Begin typing your search above and press return to search.

ताज़ा ख़बर

बंगाल की श्यामली सिंह ने कोलकाता मैराथन में जीता सिल्वर, ट्यूमर के इलाज के बाद की वापसी

बंगाल की श्यामली सिंह ने कोलकाता मैराथन में जीता सिल्वर, ट्यूमर के इलाज के बाद की वापसी
X
By

Ankit Pasbola

Published: 16 Dec 2019 7:40 AM GMT

कोलकाता में रविवार को आयोजित हुई टाटा स्टील कोलकाता मैराथन (TSK 25K) में श्यामली सिंह ने रजत पदक हासिल किया। वह 25 किमी की इस प्रतियोगिता में दूसरे स्थान पर रहीं। इस प्रतियोगिता का स्वर्ण किरणजीत कौर के नाम रहा। आपको बता दें श्यामली के लिए यह पदक इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकी उन्होंने हाल ही में ट्यूमर का इलाज करवाया है। गौरतलब है कि दो साल पहले मुंबई मैराथन में भी उन्होंने रजत पदक जीता था।

इससे पहले उन्होंने अपनी पति संतोष जो कि उनके सहायक कोच भी हैं उनकी मदद से साल 2017 में मुंबई मैराथन में भाग लिया और रजत पदक जीता था। उन्होंने यह प्रतियोगिता तीन घंटे आठ मिनट 41 सेकंड के समय के साथ पूरी की थी। इससे उन्हें पुरस्कार राशि के तौर पर चार लाख रुपये मिले जिसका उपयोग उन्होंने अपने इलाज के लिए किया। दो साल के बाद कैंसर पर जीत दर्ज कर उन्होंने दमदार वापसी की है और कोलकाता 25 हजार मीटर(25K) में महिला वर्ग में एक घंटा 39 मिनट और 2 सेकंड के साथ दूसरे स्थान पर रही।

श्यामली ने अपने चुनौतीपूर्ण दिनों को याद करते हुए कहा, "हमारी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। मेरे पति संतोष मेरे कोच भी है। हमें इलाज के लिए पैसे की जरूरत थी इसलिए हमने मिलकर संघर्ष करने का फैसला किया। मैंने मुंबई मैराथन में भाग लिया। मैं इस प्रतियोगिता में पोडियम फिनिश करना चाहती थी जिससे इलाज के लिए पैसे मिल सके।"

रविवार को हुई इस रेस में वह 17 किमी तक वह सबसे आगे भागती रहीं हालांकि, अंतिम 8 किमी में वह शीर्ष स्थान को बरकरार नहीं रख सकी। उन्होंने अपनी अगली योजना को लेकर कहा, "मुझे डॉक्टर से सलाह लेनी होगी लेकिन मैं पांच हजार, 10 हजार मीटर के साथ 25हजार मीटर , हॉफ और फुल मैराथन में दौड़ना जारी रखूंगी।" इस प्रतियोगिता से श्यामली को दो लाख रूपये की इनामी राशि मिली है जिसका उपयोग वह केन्या में एक महीने के अभ्यास के लिए करना चाहती हैं।

Next Story
Share it