Begin typing your search above and press return to search.

राष्ट्रीय खेल

National Games 2022 Round Up: कर्नाटक की हाशिका रामचंद्र और केरल के साजन प्रकाश ने बिखेरी अपनी चमक

हाशिका रामचंद्र (कर्नाटक) और साजन प्रकाश (केरल) ने आज अपने अपने वर्ग में स्वर्ण पदक जीत लिए। उनका क्रमश: यह छठा और पांचवां स्वर्ण पदक है

Sajan Prakash and Hashika Ramchandra
X

स्वर्ण पदक विजेता साजन प्रकाश और हाशिका रामचद्र

By

The Bridge Desk

Updated: 2022-10-07T23:08:18+05:30

हाशिका रामचंद्र (कर्नाटक) और अनुभवी तैराक साजन प्रकाश (केरल) 36वें राष्ट्रीय खेलों में अपनी छाप छोड़ने के लिए तैयार हैं। उन्होंने आज यहां सरदार पटेल एक्वेटिक्स कॉम्प्लेक्स में अपने अपने वर्ग में स्वर्ण पदक जीत लिए। उनका क्रमश: यह छठा और पांचवां स्वर्ण पदक है। इस जोड़ी ने बाकी सभी प्रतिभागियों को पीछे छोड़ते हुए खेलों के सर्वश्रेष्ठ एथलीटों के प्रतिष्ठित सम्मान को हासिल कर लिया।

14 वर्षीय हाशिका ने महिलाओं की 400 मीटर फ्रीस्टाइल और 200 मीटर व्यक्तिगत मेडले में स्वर्ण पदक जीता और उन्होंने छह स्वर्ण तथा एक कांस्य पदक के साथ प्रतियोगिता में अपने अभियान का समापन किया। उनके शानदार प्रदर्शन ने ओलंपियन मान पटेल के शानदार प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया। पटेल ने नेशनल रिकॉर्ड के साथ गुजरात के लिए अपना तीसरा बैकस्ट्रोक स्वर्ण पदक जीता।

इसी तरह, श्रीहरि नटराज और अद्वैत पेज की चुनौतियों के बावजूद सबसे अनुभवी पुरुष तैराक साजन प्रकाश ने अपना बेस्ट परफॉर्मेंस देते हुए अद्वैत पेज (मध्य प्रदेश) को 400 मीटर फ्रीस्टाइल और कर्नाटक के एस शिवा को 200 मीटर व्यक्तिगत मेडले में पीछे छोड़ते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया।

आज वापसी करने के बावजूद, सर्विसेज 41 स्वर्ण, 31 रजत और 27 कांस्य के साथ कुल 99 पदक लेकर 36वें राष्ट्रीय खेलों के पदक तालिका में शीर्ष पर बरकरार है। हरियाणा 75 पदकों के साथ दूसरे स्थान पर मौजूद है, जिसमें 29 स्वर्ण पदक शामिल हैं। वहीं, महाराष्ट्र 2022 के खेलों में पदकों का शतक लगाने के करीब है। महाराष्ट्र ने अपनी झोली में अब तक 99 पदक हासिल किए हैं, जिसमें 26 स्वर्ण पदक शामिल हैं।

महिलाओं की पारंपरिक योगासन पदक विजेता

महिलाओं की पारंपरिक योगासन में पूजा पटेल ने गोल्ड मेडल जीतकर मेजबान राज्य को उनका 10वां स्वर्ण पदक दिलाया। पिछले कुछ वर्षों में न केवल अपने एथलीटों द्वारा तेजी से उठाए गए कदमों को प्रदर्शित करते हुए, बल्कि अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को सुनिश्चित करते हुए मेजबान राज्य ने सभी 11 स्पर्धाओं में 31 पदक जीते हैं। गुजरात ने इससे पहले, 2015 में 10 स्वर्ण पदक सहित कुल 20 पदक अपने नाम किए थे।

