Begin typing your search above and press return to search.

मैराथन

रेगासा, चेप्टाई ने पहली बार जीता वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन का ताज

अविनाश साबले ने कार्तिक कुमार के साथ फोटो फिनिश के बाद भारतीय इलीट खिताब की रक्षा की

Ethiopia’s Chala Regasa and Kenya’s Irine Cheptai
X

 इथियोपिया के चाला रेगासा और केन्या की इरिन चेप्टाई

By

The Bridge Desk

Updated: 2022-10-16T15:06:42+05:30

इथियोपिया के चाला रेगासा और केन्या की इरिन चेप्टाई ने रविवार को राष्ट्रीय राजधानी में आयोजित वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन 2022 का पुरुष एवं महिला वर्ग का खिताब जीत लिया। रेगासा ने इस विश्व एथलेटिक्स इलीट लेबल रेस में शीर्ष सम्मान के लिए जहां 60:30 मिनट का समय निकाला वहीं चेप्टाई ने यह रेस 66.42 मिनट में जीती।

इस बीच, गत चैंपियन अविनाश साबले और कार्तिक कुमार के बीच भारतीय इलीट पुरुष वर्ग में एक अविश्वसनीय फोटो फिनिश हुआ, जिसका दर्शकों से तालियों के साथ जबरदस्त स्वागत किया। दोनों ने रेस 64 मिनट में पूरा किया लेकिन एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के तकनीकी अधिकारियों ने फुटेज का निरीक्षण करने के बाद साबले को विजेता घोषित किया।

अविनाश साबले और कार्तिक कुमार

भारतीय महिला इलीट वर्ग में कोई आश्चर्यजनक परिणाम सामने नहीं आया। संजीवनी जाधव ने पिछले दो पोडियम फिनिश के बाद एक बार फिर दुनिया के इस प्रमुख हाफ मैराथन का ताज हासिल किया।

25 वर्षीय रेगासा को हालांकि राजधानी दिल्ली में आयोजित इस रेस के दौरान अंतिम किलोमीटर में तीन अन्य धावकों के साथ वर्चस्व की जंग लड़नी पड़ी। उनके साथ इस जंग में केन्या के फेलिक्स किपकोएच और साथी इथियोपियाई बोकी डिरिबा शामिल थे लेकिन रेगासा ने इन दोनों से लगभग 400 मीटर आगे रहते हुए 27,000 अमेरिकी डालर का प्रथम पुरस्कार अपने नाम किया।

किपकोएच 60:33 मिनट के साथ दूसरे स्थान पर रहे, जबकि डेब्यूटेंट इथियोपिया के डिरिबा जो कि यू20 5000 मीटर चैंपियन हैं औऱ अभी सिर्फ 18 साल के हैं, ने 60:34 मिनट के साथ तीसरा स्थान हासिल किया। इन तीनों ने 57:31 में 20 किमी की दूरी तय की और लगभग साथ-साथ जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में बने फिनिश लाइन तक पहुंचे।

रेस क बाद रेगासा ने कहा, "अंतिम दो किलोमीटर कठिन थे, लेकिन मुझे पता था कि मेरे पास आगे जाने के लिए जरूरी पेस है क्योंकि ट्रैक पर कम दूरी पर मेरा प्रदर्शन अच्छा रहा है।"

इसके विपरीत, अंतर्राष्ट्रीय महिला रेस में आधे रास्ते के बाद सिर्फ एक महिला का वर्चस्व था। चेप्टाई ने 12 किलोमीटर के बाद एक निर्णायक कदम उठाया और फिर कोई उनके आसपास भी नहीं आ सका। इस तरह चेप्टाई ने अपने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ समय में एक सेकेंड के अंतर से सुधार किया। चेप्टाई ने यह रेस 66:42 मिनट में अपने नाम की।

चेप्टाई के लिए यह खास पर था क्योंकि वह पिछली बार चौथे स्थान पर रही थीं। इस बार वह खिताब जीतने के लिए इतनी बेताब थीं कि उन्होंने 2022 विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 5000 मीटर का कांस्य पदक जीतने वाली इथियोपिया की दावित सेयुम से एक मिनट कम समय में रेस पूरी की। सेयुम 68:02 मिनट के साथ दूसरे स्थान पर आईं। स्टेला चेसांग ने युगांडाई रिकार्ड के साथ 68:11 मिनट में तीसरा स्थान लिया।

दूसरी ओर, साबले जिन्होंने 2020 में 61 मिनट से कम समय में रेस पूरी की थी और इस साल इसे बेहतर करते हुए खिताब बचाने के लक्ष्य के साथ दौड़ रहे थे, ने कहा कि इस साल उनकी योजना थोड़ी अलग थी। साबले 61 मिन से कम में रेस पूरी करने वाले पहले भारतीय बने थे।

