Begin typing your search above and press return to search.

खेलो इंडिया

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में जैन यूनिवर्सिटी ने मारी बाज़ी, प्रतियोगिता में श्रीधर ने जीते सर्वाधिक पदक

जैन यूनिवर्सिटी ने 20 स्वर्ण पदक जीतकर प्रतियोगिता प्रथम स्थान पर समाप्त की

Jain University KIUG
X

जैन यूनिवर्सिटी 

By

Amit Rajput

Updated: 2022-05-05T14:12:46+05:30

बेंगलुरु के जैन यूनिवर्सिटी में चल रहे खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स का समापन हुआ। गेम्स में देश भर के 209 विश्वविद्यालयों के लगभग 3900 पुरुष और महिला खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था। गेम्स में मेजबान जैन यूनिवर्सिटी ने सबसे ज्यादा पदक जीते। जैन यूनिवर्सिटी ने 20 स्वर्ण पदक जीतकर प्रतियोगिता प्रथम स्थान पर समाप्त। की जबकि जालंधर की लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी 17 स्वर्ण के साथ दूसरे और गत विजेता पंजाब यूनिवर्सिटी 15 स्वर्ण पदक के साथ तीसरे स्थान पर रही। गेम्स के दौरान कुल 97 गेम्स रिकॉर्ड बनाए गए या उन्हें बराबर किया गया, जबकि दो राष्ट्रीय कीर्तिमान भी बने। जैन यूनिवर्सिटी के तैराक शिवा श्रीधर ने सर्वाधिक सात स्वर्ण और दो रजत पदक जीते साथ ही उन्होंने 200 मीटर मेडले में राष्ट्रीय कीर्तिमान भी स्थापित किया।

कोटा यूनिवर्सिटी ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में पुरुषों में कबड्डी का खिताब जीता। उन्होंने फाइनल में चौधरी बंसीलाल यूनिवर्सिटी, भिवानी को 52-37 से हराया। जबकि डॉ. सीवी रमन यूनिवर्सिटी और जीएनडीयू को कांस्य मिला। महिलाओं के फाइनल में कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी ने एमडीयू रोहतक को 46-19 से हराया। हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी और सावित्री बाई फुले यूनिवर्सिटी, पुणे को कांस्य पदक मिला।

प्रतियोगिता के समापन समोराह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर भी मौजूद रहे। जिन्होंने आखिरी दिन खिलाड़ियों को कई पुरस्कारों से सम्मनित किया। केंद्रीय मंत्री ने समोराह में खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी की पहल पर शुरू किए गए फिट इंडिया, खेलो इंडिया और खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स के सुखद परिणाम देखने को मिल रहे हैं। 2014 के बाद ओलंपिक, एशियाई और पैरालंपिक आयोजन में देश के पदकों की संख्या बढ़ी है। 2047 में देश जब आजादी की सौवीं वर्षगांठ मनाएगा तब तक ओलंपिक की पदक तालिका में भारत एक से पांचवें स्थान तक होगा। आगे उन्होंने कहा कि इन खेलों के परिणाम जल्द देश के एक खेल राष्ट्र के रूप में देखने को मिलेंगे।

वही समरोह में शामिल हुए खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि पहले खेलो इंडिया यूथ गेम्स में स्वर्ण जीतने वाले तैराक श्रीहरि नटराज को को कौन जानता था, लेकिन वह बाद में देश के लिए टोक्यो ओलंपिक में खेले। इन खेलों का आयोजन विश्व यूनिवर्सिटी खेलों के समान हुआ है। इन खेलों से यहां स्वर्ण जीतने वाली भारोत्तोलक कोमल कोहड़, 200, ४०० मीटर का स्वर्ण जीतने वाली प्रिया मोहन, जूडो में स्वर्ण जीतने वाली किसान की बेटी प्रिया गुलिया जैसे खिलाड़ी निकले हैं। खेल मंत्री ने कहा कि इन खेलों में कबड्डी का स्वर्ण और रजत जीतने वाली टीमों के खिलाड़ी प्रो कबड्डी लीग की बोली में शामिल किए जाएंगे।

Next Story
Share it