Begin typing your search above and press return to search.

राष्ट्रीय खेल

National Games 2022: गुजरात पुरुष और पश्चिम बंगाल महिला वर्ग में टेबल टेनिस चैंपियन

सात साल बाद हो रहे राष्ट्रीय खेलों में ये पहले स्वर्ण पदक मैच थे।

Gujarat men table tennis team
X

 गुजरात पुरुष टेबल टेनिस टीम

By

Bikash Chand Katoch

Updated: 2022-09-22T13:45:51+05:30

गुजरात की पुरुष टेबल टेनिस टीम ने बुधवार को यहां 36वें राष्ट्रीय खेलों के फाइनल मुकाबले में दिल्ली के खिलाफ एक भी सेट गंवाए बिना स्वर्ण पदक जीत लिया। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि खिताब की दावेदार गुजरात की पुरुष टेबल टेनिस टीम ने यहां 36वें राष्ट्रीय खेलों के फाइनल मुकाबले में दिल्ली के खिलाफ एक भी सेट गंवाए बिना स्वर्ण पदक जीतकर अपने प्रशंसकों को जश्न मनाने का मौका दिया जबकि महिला वर्ग में पश्चिम बंगाल ने महाराष्ट्र को हराकर पहला स्थान हासिल किया।

सात साल बाद हो रहे राष्ट्रीय खेलों में ये पहले स्वर्ण पदक मैच थे। महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल ने सेमीफाइनल में हार के बाद पुरुषों के वर्ग कांस्य पदक जीते जबकि तमिलनाडु और तेलंगाना ने महिलाओं के वर्ग में कांस्य पदक जीता। पुरुषों के टूनार्मेंट में शीर्ष वरीयता प्राप्त गुजरात प्रतियोगिता की शुरूआत से ही शानदार फॉर्म में था और एकमात्र सवाल यह था कि क्या दिल्ली कम से कम जोरदार मुकाबला कर सकती है। घरेलू टीम का दबदबा इतना अधिक था कि उसने एक भी रबर नहीं गंवाया और पदक तालिका में अपने राज्य का खाता खोला।


ठक्कर ने शुरूआती सेट में सुधांशु ग्रोवर पर दबदबा बनाया

फाइनल में जाने के बाद गुजरात ने एकमात्र बदलाव यह किया कि मानव ठक्कर ने पहले एकल मैच में कप्तान हरमीत देसाई की जगह ली। ठक्कर ने शुरूआती सेट में सुधांशु ग्रोवर पर दबदबा बनाया। हालांकि दिल्ली के इस पैडलर ने अगले दो सेटों में जोरदार मुकाबला किया, लेकिन वह पूर्व जूनियर वर्ल्ड नंबर-1 से आगे निकल नहीं निकल सके और सीधे सेटों में 11-3, 13-11, 14-12 से हार गए। दिल्ली को उम्मीद थी कि पायस जैन सेमीफाइनल में अपना जौहर दोहरा सकते हैं लेकिन हरमीत देसाई उनके लिए बहुत मजबूत साबित हुए।

दिल्ली का खिलाड़ी चार मैच अंक बचाने में सफल रहा और उसने वापसी करने का दावा पेश किया लेकिन गुजरात के कप्तान पीछे हटने के मूड में नहीं थे और अपनी टीम को 2-0 की बढ़त दिलाने के लिए पहले दो एक्सटेंडेड प्वाइंट्स हासिल किए। इसके बाद मानुष शाह ने यशांश मलिक को हराकर गुजरात की जीत पक्की की। इस तरह पिछले संस्करण के रजत पदक विजेताओं को घरेलू मैदान पर पोडियम पर और ऊंचा चढ़ने का मौका मिला।

इससे पहले, महिला फाइनल में मौमा दास और सुतीर्था मुखर्जी के अनुभव ने पश्चिम बंगाल को महाराष्ट्र की युवा खिलाड़ियों से सजी टीम को 3-1 से हराने में मदद की। पिछले संस्करण के फाइनल की पुनरावृत्ति में, महाराष्ट्र ने अपने पिछले मैच की तुलना में लाइन-अप में थोड़ा बदलाव किया। दीया चितले को तीसरा एकल खेलने के लिए और स्वास्तिका घोष को शीर्ष स्थान पर जाने के लिए प्रेरित किया। युवा खिलाड़ी हालांकि अयिका मुखर्जी की खेल शैली से लोहा नहीं ले सकी पाए और हार गईं। इसके बाद रीथ्रीश्या टेनिसन ने सुतीर्था को सीधे गेम में हराकर गत चैंपियन टीम के खिलाफ स्कोर बराबर कर लिया।

महाराष्ट्र को आगे बढ़ाने के लिए चितले को अब मौमा दास को हराना था। युवा खिलाड़ी ने शुरुआती सेट 11-6 से जीतकर मजबूत आगाज किया, लेकिन 38 वर्षीय दास ने अपने अनुभव के दम पर वापसी की और मैच में पकड़ा बनाई।इसके बावजूद चितले ने चौथे गेम में 4-8 से वापसी करते हुए अच्छा प्रदर्शन किया और दो मैच अंक अर्जित किए।

वह हालांकि उन्हें परिवर्तित करने में विफल रही। मौमा दास ने फिर इस नौजवान खिलाड़ी की भावनात्मक स्थिति का फायदा उठाया और मुकाबला जीत लिया। स्वस्तिका घोष ने सुतीर्थ मुखर्जी के खिलाफ उलटफेर में बेहतर प्रदर्शन करते हुए टोक्यो ओलंपिक खेल चुकी इस खिलाड़ी को पांच सेट तक खींचा। लेकिन बंगाल की इस अनुभवी पैडलर ने एक बड़ी बढ़त लेने के लिए अपना संयम बनाए रखा और अपने दूसरे मैच प्वाइंट पर जीत हासिल की।

सुतीर्था ने जीत के बाद कहा, "दोनों टीमों के बीच दांव पर लगाने के लिए बहुत कुछ नहीं था। लेकिन पहले मैच में अहिका की आसान जीत और मौमा दीदी ने तीसरे मैच में जिस तरह से जीत हासिल की, उससे मुझे चौथे में आत्मविश्वास मिल।"

परिणाम

पुरुष फाइनल: गुजरात ने दिल्ली को 3-0 से हराया (मानव ठक्कर ने सुधांशु ग्रोवर को 11-3, 13-11, 14-12 से, हरमीत देसाई ने पायस जैन 11-7, 11-3, 12-10 से, मानुष शाह ने यशांश मलिक 11- 4, 11-9, 11-4 को हराया)।

महिला फाइनल: पश्चिम बंगाल ने महाराष्ट्र को 3-1 से हराया (अहिका मुखर्जी ने स्वास्तिका घोष को 11-3, 11-5, 11-3 से हराया, मौमा दास ने दीया चितले को 6-11, 16-14, 10-12, 14-12, 11-6 से हराया, सुतीर्थ मुखर्जी ने स्वास्तिका घोष 11-4, 11-13, 11-8, 10-12, 11-6 से हराया, सुतीर्थ मुखर्जी को रीथ्रीश्या टेनिसन से 9-11, 11-13, 9-11 से हार मिली)।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it