Begin typing your search above and press return to search.

खेलो इंडिया

मध्यप्रदेश करेगा पांचवे खेलों इंडिया यूथ गेम्स की मेजबानी, जानें पूरा ब्योरा

पांचवे खेलों इंडिया का अयोजन मध्य प्रदेश के आठ शहरों में होना तय हुआ हैं।

मध्यप्रदेश करेगा पांचवे खेलों इंडिया यूथ गेम्स की मेजबानी, जानें पूरा ब्योरा
X
By

Pratyaksha Asthana

Updated: 2022-10-20T15:35:08+05:30

केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने गुरुवार को पांचवे खेलों इंडिया यूथ गेम्स के तारीख की घोषणा की। पांचवे खेलों इंडिया का अयोजन मध्य प्रदेश के आठ शहरों में होना तय हुआ हैं। इस बार के टूर्नामेंट का आयोजन 31 जनवरी से 11 फरवरी 2023 के बीच होगा। खेलों की घोषणा करते हुए अनुराग ठाकुर ने खेलों की मशाल मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सौंपी ।

सभी खिलाड़ियों को का स्वागत करने के लिए तैयार मेजबान प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा, "अतिथि देवो भव की तर्ज पर खेलों इंडिया का आयोजन मध्यप्रदेश में इस तरह किया जायेगा कि दुनिया याद करेगी । मध्यप्रदेश में खेलों की दिशा में नयी क्रांति लेकर आयेंगे ये खेल।''

मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि इन खेलों का उद्घाटन प्रदेश की राजधानी भोपाल में होगा। जिसके बाद विभिन्न स्पर्धायें इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर, जबलपुर, खरगोन, महेश्वर समेत आठ शहरों में आयोजित की जायेंगी।

खेल के अलावा कला संस्कृति को लेकर उन्होंने कहा, "मध्यप्रदेश में खेलों के साथ जंगल की सैर , पर्यटन स्थलों और लोक कलाओं का आनंद भी सभी खिलाड़ी ले सकेंगे । खेलों के लिये हमने विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचा तैयार किया है और हमें दस हजार से अधिक प्रतिभागियों के आने की उम्मीद है।''

वहीं खेलमंत्री ठाकुर ने इन खेलों को भारत में खेल संस्कृति के विकास की दिशा में महत्वपूर्ण कदम बताते हुए कहा, ''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस आयोजन की शुरूआत करके खेलों के प्रति लोगों का उदासीन रवैया दूर करने की दिशा में बड़ा कदम उठाया है। पहले खेलों से अब तक प्रतिभागियों की संख्या और उत्साह में लगातार इजाफा हुआ है।''

गौरतलब है कि इस मौके पर मध्यप्रदेश से आये खिलाड़ियों ने प्रदेश के राज्य खेल मलखम्ब और ओलंपिक में हाल ही में शामिल किये गए ब्रेक डांस की भी प्रस्तुति दी।

अनुराग ठाकुर ने योग और मलखम्ब जैसे भारत के पारंपरिक खेलों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने का आहवान करते हुए कहा कि भारतीय ओलंपिक संघ को इस दिशा में अहम भूमिका निभानी होगी ।

Next Story
Share it