Begin typing your search above and press return to search.

ताज़ा ख़बर

2012 ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता कार्मेलिटा जेटर होंगी दिल्ली में होने वाली ADHM 2019 की इंटरनेशनल इवेंट एम्बेसेडर

2012 ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता कार्मेलिटा जेटर होंगी दिल्ली में होने वाली ADHM 2019 की इंटरनेशनल इवेंट एम्बेसेडर
X
By

Syed Hussain

Published: 3 Oct 2019 10:43 AM GMT

धावकों को प्रेरित करने वाले दुनिया के बेहतरीन एथलीटों को भारत लाने के अपने मकसद के तहत प्रोकैम इंटरनेशनल ने गुरुवार को एअरटेल दिल्ली हाफ मैराथन (एडीएचएम)-2019 के 15वें संस्करण के लिए 20 अक्टूबर को नई दिल्ली में दुनिया की सबसे तेज़ जीवित महिला और 2012 के लंदन ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली कार्मेलिटा जेटर को भारत लाने की घोषणा की है।

EXCLUSIVE: 1500 रुपये जीतने से लेकर 'नवीन एक्सप्रेस' बनने की कहानी, ख़ुद नवीन की ज़ुबानी

जेटर के नाम 100 मीटर दौड़ में 10.64 सेकेंड्स का दूसरा सबसे तेज समय निकालने का रिकार्ड है। वह फ्लोरेंस ग्रीफिथ जोएनर के बाद दुनिया की सबसे तेज महिला धाविका हैं। ग्रिफिथ का 1998 में निधन हो गया था।

39 साल की जेटर ने 2009 में शंघाई गोल्डन ग्रां प्री में 100 मीटर रेस जीता था और दुनिया की सबसे तीव्रतम जीवित महिला बनी थीं। इसके अलावा जेटर ने लंदन ओलंपिक खेलों में 4 X 100 मीटर रिले में गोल्ड जीता था और फिर 100 मीटर इवेंट में रजत और 200 मीटर इवेंट में कांस्य पदक हासिल किया था।

2012 ओलंपिक चैंपियन रहे चुकी हैं कार्मेलिटा जेटर

जेटर एअरटेल दिल्ली हाफ मैराथन 2019 के रूप में भारत में रनिंग मूवमेंट को नया आयाम देने और हजारों एथलीटों को #GoBeyond के लिए प्रेरित करने वाले एअरटेल दिल्ली हाफ मैराथन से जुड़कर खासी रोमांचित हैं।

''इस प्रतिष्ठित हाफ मैराथन से इवेंट एम्बेसेडर के तौर पर जुड़ना मेरे लिए गर्व की बात है। रनिंग सबसे अच्छा एक्सरसाइज है क्योंकि यह शरीर और दिमाग की कार्यक्षमता को बढ़ाता है। यह देखना शानदार है कि फिट लाइफस्टाइल के लिए एमेच्योर धावक किस गम्भीरता और उत्साह के साथ दौड़ने के लिए बेताब हैं।मैं एडीएचएम के माध्यम से नया अनुभव पाने के लिए बेताब हूं। मैं धावकों को उनकी व्यक्तिगत सीमाओं के #गोबियांड जाते हुए देखने को उत्सुक हूं। आप सबको शुभकामनाएं और मैं आपसे 20 अक्टूबर को मिलूंगी।'': कार्मेलिटा जेटर, पूर्व ओलंपिक चैंपियन

ओलंपिक पदकों के अलावा जेटर ने वलर्ड चैम्पियनशिप में तीन स्वर्ण और वलर्ड एथलेटिक्स फाइनल में दो स्वर्ण जीते हैं। इस स्प्रिंटर ने इसके अलावा वलर्ड चैम्पियनशिप, वलर्ड इंडोर चैम्पियनशिप और वलर्ड रिले चैम्पियनशिप में एक-एक रजत भी जीता है। जेटर के नाम वलर्ड चैम्पियनशिप में तीन कांस्य पदक भी हैं।

जेटर को इवेंट एम्बेसेडर बनाए जाने के फैसले पर प्रोकैम इंटरनेशनल के संयुक्त प्रबंध निदेशक विवेक सिंह ने कहा, ''हर साल हमें इंटरनेशनल इवेंट एम्बेसेडर के तौर पर यहां लेजेंडरी एथलीट्स को लाने का मौका मिलता है। इस साल हमारे लिए बेहद खास है क्योंकि हम एडीएचएम का 15वां जन्मदिन मना रहे हैं और इस मौके को खास बनाने के लिए हमने दुनिया की तीव्रतम जीवित महिला को भारत से रूबरू कराने का फैसला किया है। कार्मेलिटा जेटर एक अचीवर हैं और साथ ही साथ वह करोड़ों धावकों के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं। हमें एडीएचएम 2019 के लिए उन्हें भारत लाने पर गर्व महसूस हो रहा है। हमें आशा है कि इस साल हजारों एथलीट जेटर से प्रेरणा हासिल करेंगे।''

अमेरिकी एथलीट जेटर पहले बास्केटबाल खिलाड़ी बनना चाहती थीं लेकिन उनके बास्केटबाल कोच ने सुझाव दिया कि वह ट्रैक इवेंट्स में अपनी किस्मत आजमाएं। जेटर ने जब 100 मीटर रेस 11.7 सेकेंड में पूरी की तब उन्होंने महसूस किया कि वह स्प्रिंटिंग के लिए एक नेचुरल टैलेंट हैं। जेटर ने 2007 में पहली बार वलर्ड चैम्पियनशिप के रूप में एक मेजर इवेंट में हिस्सा लेते हुए कांस्य पदक जीता था। एक शानदार करियर के बाद जेटर ने 2017 में ट्रैक एवं फील्ड इवेंट्स से संन्यास ले लिया था।

Next Story
Share it