Begin typing your search above and press return to search.

राष्ट्रीय खेल

National Games 2022: रोलर-स्केटिंग में महाराष्ट्र को मिले 5 स्वर्ण

स्केटबोर्डर्स रंजू सिंह और श्रद्धा गायकवाड़ ने राष्ट्रीय खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के लिए सभी बाधाओं को पार किया

Shraddha Gaikwad Skateboarding
X

श्रद्धा गायकवाड़

By

The Bridge Desk

Updated: 2022-10-03T19:03:30+05:30

महाराष्ट्र रोलर स्पोर्ट्स इवेंट में पांच स्वर्ण के साथ चैंपियन के रूप में उभरा। इसी तरह तमिलनाडु तीन पदकों के साथ उपविजेता बना है। 36वें राष्ट्रीय खेलों में तीन दिनों तक चले रोलर स्पोर्ट्स इवेंट्स के लिए साबरमती रिवरफ्रंच पर भारी भीड़ उमड़ी थी।

असली हीरो हालांकि स्ट्रीट स्केटबोर्डर्स- चिंगंगबाम रंजू सिंह (मणिपुर) और श्रद्धा गायकवाड़ (महाराष्ट्र) रहे, जिन्होंने सफलता और लोकप्रियता के लिए आकर्षक लेकिन थोड़े कठिन रास्ते अपनाए।

पुरुषों का स्वर्ण पदक जीतने वाले रंजू सिंह पांच साल पहले इस खेल से जुड़े था, लेकिन अपने प्रशिक्षण के नियमों का पालन करने के लिए उसे कुछ नया आजमाना पड़ा। मणिपुर में हर दिन, वह शहर के जागने से पहले जाग जाया करते थे।

अंधेरे में और खाली सड़कों पर उन्होंने पहले खेल की बारीकियां सीखीं और फिर उसमें महारत हासिल की। तब जाक वह अपने राज्य के लिए चुने जाने के लिए काफी अच्छा बन गए और अब उन्होंने राष्ट्रीय खेलों में भी सोना जीतकर गौरव हासिल कर लिया है।

बेशक, स्केटबोर्डिंग किट खरीदने के लिए उन्हें धन आसानी से नहीं मिला। रंजू सिंह ने कहा, "मैंने अपना किट खरीदने और ट्रेनिंग के लिए घरों में पेंट करने का काम भी किया।"

महिला स्केटबोर्डिंग स्वर्ण पदक विजेता श्रद्धा गायकवाड़ के पास बताने के लिए एक समान रूप से दिलचस्प कहानी है। उनके पिता एक सुरक्षा गार्ड हैं और नौकरी की तलाश में बीड से पुणे शिफ्ट हो गए। उन्होंने एक अंतरराष्ट्रीय खेल के सामान बेचने वाली दिग्गज कंपनी में नौकरी पाया।

एक दिन, श्रद्धा गायकवाड़ अपने पिता के लिए दोपहर का भोजन देने आई और एक दिलचस्प दृश्य देखा।

गायकवाड ने देखा, "मैंने लोगों को दुकान पर स्केटबोर्डिंग करते देखा और उस पर अपना हाथ आजमाया। स्टोर मैनेजर अबू शेख ने मुझे अभ्यास करते देखा और मुझे एक जोड़ी जूते और एक स्केटबोर्ड उपहार में दिया। मैंने प्रशिक्षण शुरू किया और मैं जल्द ही इसमें बहुत अच्छी हो गई।"

श्रद्धा की कहानी को स्केटर गर्ल नाम की नेटफ्लिक्स फिल्म में कैप्चर किया गया है।

रंजू और श्रद्धा अब उम्मीद कर रहे हैं कि राष्ट्रीय खेलों में उनकी सफलता सहयोग और समर्थन के नए रास्ते खोल देगी क्योंकि वे अगले साल एशियाई खेलों के लिए क्वालीफाई करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

परिणाम

पुरुष

1000 मीटर: 1. अमितेश मिश्रा (छग) 1:35; 2. आर्य मयूर जुवेकर (महाराष्ट्र) 1:35; 3. आनंद कुमार वेलकुमार (तमिलनाडु) 1:35।

आर्टिस्टिक सिंगल फ्री स्केटिंग: 1. अभिजीत अमल राज (केरल) 146.9; 2. कुंज बी चोकशी (गुजरात) 106.3; 3. कोत्यादा मोहन किरण कुमार (कर्नाटक) 104.2.

इनलाइन फ्रीस्टाइल - स्पीड स्लैलम: 1. संचित भंडारी (उत्तर प्रदेश) 4.58; 2. आर सर्वेश (तमिलनाडु) 4.73; 3. विश्वेश गणेश पाटिल (महाराष्ट्र) 4.75.

रिले: 1. महाराष्ट्र 4:29.00; 2. तमिलनाडु 4:32.32; 3. कर्नाटक 4:32.35.

स्केटबोर्डिंग पार्क: 1. महिन इवान टंडन (कर्नाटक) 28.33; 2. शिवम बल्हारा (दिल्ली) 24.89; 3. एस विनेश (केरल) 18.89।

स्केटबोर्डिंग स्ट्रीट: 1. चिंगंगबाम रंजू सिंह (मणिपुर) 90; 2. शुभम शर्मा (महाराष्ट्र) 80.33; 3. निखिल नरेश शेलतकर (महाराष्ट्र) 73.

महिला-

1000 मी: 1. के आरती (तमिलनाडु) 1:39; 2. हीरल साधु (दिल्ली) 1;39; 3. सुवर्णिका राधाकृष्णन (कर्नाटक) 1:40।

आर्टिस्टिक सिंगल फ्री स्केटिंग: 1. रिया साबू (तेलंगाना) 112.4; 2. कुल साईं संहिता (आंध्र प्रदेश) 107.0; 3. भूपतिराजू अंमिषा (आंध्र प्रदेश) 97.8.

इनलाइन फ्रीस्टाइल - स्पीड स्लैलम: 1. प्राची सिंह (उत्तर प्रदेश) 4.95; 2. पीयूषा तारिणी (पुडुचेरी) 4.98; 3. मर्लिन धानम अर्पौदम (पुडुचेरी) 5.04.

रिले: 1. तमिलनाडु 4:46.03; 2. कर्नाटक 4:46.85; 3. दिल्ली 4:54.57.

स्केटबोर्डिंग पार्क: 1. विद्या दास (केरल) 25.78; 2. पी. कमली (तमिलनाडु) 12.22; 3. आद्या अदिति (दिल्ली) 11.22.

स्केटबोर्डिंग स्ट्रीट: 1. श्रद्धा रवींद्र गायकवाड़ (महाराष्ट्र) 61; 2. उर्मिला जितेंद्र पाबले (महाराष्ट्र) 59.33; 3. मीरा गौतम (दिल्ली) 53.

मिश्रित-

आर्टिस्टिक स्केटिंग पेयर डांस: 1. महाराष्ट्र; 2. तमिलनाडु; 3. तेलंगाना।

स्लैलम पेयर इनलाइन फ्रीस्टाइल स्केटिंग: 1. महाराष्ट्र; 2. महाराष्ट्र; 3. पुडुचेरी।

Next Story
Share it