2022 राष्ट्रमंडल खेलों में 3,000 मीटर स्टीपलचेज स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाले साबले ने कहा, "कुल मिलाकर यह एक अच्छी रेस थी। हमने अच्छी शुरुआत की और पहले 7-8 किलोमीटर तक इलीट ग्रुप के साथ बने रहे थे। उनकी गति इतनी तेज नहीं थी और मेरी योजना कार्तिक के साथ बने रहने की थी, जिन्होंने पूरी रेस के दौरान मेरे साथ गति बनाए रखी।"

साबले ने आगे कहा, "चूंकि मेरी प्रैक्टिस भी इस साल हाफ मैराथन के अनुरूप नहीं थी, लिहाजा मेरा ध्यान बेहतर समय निकालने से अधिक खिताब बचाने पर था। 2020 में, मैंने इस हाफ मैराथन के लिए अच्छी तरह से तैयारी की थी और इसी कारण मैं रिकॉर्ड के लिए जाना चाहता था।"

दूसरा स्थान हासिल पर कार्तिक काफी उत्साहित दिखे। कार्तिक ने स्वीकार किया, "मेरी कोई योजना नहीं थी। मुझे बस अविनाश के साथ दौड़ना था।"

दूसरी ओर, एक नियमित मैराथनर श्रीनु बुगाथा 01:05:25 मिनट के साथ तीसरे स्थान पर रहे। साबले और कार्तिक के जल्दी अलग हो जाने के बाद वह मान सिंह (01:05:43) के साथ एक चुनौती में थे। बुगाथा ने कहा, "साबले और कार्तिक शुरुआत में ही अलग हो गए थेस लिहाजा मुझे अपनी गति बनाए रखने पर काम करना पड़ा।"

महिला इलीट वर्ग में संजीवनी ने अन्य भारतीयों से काफी अधिक दूरी बना रखी थी। मोनिका अठारे और प्रीति लांबा उन्हें चुनौती देते हुए नहीं दिख रही थीं। मोनिका दूसरे और प्रीति तीसरे स्थान पर रहीं। संजीवनी ने 01:17:53 मिनट समय निकाला जबकि मोनिका ने 01:18:39 और प्रीति ने 01:19:06 मिनय समय लिया।

रेस के बाद संजीवनी ने कहा, "शुरुआती 2-3 किलोमीटर के तुरंत बाद, मैं आगे बढ़ गई और मुझे अपनी खुद की रेस को पेस देना पड़ा। अगर मेरे पास एक पेसर होता तो मैं और तेजी से आगे बढ़ सकती थी लेकिन मैं इस समय के साथ पहले स्थान पर रहकर खुश हूं।"

अंतिम परिणाम:

अंतर्राष्ट्रीय पुरुष: (समय मिनट में)

1. चाला रेगासा (इथियोपिया) 60:3

2. फेलिक्स किपकोएच (केन्या) 60:33

3. बोकी डिरिबा (इथियोपिया) 60:3

4. जोसुआ बेलेट (केन्या) 60:43

5. गेमेचु डिडा (इथियोपिया) 60:5

6. मोजेज कोएच (केन्या) 60:56

7. माइकल कामाऊ (केन्या) 61:02

8. मुक्तर एड्रिस (इथियोपिया) 61:05

9. बायलाइन टेशगर (इथियोपिया) 61:18

10. सुलैमान बेरिहू (इथियोपिया) 61:5

अंतर्राष्ट्रीय महिला: (समय मिनट में)

1. इरिन चेप्टाई (केन्या) 66:4

2. डेविट सेयूम (इथियोपिया) 68:0

3. स्टेला चेसांग (यूगांडा) 68:11

4. अमीनत अहमद (इथियोपिया) 68:3

5. लेलेम हैलू (इथियोपिया) 68:5

6: मेसेरेट गेब्रे (इथियोपिया) 69:13

7. फंताये बेलानेह (इथियोपिया) 69:1

8. एंचिनालु डेसी (इथियोपिया) 69:53

9. फेथ चेपकोएच (केन्या) 70:34

10. डेनियल रेडिट (इथियोपिया) 71:4

भारतीय पुरुष: (समय मिनट में)

1. अविनाश साबले 64:0

2. कार्तिक कुमार 64:00

3. श्रीनू बुगाथा 65:2

भारतीय महिलाएं: (समय मिनट में)

1. संजीवनी जाधव 77:53

2. मोनिका अठारे 78:3

3. प्रीति लांबा 79:06।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it