क्वालिफिकेशन में तीसरे स्थान पर रहे राजस्थान के विवान कपूर ने गांधीनगर के बाहरी इलाके में क्राउन शूटिंग अकादमी में पुरुषों की ट्रैप शूटिंग स्पर्धा के फाइनल में शानदार प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। उन्हें फाइनल में पहुंचने के लिए पंजाब के जोरावर सिंह संधू से कड़ी चुनौती मिली। लेकिन इसके बावजूद उन्होंने खुद पर अपना नियंत्रण कायम रखते हुए खिताब अपने नाम कर लिया।-

महिला ट्रैप फाइनल पदक विजेता

महिला ट्रैप फाइनल में, नीरू (मध्य प्रदेश) ने सात निशानेबाजों से बेहतर प्रदर्शन करते हुए सबीरा हारिस (उत्तर प्रदेश) को दो अंकों के अंतर से हराकर स्वर्ण पदक जीत लिया। अनुभवी सीमा तोमर को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। क्वालिफिकेशन में टॉप करने वाली दिल्ली की कीर्ति गुप्ता चौथे स्थान पर रहीं।

गांधीनगर के महात्मा मंदिर में, विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप की पदक विजेता सिमरनजीत कौर बाथ (पंजाब) और शिवा थापा (असम) ने अपने-अपने विरोधियों को पछाड़ते हुए अपने-अपने वर्ग के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया।

टोक्यो 2020 ओलंपियन सिमरनजीत कौर, महिलाओं की 60 किग्रा वर्ग में शानदार लय में दिखीं और उन्होंने 2019 की राष्ट्रीय चैम्पियनशिप की कांस्य पदक विजेता रिंकी शर्मा (उत्तर प्रदेश) को जरा सा भी जमने का मौका नहीं दिया। सिमरनजीत ने शानदार फॉर्म दिखाई और 60 किलोग्राम भारवर्ग के मुकाबले में 2019 नेशनल चैंपियनशिप कांस्य पदक विजेता रिंकी शर्मा को आसानी से हरा दिया।

2018 वर्ल्ड चैंपियनशिप में कांस्य जीतने वाली मुक्केबाज ने पूरे मुकाबले के दौरान अपनी पकड़ बनाए रखी। उन्होंने मैच की शुरुआत विपक्षी के सिर में लगातार मुक्के मारते हुए की थी और उनके आक्रमण के सामने उत्तर प्रदेश की 23 साल की मुक्केबाज की एक ना चली। सिमरनजीत टोक्यो ओलंपिक टीम का हिस्सा थीं और उन्होंने कई मौकों पर अपनी विपक्षी की डिफेंस को फेल साबित किया। इसके बाद रेफरी को रिंकी के लिए आठ तक की स्टैंडिंग काउंट शुरु करनी पड़ी थी और फिर सिमरन ने 5-0 के अंतर से मुकाबला अपने नाम किया था।

अपने फुर्तीले फुटवर्क के लिए जाने जाने वाले शिवा थापा ने अनिकेत जे पांडे पर 5-0 से सर्वसम्मति से जीत दर्ज की। गुजरात के मुक्केबाज का पांच बार के एशियाई चैंपियनशिप पदक विजेता थापा से कोई मुकाबला नहीं था, जिन्होंने अपने अनुभव का फायदा उठाते हुए आसानी से मुकाबला जीत लिया।

विश्व युवा चैंपियन सचिन सिवाच (हरियाणा) ने भी 57 किग्रा में बेहतरीन परफॉर्मेंस देते हुए अंतिम आठ में प्रवेश किया। इसी तरह, एशियाई चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता स्वीटी बूरा (हरियाणा) ने महिलाओं की 75 किग्रा वर्ग में अपनी विजयी शुरुआत की।

