Begin typing your search above and press return to search.

राष्ट्रीय खेल

National Games 2022: उज्जवल भविष्य की ओर अग्रसर है गुजरात फुटबॉल

टीम गुजरात ने राष्ट्रीय खेलों के पूल-बी लीग मैच में पंजाब को 3-2 से हराकर भविष्य की कुछ झलकियां पेश कीं

National Games 2022: उज्जवल भविष्य की ओर अग्रसर है गुजरात फुटबॉल
X

गुजरात बनाम पश्चिम बंगाल फुटबॉल 

By

The Bridge Desk

Updated: 2022-10-10T14:31:48+05:30

गुजरात ने पिछले पांच-दस वर्षों में फुटबॉल के क्षेत्र में जबरदस्त प्रगति की है। इसका श्रेय विभिन्न विकास गतिविधियों को दिया जा सकता है, जिनका लक्ष्य आने वाले समय में राज्य में फुटबॉल को शीर्ष स्तर की बराबरी तक ले जाना है।

टीम गुजरात ने यहां 36वें राष्ट्रीय खेलों के पूल-बी लीग मैच में पंजाब को 3-2 से हराकर भविष्य की कुछ झलकियां पेश कीं। पिछले साल भी, इस टीम ने बड़े मंच पर अपने आगमन का संकेत देते हुए संतोष ट्रॉफी के लिए क्वालीफायर में शक्तिशाली गोवा को हरा दिया था।

गुजरात फुटबॉल एसोसिएशन के मानद महासचिव मूलराज सिंह चुडासमा, जो राष्ट्रीय खेलों के लिए फुटबॉल प्रतियोगिता प्रबंधक भी हैं, ने मैदान पर और उसके बाहर गुजरात फुटबॉल की प्रगति के बारे में विस्तार से बात करते हुए खुलासा किया कि राज्य में पुरुषों, महिलाओं, जूनियर्स और सब जूनियर्स के लिए लीग आयोजित की जाती हैं (होम एंड अवे बेसिस पर) ।

अंडर-17 खेलो इंडिया पहल के हिस्से के रूप में, एसोसिएशन चार शहरों (राजकोट, अहमदाबाद, वडोदरा और भावनगर) में सिटी लीग भी शुरू करेगा।

हाल ही में एआईएफएफ की जमीनी स्तर की विकास समिति के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त चुडासमा ने पुष्टि की कि वह अखिल भारतीय आधार पर स्कूलों के लिए फुटबॉल परियोजना- बेबी लीग और ई-सर्टिफिकेट कोचिंग पाठ्यक्रम को राज्य के सभी भागों को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध है। फीफा अपने फुटबॉल फार स्कूल्स परियोजना के लिए पूरे भारत में 10,000 स्कूलों में वितरित करने के लिए दस लाख फुटबॉल दान करेगा। इस सिलसिले में गेंदों की पहली खेप ओडिशा को दी जा चुकी है।

चुडासमा ने खुलासा किया कि गुजरात ने पिछले कुछ वर्षों में इन एआईएफएफ-अनुशंसित कार्यक्रमों को ईमानदारी से लागू किया है। उन्होंने कहा कि वास्तव में, हमने अपने (ई-सर्टिफिकेट) कोचों के पूल में लगभग 100 कोच जोड़े हैं और अगले साल इस आंकड़े को दोगुना करने की योजना है।

बेबी लीग को भी सभी जिलों में आयोजित करना अनिवार्य कर दिया गया है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा, "हमने सख्त फैसला लिया है कि बेबी लीग का संचालन नहीं करने वाले जिला संघों को स्थायी दर्जा नहीं मिलेगा।"

चुडासमा ने ट्रांसस्टेडिया, शाहीबाग पुलिस ग्राउंड आदि में शीर्ष गुणवत्ता वाले "फीफा-स्तरीय" मैदानों की ओर भी ध्यान आकर्षित किया, जिन्हें तब तैयार किया गया था जब अहमदाबाद ने फीफा अंडर-17 विश्व कप मैचों की मेजबानी के लिए बोली लगाई थी। उन्हें राष्ट्रीय खेलों के फिक्स्चर और टीम अभ्यास सत्र की मेजबानी के लिए अच्छे से उपयोग में लाया गया था।

गुजरात के और भी रेफरी भी राष्ट्रीय मंच पर जगह बना रहे हैं। यदि यह सही ट्रैक पर आगे बढ़ता है, तो गुजरात एक दिन उच्च गुणवत्ता वाले फुटबॉल रेफरी तैयार करने के लिए अच्छी जगह बन सकता है, जैसे कि पश्चिम बंगाल, गोवा, केरल, मणिपुर, मिजोरम, आदि विकसित राज्य शीर्ष खिलाड़ियों को पैदा करने के लिए जाने जाते हैं।

गुजरात की विशलिंग क्रांति की अगुवाई में अहमदाबाद के पूर्व फीफा सहायक रेफरी दिनेश नायर जैसे पूर्व रेफरी और अधिकारियों का एक समर्पित समूह है, जो अब पुरुषों की प्रतियोगिता के लिए एआईएफएफ रेफरी एक्सेसर हैं।

जब भारत में लॉकडाउन लगा था तब कई विकासात्मक गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए एक इनोवेटिव ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स को लागू किया गया था। इनमें से आठ रेफरियों, जिनमें दो महिलाएं शामिल हैं, ने राष्ट्रीय स्तर कट हासिल किया था।

उनमें से एक राजकोट के (डॉ) विलियम्स जॉय कोशी ने कल रात पश्चिम बंगाल और सर्विसेज के बीच पुरुषों के सेमीफाइनल को बतौर रेफरी संभाला। अगले साल उनकी राष्ट्रीय स्तर की परीक्षाओं में लगभग 4-5 और रेफरी शामिल होंगे।

इसके अलावा, जो साल 2015 में शुरू किए गए प्रोजेक्ट फ्यूचर इंडिया प्रोग्राम का हिस्सा हैं, वे भी आने वाले समय में रेफरी बनकर सामने आएंगे। यह प्रोग्राम होनहार फुटबॉल रेफरियों को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपग्रेड करने के लिए शुरू किया गया था।

नायर ने राज्य के प्रमुख रेफरियो के बारे में कहा, "उनमें से कुछ उज्ज्वल संभावनाएं हैं और यदि वे राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो वे निश्चित रूप से अगले (फीफा) स्तर तक आगे बढ़ सकते हैं।"

नायर, लियोनेल मेसी के नेतृत्व वाली अर्जेंटीना टीम और वेनेजुएला के बीच 2011 में कोलकाता में हुए एक दोस्ताना मैच के दौरान रेफरी की भूमिका निभाई थी।

Next Story
Share it