Begin typing your search above and press return to search.

राष्ट्रीय खेल

National Games 2022: ऋतिका श्रीराम ने गोताखोरी में दूसरा स्वर्ण जीता, जील देसाई ने गुजरात के टैली में एक और स्वर्ण जोड़ा

ऋतिका श्रीराम का तीन दिनों में दूसरा स्वर्ण है, और राष्ट्रीय खेलों के चार संस्करणों में उनका 10वां ताज है

Diver Hrutika Shriram
X

ऋतिका श्रीराम

By

The Bridge Desk

Updated: 2022-10-05T20:08:18+05:30

दावेदार ऋतिका श्रीराम (महाराष्ट्र) ने बुधवार को यहां सरदार पटेल एक्वेटिक्स कॉम्प्लेक्स में महिलाओं की 10 मीटर प्लेटफॉर्म स्पर्धा जीतकर राष्ट्रीय खेल डाइविंग प्रतियोगिता में गोल्डन हैट्रिक दोहराने की राह पर खुद को बनाए रखा है।

यह तीन दिनों में उनका दूसरा स्वर्ण है, और राष्ट्रीय खेलों के चार संस्करणों में उनका 10वां ताज है।

मुंबई में रहने वाली रेलवे की गोताखोर, जो सोलापुर की रहने वाली है, अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर नहीं थी, लेकिन उसने खिताब हासिल करने के लिए अधिकतम 179.30 अंक हासिल किए। पलक शर्मा (मध्य प्रदेश) ने 175.10 अंकों के साथ रजत और ईशा वाघमारे (महाराष्ट्र) ने 172.35 अंकों के साथ कांस्य पदक जीता। तीनों ने 48 घंटे पहले 3M स्प्रिंगबोर्ड प्रतियोगिता में इसी क्रम में समाप्त किया था।

उन्होंने यहां दूसरा स्वर्ण जीतने में सर्विसेज के पुरुष गोताखोर सिद्धार्थ परदेशी का अनुकरण करने के बाद कहा, "मैं आज अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर नहीं थी और मैंने एक-दो गोता में गलतियां कीं। मैं स्पर्धा के शुरू होने से पहले थोड़ा नर्वस महसूस कर रही थी और मैंने सोचा कि मुझे सिल्वर पर समझौता करना पड़ेगा। लेकिन मुझे खुशी है कि मैं इसके बावजूद स्वर्ण पदक जीतने में सफल रही।"

इस बीच, अहमदाबाद में रिवरफ्रंट स्पोर्ट्स डेवलपमेंट कॉम्प्लेक्स में गुजरात की टेनिस खिलाड़ी जील देसाई ने अनुभवी अंकिता रैना की अनुपस्थिति का फायदा उठाते हुए अपने राज्य को महिला एकल स्वर्ण बरकरार रखने में मदद की। तीसरी वरीयता प्राप्त ज़ील कर्नाटक की शर्मदा बालू के खिलाफ 6-2, 3-2 से आगे चल रही थी, जब शर्मादा के टखने की चोट के कारण मैच हार गईं।

जील का दबदबा साफ दिखाई दिया, जब उन्होंने अपने शानदार ग्राउंड स्ट्रोक की बदौलत शुरुआती सेट आसानी से जीत लिया। शर्मादा बालू ने दूसरे सेट के पहले दो गेम जीतकर उन्हें दबाव में लाने में कामयाबी हासिल की, लेकिन स्थानीय खिलाड़ी ने तीसरे सेट में जल्दी ही ब्रेक हासिल कर लिया।

जील देसाई

शर्मादा ओवरहेड शॉट के लिए जाते समय अपने टखने को मुड़वा बैठीं, लिहाजा उन्हें मेडिकल टाइमआउट लेना पड़ा और उसके बाद उन्होंने मैच जारी रखने की कोशिश की। लेकिन उनकी मूवमेंट्स में बाधा आने के कारण, उन्होंने अगले गेम में मैच को छोड़ने का फैसला किया।

जील देसाई ने कहा, "मैं आज स्वर्ण जीतकर बेहद खुश हूं। घरेलू मैदान पर इतने जबर्दस्त समर्थन के साथ खेलना विशेष था।" उन्होंने कहा, "मैं अहमदाबाद की गर्मी का आदी हूं और इससे मुझे उनमें से कुछ के खिलाफ खेलने में मदद मिली।"

जील ने उन सभी आयोजकों की भी प्रशंसा की, जिन्होंने केवल तीन महीनों में राष्ट्रीय खेलों के आयोजन को संभव बनाया। उन्होंने कहा, "मैं कई अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में गई हूं और मैं कह सकती हूं कि यहां सुविधाएं सबसे ज्यादा हैं। यह काबिले तारीफ है कि राज्य सरकार ने महज तीन महीने में ये सारी व्यवस्थाएं कर लीं।"

तमिलनाडु के मनीष सुरेश कुमार को भी विपक्षी खिलाड़ी की शारीरिक परेशानी और पसली में दर्द से फायदा हुआ। महाराष्ट्र के अर्जुन काधे ने शुरुआती सेट में जीत लिया था। दूसरे सेट में अर्जुन को पसली में दर्द हुआ और उन्हें मेडिकल टाइम-आउट लेने पड़ा। उसके बाद वह उसी लय को कायम नहीं रख सके और मनीष सुरेश कुमार ने मौके का फायदा उठाते हुए 2-6, 6-1, 6-3 से जीत दर्ज की।