वापस राजकोट लौटें तो गोताखोर बनीं 24 वर्षीय जिम्नास्ट से मेधाली रेडकर ने 1एम स्प्रिंगबोर्ड डाइविंग प्रतियोगिता में अपना दबदबा बनाकर राष्ट्रीय खेलों को यादगार बना दिया। अनुभवी महाराष्ट्र टीम की साथी ऋतिका श्रीराम को वह लय नहीं मिल पाई जो वो चाहती थी और उन्हें कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा। वहीं, मेधाली पोडियम के शीर्ष पर पहुंच गई।

मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में एक लंबे दिन के बाद, महिला हॉकी टूर्नामेंट के मुकाबले खेले गए। मध्य प्रदेश ने ओडिशा को 4-2 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया, जहां अब उसका सामना हरियाणा के साथ होगा। हरियाणा ने एक अन्य क्वार्टर फाइनल मुकाबले में कर्नाटक के खिलाफ आधा दर्जन गोल किए। उत्तर प्रदेश को 6-1 से हराने वाली झारखंड की टीम एक अन्य सेमीफाइनल में पंजाब से भिड़ेगी।

परिणाम (फाइनल):

एक्वेटिक्स

गोताखोरी

महिला 1 मी स्प्रिंगबोर्ड: 1. मेधाली रेडकर (महाराष्ट्र) 171.50 अंक; 2. आशना चेवली (गुजरात) 148.30; 3. हृतिका श्रीराम (महाराष्ट्र) 145.15.

तैराकी

पुरुष:

400 मीटर फ्रीस्टाइल: 1. साजन प्रकाश (केरल) 3:58.11; 2. अद्वैत पृष्ठ (मध्य प्रदेश) 3:58.35; 3. अनीश एस गौड़ा (कर्नाटक) 3:38.85।

50 मीटर बैकस्ट्रोक: 1. श्रीहरि नटराज (कर्नाटक) 26.65 सेकंड (नया राष्ट्रीय खेल रिकॉर्ड, पुराना: 25.88, श्रीहरि नटराज, राजकोट, 2022); 2. वी विनायक (सेवाएं) 26.72; 3. एस शिव (कर्नाटक) 27.11.

200 मीटर व्यक्तिगत मेडले: 1. साजन प्रकाश (केरल) 2: 05.81 (नया राष्ट्रीय खेलों का रिकॉर्ड, पुराना: 2: 08.98, पीएस मधु, तिरुवनंतपुरम, 2015); 2. एस शिव (कर्नाटक) 2:07.47; 3. रोहित बेनेडिक्टन (तमिलनाडु) 2:08.66।

महिला:

400 मीटर फ्रीस्टाइल: हाशिका रामचंद्र (कर्नाटक) 4:32.17 (नया राष्ट्रीय खेल रिकॉर्ड, पुराना: 4:32.50, आकांक्षा वोरा, तिरुवनंतपुरम, 2015); 2. भव्य सचदेवा (दिल्ली) 4:32.80; 3. वृत्ति अग्रवाल (तेलंगाना) 4:34.96।

50 मीटर बैकस्ट्रोक: 1. मान पटेल (गुजरात) 29.77 सेकंड (नया राष्ट्रीय खेल रिकॉर्ड, पुराना: 29.91, माना पटेल, राजकोट, 2022); 2. रिद्धिमा वीरेंद्र कुमार (कर्नाटक) 30.13; 3. सग्निका रॉय (पश्चिम बंगाल) 31.24.

200 मीटर व्यक्तिगत मेडले: 1. हाशिका रामचंद्र (कर्नाटक) 2:26.23; 2. मानवी वर्मा (कर्नाटक) 2:27.13; 3. श्रृंगी बांदेकर (गोवा) 2:28.64..

मिश्रित

4x100 मीटर फ्रीस्टाइल रिले: 1. कर्नाटक (संभव राव, नीना वेंकटेश, एस राजुला, श्रीहरि नटराज) 3:44.62; 2. महाराष्ट्र 3:47.81; 2. तमिलनाडु 3:50.74.

