Begin typing your search above and press return to search.

खो-खो

ओडिशा जगरनॉट्स ने जीता अल्टीमेट खो खो के पहले सीजन का खिताब

इनाम के तौर पर मिले 1 करोड़ रुपये और चमचमाती ट्रॉफी, उपविजेता तेलुगू योद्धाज को मिले 50 लाख जबकि तीसरे स्थान पर रहते हुए गुजरात जायंट्स ने 30 लाख रुपये हासिल किए

ओडिशा जगरनॉट्स ने जीता अल्टीमेट खो खो के पहले सीजन का खिताब
X
By

The Bridge Desk

Updated: 2022-09-04T22:14:31+05:30

ओडिशा जगरनॉट्स ने अल्टीमेट खो खो के पहले सीजन का खिताब जीत लिया है। ओडिशा की टीम ने महालुंगे स्थित श्री शिव छत्रपति स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में रविवार को खेले गए रोमांच से भरपूर फाइनल मुकाबले में तेलुगू योद्धाज को एक अंक के अंतर से हराया। इस महामुकाबले का फैसला अंतिम 10 सेकेंड में हुआ।

ओडिशा ने यह मैच 46-45 से जीता। मैच के रोमांच का यह आलम था कि अंतिम टर्न में जब 1,24 मिनट शेष थे तब स्कोर 45-43 से योद्धाज के पक्ष में था। प्रतीक वैकर, अवधूत पाटिल और दीपक माधव 1.10 मिनट निकालने में सफल रहे लेकिन सूरज लांडे के द्वारा स्काई डाइव पर पाटिल के आउट होते ही ओडिशा ने 3 अंक लिए और एक अंक से मैच जीत लिया। लांडे ने सबसे अधिक 9 अंक हासिल किए लेकिन अंतिम 3 अंक उनके जीवन के सबसे कीमती अंक साबित हुए।

दूसरी ओर, योद्धाज के लिए रोहन सिंघाड़े ने हरफनमौला खेल दिखाते हुए 11 अंक के अलावा अपनी टीम को 6 बोनस अंक भी दिलाया लेकिन वह उसे जीत नहीं दिला सके।

ओडिशा ने टास जीतकर डिफेंड करने का मन बनाया और इस टर्न की समाप्ति तक बोनस के तौर पर 10 अंक बटोरे। पहले बैच से निलेश जाधव (2.91 मिनट) और विशाल (4.23 मिनट) ने पहला टीम बोनस दिलाया औऱ फिर विशाल ने टीम को 6 और बोनस दिलाते हुए स्कोर 8-8 कर दिया। इसके बाद दिपेश मोरे और दिलीप कांधावी ने नाबाद रहते हुए दो और बोनस दिलाए। इस टर्न की समाप्ति तक स्कोर 10-10 रहा।

जवाब में ओडिशा ने पावरप्ले के साथ शुरुआत की लेकिन वह पहले बैच से प्रतीक वैकर (2.48 मिनट) को बोनस लेने से नहीं रोक सका। दूसरे बैच से अरुण गुनकी, आदर्श मोहिते (4.12 मिनट) और रोहन सिंघाड़े (3.34 मिनट) ने बोनस लिए। गुनकी (2.51 मिनट) की विदाई के बाद रोहन और आदर्श ने चार और बोनस दिलाए। फिर मोहिते ने दो और बोनस लिए। हाफ टाइम ओडिशा 23-20 से आगे था। इस हाफ में 20 बोनस अंक लिए गए।

तीसरे टर्न में योद्धाज ने अविनाश देसाई को आउट कर स्कोर 23-23 कर लिया और फिर मिलिंद चावरेकर को चलता कर लीड ले ली लेकिन सूरज लांडे (3.03 मिनट) ने बोनस लेकर उसे बराबरी पर ला दिया और फिर दो अन्य बोनस लेकर ओडिशा को 27-25 से आगे कर दिया। सूरज के आउट होते ही स्कोर फिर 27-27 हो गया। महेशा पी. को आउट कर योद्धाज ने फिर लीड ले ली, जिसे टर्न की समाप्ति तक उसने 41-27 कर दिया।

अंतिम टर्न में ओडिशा ने ध्रुव और अरुण एसए को आउट कर स्कोर 32-41 किया लेकिन प्रसाद राधे (2.52 मिनट) योद्धाज को बोनस दिलाने में सफल रहे। प्रसाद के आउट होने के बाद स्कोर 43-35 हो गया था। अब ओडिशा ने पावरप्ले लिया और स्कोर 40-43 कर दिया लेकिन वह सचिन भारगो (2.44 मिनट) को बोनस लेने से नहीं रो सकी। सचिन के आउट होते ही स्कोर 43-45 से योद्धाज के पक्ष में था और 1.24 मिनट का वक्त शेष था। योद्धाज ने पूरा दमखम लगाया और 1.14 मिनट निकाल दिए लांडे के स्काई डाइव पर पाटिल के आउट होते ही ओडिशा ने यह मैच 46-45 के अंतर से जीत लिया।

बॉलीवुड के लोकप्रिय गायक मोहित चौहान ने ब्लॉकबस्टर फाइनल की शुरुआत करने के लिए अपनी शैली में राष्ट्रगान गाया। लायंस क्रू, जिसने 2021 विश्व हिप हॉप डांस चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीता था, ने भी भारत की पहली फ्रैंचाइज़ी-आधारित खो-खो लीग का जश्न मनाते हुए शानदार प्रदर्शन किया।

चैंपियन टीम को 1 करोड़ रुपये की पुरस्कार राशि और प्रतिष्ठित ट्रॉफी से सम्मानित किया गया, जबकि दूसरे स्थान पर रहने वाली टीम 50 लाख रुपये घर ले गई। गुजरात जायंट्स ने तीसरे स्थान पर रहते हुए 30 लाख रुपये का पुरस्कार हासिल किया।

अल्टीमेट खो खो को अमित बर्मन ने खो खो फेडरेशन ऑफ इंडिया के सहयोग से प्रमोट किया।

छह टीमों-चेन्नई क्विक गन्स, गुजरात जायंट्स, मुंबई खिलाड़ीज, ओडिशा जगरनॉट्स, राजस्थान वॉरियर्स और तेलुगु योद्धाज ने 22 दिनों तक चली इस लीग में खिताब के लिए लड़ाई लड़ी।

अल्टीमेट खो खो के सीजन 1 का सोनी स्पोर्ट्स नेटवर्क पर पांच भाषाओं- अंग्रेजी, हिंदी, मराठी, तेलुगू और तमिल में सीधा प्रसारण किया गया। साथ ही SonyLIV पर लाइव स्ट्रीम किया गया।

नवीनतम वीडियो
Next Story
Share it