Begin typing your search above and press return to search.

मैराथन

वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन 2022 के लिए किए गए पुख्ता इंतजाम

भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ रविवार को इस प्रीमियर रेस को झंडी दिखाकर रवाना करेंगे

Delhi Half Marathon
X

 दिल्ली हाफ मैराथन

By

The Bridge Desk

Updated: 2022-10-12T20:48:10+05:30

वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन के प्रमोटर- प्रोकैम इंटरनेशनल ने 16 अक्टूबर को होने वाले रेस के 17वें संस्करण के लिए बुधवार को जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में एक प्रेस सम्मेलन कर चिकित्सा सुविधाओं और रेस कोर्स सहित इस रेस में हिस्सा लेने वालों के लिए की गई व्यवस्था के बारे में विस्तार से बताया।

इस प्रेस कांफ्रेंस में ह्यूज जोन्स ( महासचिव, एआईएमएस और रेस डायरेक्टर), अलाप पटेल (पुलिस उपायुक्त-यातायात, नई दिल्ली रेंज), चंदन चौधरी ( पुलिस उपायुक्त-दक्षिण क्षेत्र, नई दिल्ली), डॉ सोनिया लाल गुप्ता ( निदेशक, मेट्रो ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स और सह-चिकित्सा निदेशक और वेदांत दिल्ली हाफ मैराथन के लिए मुख्य न्यूरोलॉजिस्ट), डॉ समीर गुप्ता (वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ और निदेशक, मेट्रो ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स और सह-चिकित्सा निदेशक और वेदांत दिल्ली हाफ मैराथन के लिए मुख्य हृदय रोग विशेषज्ञ) और विवेक सिंह, संयुक्त प्रबंध निदेशक, प्रोकैम इंटरनेशनल शामिल हुए।

रेस डायरेक्टर निदेशक ह्यूग जोन्स ने कहा, "विश्व स्तर पर इसे लेकर बड़ी उम्मीदें हैं... लोग इस अंतरराष्ट्रीय रेस के वापस आने पर उत्साहित हैं। जब तक आपने इसे महसूस नहीं किया तब तक आपको एहसास नहीं हुआ कि आप इसे मिस कर रहे थे। मुझे लगता है कि हम वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन के साथ दिल्ली में उस तरह की भावना को वापस लाने जा रहे हैं। यह एक नया कोर्स है लेकिन यह नेचर में समान है और यह निश्चित रूप से पिछले वाले जितना ही तेज होगा। मुझे लगता है कि हम अच्छे वक्त से गुजर रहे हैं क्योंकि हमारे पास हमेशा अच्छे एथलीट होते हैं।"

मेट्रो ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स के निदेशक डॉ समीर गुप्ता ने कहा, "हम वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन के मेडिकल पार्टनर बनने के लिए बहुत उत्साहित हैं। यह एक ऐसा इवेंट है, जैसा कोई और नहीं। इसमें भाग लेने के लिए दुनिया भर से धावक आते हैं। एक दिल्लीवाला होने के नाते, मैं आपको बता सकता हूं कि इसका हिस्सा बनना एक शानदार अनुभव है। हम धावकों की देखभाल के लिए 300 से अधिक चिकित्सा कर्मियों की एक टीम तैनात करेंगे।"

मेट्रो ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स की निदेशक, डॉ सोनिया लाल गुप्ता ने कहा, "जब #RangDeDilli को पिछले महीने लॉन्च किया गया था, तो दिल्ली में जोश वापस लेकर लाया। इस तरह के जोश की कोविड के बाद जरूरत थी। इसने दिल्ली में ऊर्जा वापस ला दी है। हम वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन का हिस्सा बनकर बहुत खुश और गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।"

नई दिल्ली रेंज के पुलिस उपायुक्त (यातायात) अलाप पटेल ने कहा, "मैं कई सहयोगियों और वरिष्ठ अधिकारियों को जानता हूं जो पुलिस कप श्रेणी में हिस्सा लेते हैं। हमें इवेंट के दौरान प्रोकैम इंटरनेशनल के साथ मिलकर काम करने में मजा आता है। मुझे उम्मीद है कि मौसम अच्छा रहेगा और धावक दौड़ के दौरान हाइड्रेटेड रहेंगे।"

प्रेस कांफ्रेंस में घोषणा की गई कि भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री जगदीप धनखड़ रविवार को इस प्रीमियर रेस को झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।