जूडो:

पुरुष:

60 किग्रा वर्ग: विजय कुमार यादव (उत्तर प्रदेश) ने हर्ष सिंह (दिल्ली) को हराया। कांस्य पदक: आशीष सांगवान (हरियाणा) और सचिन सिंह रावत (उत्तराखंड)।

66 किग्रा वर्ग: एनके रोमेन सिंह (सर्विसेज) ने आयुष मावरी (दिल्ली) को हराया। कांस्य पदक: मजगुल रोहित बशीरभाई (गुजरात) और के विशाल सिंह (मणिपुर)।

महिला:

63 किग्रा वर्ग: एच सुनी बाला देवी (मणिपुर) ने मेगा टोकस (दिल्ली) को हराया; कांस्य पदक: उन्नति शर्मा (उत्तराखंड) और पूका (हरियाणा)।

+78 किग्रा वर्ग: तुलिका मान (दिल्ली) ने कंवर प्रीत कौर (पंजाब) को हराया; कांस्य पदक: अपूर्व महेश पाटिल (महाराष्ट्र) और आरती शर्मा (हरियाणा)।

शूटिंग

पुरुष:

ट्रैप: 1. विवान कपूर (राजस्थान) 31; 2. जोरावर सिंह संधू (पंजाब) 26; 3. बलभद्र तराशिया (सेवाएं) 20.

महिला:

ट्रैप: 1. नीरू (मध्य प्रदेश) 26; 2. सबीरा हारिस (उत्तर प्रदेश) 24; 3. सीमा तोमर (सेवाएं) 17.

योगासन

पुरुष:

पारंपरिक: 1. वैभव वामन श्रीराम (महाराष्ट्र) 61.84 अंक; 2. शुभम देबनाथ (पश्चिम बंगाल) 61.49; 3. मोहम्मद फिरोज शेख (कर्नाटक) 61.33.

महिला:

पारंपरिक: 1. पूजा पटेल (गुजरात) 62.46 अंक; 2. चक्कुली बंसीलाल सेलोकर (महाराष्ट्र) 62.34; 3. निर्मला सुभाष कोडिलकर (कर्नाटक) 60.58.

अन्य परिणाम:

हॉकी

महिला (क्वार्टर फाइनल): मध्य प्रदेश ने ओडिशा को 4-2 (हाफ-टाइम 3-1) से हराया; हरियाणा ने कर्नाटक को 6-0 (3-0) से हराया; झारखंड ने उत्तर प्रदेश को 6-1 (3-0) से हराया; पंजाब ने गुजरात (15-0) को हराया।

फ़ुटबॉल

पुरुष:

ग्रुप ए: पश्चिम बंगाल ने कर्नाटक को 3-1 से हराया (हाफ-टाइम: 0-0); गुजरात ने पंजाब को 3-2 (हाफ टाइम 2-1) से हराया।

गोल्फ (लीडींग स्कोर)

पुरुष (दो राउंड के बाद): करणदीप कोचर (चंडीगढ़) और अभिनव लोहान (हरियाणा) 134; रोहन ढोले पाटिल (महाराष्ट्र) 141; अर्जुन भाटी (उत्तर प्रदेश) और सुनहित बिश्नोई (हरियाणा) 142; ईशान चव्हाण (महाराष्ट्र) और वरुण आशीष पारिख (गुजरात) 143; आर्यन रूप आनंद (कर्नाटक) 144.

महिला (दो राउंड के बाद): अमनदीप कौर (पंजाब) 141; निशान हेमेश पटेल (महाराष्ट्र) 142; अवनि प्रशांत (कर्नाटक) 145; गौरिका बिश्नोई (हरियाणा) 147; पुनीत कौर बाजवा (पंजाब), दुर्गा नित्तूर (कर्नाटक) और वाणी कपूर (दिल्ली) 149; कीर्तन राजीव (कर्नाटक) और खुशी कनिजय (राजस्थान) 150।

Next Story
Share it