वापस राजकोट में, आज दो नेशनल गेम्स रिकॉर्ड टूटे क्योंकि भारतीय तैराकी में सबसे बड़े नाम तरणताल में फिर से लहरों पर सवार होकर सबसे आगे निकल गए। पहले दिन महिलाओं की 100 मीटर बटरफ्लाई में रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीत चुकीं असम की आस्था चौधरी ने 200 मीटर बटरफ्लाई की हीट में 2:21.52 का समय निकाल करके ऋचा मिश्रा के 2:21.66 के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया।

पंजाब की चाहत अरोड़ा ने भी एवी जयवीना (तमिलनाडु) द्वारा कायम किए गए 34.43 सेकेंड के पुराने रिकॉर्ड को पीछे छोड़ते हुए महिलाओं की 50 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक में 33.17 सेकेंड लेकर नया कीर्तिमान बनाया। चाहत ने दूसरे दिन 200 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक में रजत पदक जीता था।

परिणाम (फाइनल्स):

गोताखोरी

महिला 10 मीटर प्लेटफार्म: 1. हृतिका श्रीराम (महाराष्ट्र) 179.30 अंक; 2. पलक शर्मा (मध्य प्रदेश) 175.10; 3. ईशा वाघमोड़े (महाराष्ट्र) 172.35.

टेनिस

पुरुष एकल: मनीष सुरेश कुमार (तमिलनाडु) ने अर्जुन काधे (महाराष्ट्र) को 2-6, 6-1, 6-3 से हराया। कांस्य पदक: एसडी प्रज्वल देव (कर्नाटक) और जी मनीष (कर्नाटक)।

महिला एकल: जील देसाई (गुजरात) ने शर्मादा बालू (कर्नाटक) को 6-2 से हराया, कांस्य पदक: युब्रानी बनर्जी (पश्चिम बंगाल) और रुतुजा भोसले (महाराष्ट्र)।

अन्य परिणाम:

तीरंदाजी (कम्पाउंड)

पुरुष

व्यक्तिगत: कांस्य पदक प्ले-ऑफ: गुरविंदर सिंह (पंजाब) ने उमेश सिंह (उत्तराखंड) को 141-140 से हराया।

टीम: महाराष्ट्र ने उत्तराखंड को 230-220 से हराया।

महिला

व्यक्तिगतः साक्षी चौधरी (उत्तर प्रदेश) ने परनीत कौर (पंजाब) को 143-140 से हराया।

टीम: कांस्य पदक प्लेऑफ: पंजाब ने दिल्ली को 224-221 से हराया।

मिश्रित टीम: कांस्य पदक प्ले-ऑफ़: उत्तर प्रदेश ने आंध्र प्रदेश को 152-151 से हराया।

बैडमिंटन

पुरुष एकल (सेमीफाइनल): बी. साई प्रणीत (तेलंगाना) ने एम. रघु (कर्नाटक) को 21-12, 21-19 से हराया; एम. मिथुन (कर्नाटक) ने आर्यमन टंडन (गुजरात) को 21-9, 11-21 से हराया।

महिला एकल (सेमीफाइनल): मालविका बंसोड़ (महाराष्ट्र) ने अदिति भट्ट (उत्तराखंड) को 21-10, 19-21, 21-13 से हराया; आकर्षी कश्यप (छग) ने तान्या हेमंत (कर्नाटक) को 21-9, 21-15 से हराया।

मालविका बंसोड़

महिला युगल (सेमीफाइनल): सिक्की रेड्डी और गायत्री गोपीचंद पुलेला (तेलंगाना) ने काव्या गुप्ता और ख़ुशी गुप्ता (दिल्ली) को 21-16, 21-17 से हराया; शिखा गौतम और अश्विनी भट (कर्नाटक) ने महरीन रिजा और आरती सारा सुनील (केरल) को 23-21, 21-11 से हराया।

पुरुष युगल (सेमीफाइनल): पीएस रविकृष्ण और शंकर प्रसाद अजय कुमार (केरल) ने एचवी नितिन और वैभव (कर्नाटक) को 21-17, 21-14 से हराया; हरिहरन अम्सकरुनन और रुबन कुमार (तमिलनाडु) ने श्याम प्रसाद और एस सुंजीत (केरल) को 21-19, 21-16 से हराया

मिक्स्ड डबल्स (सेमीफाइनल): साई प्रतीक और अश्विनी पोनप्पा (कर्नाटक) ने हरिहरन अम्सकरुनन और वी.आर. नरधना (तमिलनाडु) को 23-21, 13-21, 21-19 से हराया; रोहन कपूर और कनिका कंवल (दिल्ली) ने एस सुंजीत और टीआर गौरी कृष्णा (केरल) को 24-22, 21-18 से हराया।

बास्केटबॉल (5x5)

पुरुष सेमीफाइनल: तमिलनाडु ने सर्विसेज को 90-47 से हराया (हाफ-टाइम: 46-15)।

तमिलनाडु बनाम सर्विसेज

महिला सेमीफाइनल: तमिलनाडु ने मध्य प्रदेश को 82-30 (42-15) से हराया।

Next Story
Share it