रेस डे की व्यवस्था

धावक इस इवेंट के सबसे बड़े हितधारक (स्टेकहोल्डर) हैं और प्रोकैम इंटरनेशनल सभी धावकों के लिए रेस के दिन को और अधिक यादगार बनाने वाली पहल जारी रखेगा। निम्नलिखित क्षेत्रों में इसे लेकर उपाय किए गए हैं - चिकित्सा सुविधाएं, प्रदूषण विरोधी उपाय, और 'जीरो टू लैंड फिल' 100% वेस्ट मैनेजमेंट इंवेंट।

मेडिकल पार्टनर-मेट्रो ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स द्वारा की गई व्यवस्था

• 40 बिस्तरों, ट्राइएज एरिया और डेडिकेटेड चिकित्सा पेशेवरों के साथ पूरी तरह सुसज्जित बेस कैंप

• फिनिश लाइन के निकट वरिष्ठ नागरिकों के लिए समर्पित चिकित्सा कर्मी

• वरिष्ठ नागरिकों को समर्पित 8 चिकित्सा सहायता केंद्र और 1 मिनी बेस कैंप

• होल्डिंग क्षेत्रों में 2 मेडिकल स्टेशन

• आपात स्थिति से निपटने के लिए सभी स्टेशनों पर प्रशिक्षित चिकित्सा कर्मी

• रास्ते में मोटरसाइकिलों पर छह एडवांस जीवन रक्षक एम्बुलेंस और सात सहायक चिकित्सक यह सुनिश्चित करने के लिए कि चिकित्सा सहायता हर समय उपलब्ध है।

• रेस के दिन 300 से अधिक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता मेडिकल स्टेशनों और आधार शिविरों में फैले रहेंगे। इनमें 50 से अधिक डॉक्टर, 100 से अधिक नर्स शामिल हैं। 50 से अधिक पैरामेडिक्स, 8 एसीएलएस एम्बुलेंस, 8 बाइक मेडिक्स और अन्य सहायक कर्मचारी भी इनमें शामिल हैं।

• अंतिम 2 किमी के दौरान प्रत्येक 100 मीटर पर स्पॉटर उन धावकों की पहचान करने के लिए जिन्हें मेडिकल अटैंशन की आवश्यकता है।

रेस कोर्स के आसपास के 8 अस्पतालों के साथ साझेदारी क गई है। ये अस्पताल हैं-बीएलके मैक्स - पूसा रोड, नई दिल्ली, रेलवे अस्पताल - सीपी आउटर सर्कल, मूल चंद- लाजपत नगर, गंगा राम - न्यू राजिंदर नगर, नयति अस्पताल - लाजपत नगर, लेडी हार्डिंग - गोल मार्केट, मेट्रो सेक्टर 11 नोएडा और मेट्रो आरएलकेसी, पांडव नगर।

कोर्स पर और स्टेडियम के आसपास अन्य सुविधाएं

भारत के सबसे भरोसेमंद पैकेज्ड पेयजल बिसलेरी, इवेंट के हाइड्रेशन पार्टनर होंगे और सभी प्रतिभागियों को पर्याप्त रूप से हाइड्रेटेड सुनिश्चित करने के लिए मार्ग के साथ 13 वाटर स्टेशन और दो मिस्ट जोन लगाएंगे। कुल 1,04,000 लीटर बिसलेरी पानी पिलाया जाना है।

भारत के सबसे पसंदीदा सक्रिय पोषण ब्रांड फास्ट एंड अप, इवेंट के एनर्जी ड्रिंक पार्टनर होंगे और रेसरों के परफार्मेंस को बढ़ावा देने में मदद करने के लिए मार्ग के साथ पांच स्टेशन लगाएंगे।

रन ग्रुप्स, स्वयंसेवक अपना पूरा समर्थन देंगे: कुल 155 रन स्वयंसेवक रेस के दिन शोर और ऊर्जा के स्तर को उठाएंगे, जबकि एक दर्जन रन समूह 13 सपोर्ट प्वाइंट्स का प्रबंधन करेंगे। स्टेडियम में सभी प्रतिभागियों के लिए नाश्ता परोसा जाएगा। इस आयोजन को सफल बनाने के लिए 2000 से अधिक स्वयंसेवकों काम पर होंगे।

परिवहन सेवा:

• शहर और एनसीआर के विभिन्न हिस्सों से संसद मार्ग तक धावकों को लाने के लिए स्पेशल बसे सेवा पर होंगी

• दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन को अपना समर्थन दिया है

• मैराथन और धावकों की सुविधा के लिए सुबह 4 बजे से चुनिंदा मेट्रो सेवाएं शुरू होंगी।

