रिसमस के सन्देश में कहा, “आप सभी को क्रिसमस की बधाई। मैं घोषणा करना चाहता हूं कि 2020 पेशेवर टेनिस खिलाड़ी के तौर पर मेरा आखिरी साल होगा।”

भारतीय दिग्गज पेस ने अपने अब तक के करियर में 18 ग्रैंडस्लैम जीते हैं। जिसमें से आठ बार पुरुष युगल वर्ग में और 10 बार मिश्रित युगल वर्ग में जीते गए खिताब शामिल हैं। वह भारत के सबसे सफल युगल खिलाड़ी हैं। यूँ तो उन्होंने कई उपलब्धियां हासिल की हैं लेकिन आज हम उनकी तीन बड़ी जीत की बात करेंगे :

1- एटलांटा ओलंपिक कांस्य पदक:

पेस ने रिचे रेनबर्ग, निकोलस पिरेरिया, थोमस और डिगो फुरलान को हरकार सेमीफाइनल का टिकट हासिल किया। खिताबी मुकाबले से एक कदम दूर सेमीफाइनल में पेस का मुकाबला अमेरिका के आंद्रे अगासी से हुआ जहां उन्हें शिकस्त झेलनी पड़ी। अगासी से हारकर लिएंडर पेस का अगला कांस्य पदक का मुकाबला ब्राजीली खिलाड़ी फरनेंडो मेलीजेनी से होना तय हुआ। दूसरी तरफ फरनेंडो अपने सेमीफाइनल में सरजेई से पहले ही हार चुके थे। निर्णायक मैच में युवा पेस ने 3-6, 6-2, 6-4 से यह मुकाबला जीतकर भारत को 1980 के बाद एकबार फिर मैडल की लिस्ट में ला दिया। ओलंपिक में पदक जीतना हर खिलाड़ी का सपना होता है और पेस ने अपना यह सपना सच किया।

2-फ्रेंच ओपन 2016 का मिश्रित युगल खिताब:

Image result for french open 2016 winner mixed doubles

अगर पेस की पिछली सबसे बड़ी उपलब्धि की बात की जाय तो निश्चित ही फ्रेंच ओपन 2016 का खिताब उन्होंने अपने नाम किया। पेस ने अपनी स्विस जोड़ीदार मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर फ्रेंच ओपन जीता। उन्होंने खिताबी मुकाबले में हमवतन सानिया मिर्जा और क्रोएशिया के खिलाड़ी इवान डोडिग की जोड़ी को 4-6, 6-4, 10-8 से हराया। रोलां गैरों की लाल बजरी पर इस जीत के साथ ही पेस-हिंगिस चारों ग्रैंड स्लैम जीतने वाली जोड़ी बन गई थी। पेस और हिंगिस ने साल 2015 में विंबलडन और यूएस ओपन तथा 2016 के शुरू में आस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब भी जीता था। इससे पहले 2005 में फ्रेंच ओपन के मिश्रित युगल फाइनल में रनरअप रहे थे।

3- एटीपी टाइटल जीता और पीट सम्प्रास को हराया :

Image result for leander paes wins atp title newport images

पेस ने न्यूपोर्ट में खेले गये एटीपी टाइटल जीता जो कि एकल में उनकी सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है। इसके अलावा साल 1998 में लिएंडर पेस ने अपनी रिकॉर्ड बुक में सिंगल्स में एक और कीर्तिमान स्थापित किया। न्यू हेवेन में खेले गये पेन पायलेट इंटनेशनल में उन्होंने शुरुआती दो राउंड की चुनौती पार कर ली। उनका अगला मुकाबला तत्कालीन दिग्गज पीट सम्प्रास से हुआ। उन्होंने दिग्गज खिलाड़ी पीट सम्प्रास को दो सेट तक चले मुकाबले में 6-3, 6-4 से हरा दिया। उन्होंने अपने कई इंटरव्यू में अपनी इस जीत को करियर की सबसे बड़ी जीत में से एक बताया है। इस जीत के बाद वह सिंगल्स में सर्वश्रेष्ठ विश्व रैंकिंग 73 में पहुंच गये थे।