100% वेस्ट मैजनमेंट रेस

वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन को नई दिल्ली नगर परिषद (एनडीएमसी) का समर्थन प्राप्त है, जो यह सुनिश्चित करने के लिए अपनी विशेषज्ञता लगाएगी कि मार्ग पर सभी तरह के कचरे का कुशलतापूर्वक प्रबंधन किया जाए। 250 एनडीएमसी सफाई कर्मचारी कम पर होंगे।

प्रोकैम एक सामाजिक उद्यम- हसीरू डाला इनोवेशन के साथ भी मिलकर काम कर रहा है, जो विभिन्न पर्यावरण के अनुकूल विकल्पों की निगरानी करेगा और वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन में वेस्ट मैनेजमेंट सुनिश्चित करेगा।

इवेंट की हरित प्रतिबद्धताएं हैं:

1. जीरो वेस्ट टू लैंडफिल।

2. फास्ट ट्रैक लास्ट माइल वेस्ट डिस्पोजल।

3. कचरा प्रबंधन और बेहतर पर्यावरण प्रैक्टिसेज के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए एक मंच के रूप में रेस का उपयोग करें।

कागज का कम से कम उपयोग - सभी प्रवेश फॉर्म और ई-हैंडबुक ऑनलाइन हैं।

प्लास्टिक के उपयोग में कमी

• मिर्ची गेट एक्टिव एक्सपो में प्रतिभागियों को सौंपे गए रियूजेबल कपड़े के बैग,

बिना प्लास्टिक कवर के बिब दिए गए।

• इवेंट किटिंग के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले पेपर बैग, कपड़े के पाउच में मेडल और इवेंट के बाद

रियूजेबल कपड़े की थैलियों में जलपान।

स्वाभिमान द्वारा फ्लेक्स अपसाइक्लिंग

बेघरों के लिए आश्रय बनाने के लिए लगभग 200,000 वर्ग फुट फ्लेक्स का पुनर्चक्रण किया गया

एनजीओ स्वाभिमान द्वारा वेस्ट सेग्रीगेशन से फर्श मैट तैयार किया जाएगा।

प्लास्टिक और अन्य सामग्री को रीसायकल करें

• अवशिष्ट पीईटी बोतलों को प्रमाणित केंद्रों पर अलग, साफ, कुचल और पुनर्नवीनीकरण किया जाता है।

• पैकिंग सामग्री जैसे कार्डबोर्ड, कागज, टिन, लकड़ी, आदि को पुनर्चक्रण किया जाता है

• समान सामग्री का निर्माण, वर्जिन मटेरियल के उपयोग को कम करना।

जैव अपशिष्ट प्रबंधन

• गीले खाद्य अपशिष्ट का एक जैविक खाद केंद्र में खाद बनाया जाता है।

• अधिकृत मलजल शोधन संयंत्र में सीवेज अपशिष्ट का उपचार और पुनर्चक्रण किया जाता है।

लाइव टेलीकास्ट

वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन का सीधा प्रसारण सोनी टेन 1, सोनी टेन 1 एचडी और सोनी लिव द्वारा 16 अक्टूबर को सुबह 6:30 बजे से 10:30 बजे तक किया जाएगा।

स्वच्छ हवा के लिए किए गए सरल और प्रभावी तकनीकी उपाय-

वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन में पिछले कुछ वर्षों में की गई पहल हर लिहाज से प्रभावशाली साबित हुई हैं और इसी कारण इस वर्ष भी उनको जारी रखा जाएगा। इसके तहत पेटेंट पारिस्थितिक रूप से सुरक्षित तकनीक का उपयोग किया जाना है। इसमें मुख्य रूप से शुष्क जमाव के माध्यम से वायु प्रदूषकों की निकासी को उत्प्रेरित करने के लिए कम बिजली-स्पंदित वाईफाई तरंगों को कोर्स पर फेंका जाना है।

इसके लिए Devic Earth ने परिवेशी वायु प्रदूषण नियंत्रण तकनीक के अपने नवीनतम संस्करण को तैनात किया है। इसे हाफ मैराथन रूट पर प्राइम लोकेशन पर तैनात किया जाएगा और इसे प्योर स्काईज 2.0 कहा जाता है। Devic Earth का बिल्कुल नया प्योर स्काईज 2.0 परिवेशी वायु को तेज और अधिक कुशल तरीके से शुद्ध करेगा। इन वायु प्रदूषण नियंत्रण इकाइयों को प्रमुख स्थानों पर तैनात किया गया है। इनकी स्थापना मेजर ध्यानचंद स्टेडियम और जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम सहित प्रमुख स्थानों पर हैं किया गया है।

Next Story
Share it